कुछ दिनों की गर्भवती माँ

Question: हेलो द्रव मुझे लो लाइंग precenta h

4 Answers
सवाल
Answer: लौ लाइंग प्लेसेंटा घबराएं नहीं सब्र से काम ले सरल शब्दों में कहें तो इस तरह के मामलों में गर्भनाल या प्लेसेंटा जो बच्चे के विकास में अहम रोल निभाता है की गर्भाशय के मुंह पर स्थित हो जाता है जो कई तरह से खतरनाक साबित हो सकता है इस तरह के मामले कई बार भारी रक्तस्राव का कारण बन जाते हैं ब्लीडिंग का कारण बन जाते हैं और खतरा पैदा कर सकते हैं अगर गर्भावस्था के अंतिम दौर में भी लौ लाइन प्लेसेंटा की समस्या होती है तो यह काफी रिस्की हो सकता है ऐसी स्थिति में गर्भवती को बेड रेस्ट की सलाह दी जाती है ज्यादातर मामलों में बच्चे के सुरक्षित जन्म के लिए सर्जरी की भी आवश्यकता पड़ सकती है क्योंकि ऐसे मामलों में गर्भाशय का मुंह प्लेसेंटा द्वारा ढका हुआ होता है
Answer: यदि आपका प्लेसेंटा लो लाइन है तो आपको बहुत ही ज्यादा सावधानी रखने की जरूरत है । इसके लिए सबसे पहले आपको प्रॉपर बेड रेस्ट करना है। चलना फिरना बिल्कुल बंद कर दीजिए । बेड पर लेटे सिरहाना नीचे रखिए और पैरों की तरफ थोड़ा ऊंचा कर लीजिए पैरों के नीचे तकिया लगा कर रखिए । जमीन पर बिल्कुल भी नहीं बैठना है । सीढ़ियां बिल्कुल भी नहीं चढ़ना उतरना है । खाने में हल्का भोजन लेना है ताकि आसानी से पच जाए । पानी खूब सारा पीछे 8 से 12 गिलास पानी दिन भर में । नारियल पानी टेंडर कोकोनट का प्रयोग ज्यादा कीजिए यदि पानी आपको अच्छा नहीं लगता है तो आप उसमें रूहअफजा या अन्य कुछ मिलाकर पीजिए जो आपको अच्छा लगता हो । अपने डॉक्टर अनुसार बताएं दवाइयों का सेवन कीजिए ।
Answer: यदि आपका प्लेसेंटा लो लाइन है तो आपको बहुत ही ज्यादा सावधानी रखने की जरूरत है । इसके लिए सबसे पहले आपको प्रॉपर बेड रेस्ट करना है। चलना फिरना बिल्कुल बंद कर दीजिए । बेड पर लेटे सिरहाना नीचे रखिए और पैरों की तरफ थोड़ा ऊंचा कर लीजिए पैरों के नीचे तकिया लगा कर रखिए । जमीन पर बिल्कुल भी नहीं बैठना है । सीढ़ियां बिल्कुल भी नहीं चढ़ना उतरना है । खाने में हल्का भोजन लेना है ताकि आसानी से पच जाए । पानी खूब सारा पीछे 8 से 12 गिलास पानी दिन भर में । नारियल पानी टेंडर कोकोनट का प्रयोग ज्यादा कीजिए यदि पानी आपको अच्छा नहीं लगता है तो आप उसमें रूहअफजा या अन्य कुछ मिलाकर पीजिए जो आपको अच्छा लगता हो । अपने डॉक्टर अनुसार बताएं दवाइयों का सेवन कीजिए ।
Answer: हेलो डिअर , प्लेसता का नीचे होना कॉमन होता है ये दूसरी तिमाही के लास्ट या तीसरी तिमाही तक प्लेसता ऊपर आ जाता है , ऐसे में टेशन न ले, ऐसी कंडीशन में नॉमल डिलीवरी हो सकती है, लेकिन प्लेसता अगर ऊपर नही आता है और ब्लीडिंग भी हो जाए तो ऐसी कंडीशन में डॉक्टर completely बेड रेस्ट करने को सलाह देते हैं , ऐसे भारी सामान नही उठाना चाहिए , भारी काम न करे और सीढ़ियों पर न चढ़े , ऐसे में डिलीवरी ऑपरेशन से ही होती हैं।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मुझे pragnancy मैं ब्लीडिंग की प्रॉब्लम हो रही है मुझे लो लाइंग plasenta की प्रॉब्लम h
उत्तर: hello ma'am main samaj sakti hun apki situation low lying placenta main bleeding ho sakti hai, iske kiye apmo complete bed rest karna hoga aur turant bleeding ke liye apne doctor ko consult kare..
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हेलो मेम लो लाइंग प्लेसेंटा किसे कहते हे
उत्तर: हेलो डियर लो लाइंग प्लेसेंटा मतलब की गर्भनाल का नीचे की ओर स्थित होना होता है प्लेसेंटा नीचे की ओर स्थीत होना प्रेगनेंसी में खतरनाक साबित हो सकता है इसलिए प्लेसेंटा नीचे होने पर बहुत सावधानी रखनी होती है यदि सावधानी के साथ रहा जाए तो प्लेसेंटा बेबी के वज्न के बढ़ने के साथ-साथ अपने नॉर्मल जगह पर चला जाता है बेबी के वज़न बढ़ने से बड़ा हुआ गर्भाशय प्लेसेन्टा को उपर की ऑर खीच लेगा यदि प्रेग्नेन्सी के लास्ट में प्लेसेन्टा आपकी ग्रीव को ध्न्क लता है तो नॉर्मल डिलेवरी हो सकती है ऑर यदि ग्रेव प्लेसेन्टा को दहन्क ले तो सेसेरिएन डिलेवरी होगी आपका प्लेसेन्टा निचे है तो आपको पूरे प्रेग्नेसी में सेक्स नही करना चाहिए ऑर ना ही भारी सामान उठा सकती है बेड रेस्ट करें अकेले ना रहें कोई ना कोई अपने पास रखें ताकि ज़रूरत पड़ने पर तुरन्त डॉक्टर के पास जा सकें थोड़ा भि खुन जाए जाए या दर्द हो तो डॉक्टर के पास जाए डॉक्टर के कहने से 35 से 36 हफ़्ते में ही आपरेशन करवा लें ताकि आपका बेबी स्वस्थ आ जाए
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: लो लाइंग प्लेसेंटा
उत्तर: हेलो डिअर , प्लेसता का नीचे होना कॉमन होता है ये दूसरी तिमाही के लास्ट या तीसरी तिमाही तक प्लेसता ऊपर आ जाता है , ऐसे में टेशन न ले, ऐसी कंडीशन में नॉमल डिलीवरी हो सकती है, लेकिन प्लेसता अगर ऊपर नही आता है और ब्लीडिंग भी हो जाए तो ऐसी कंडीशन में डॉक्टर completely बेड रेस्ट करने को सलाह देते हैं , ऐसे भारी सामान नही उठाना चाहिए , भारी काम न करे और सीढ़ियों पर न चढ़े ,और ऐसे में सेक्स वैगेरह से भी परहेज करना चाहिए , ऐसे में डिलीवरी ऑपरेशन से ही होती हैं।
»सभी उत्तरों को पढ़ें