38 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: हेलो डॉक्टर मेरा nine मंथ 12 january से स्टार्ट हुआ है night me sirf 2 hours hi so pati hu baki tym saas lene me bohat problem hoti hai delivery kab ho sakti hai n meri problem ka koi suggestion de

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर,ज्यादातर डिलीवरी 9 मंथ बाद ही होती है मींस 36 week के बाद| आप की भी डिलीवरी डेट काफी करीब है कभी-कभी कुछ डिलीवरी 36 week से पहले या 36 वीक के बाद होती है पर डिपेंड करता है कि बच्चे का मूवमेंट कैसा है बच्चा अभी किस पोजीशन पर है आपकी बॉडी स्ट्रैंथ कितनी आपका बॉडी स्टैमिना कितना हैl ज्यादातर डिलीवरी 36 se 40 week के अंदर ही हो जाती है,जरूरी नहीं है कि बच्चे सिर्फ पेन से ही पैदा हो क्योंकि कभी कभी टाइम पूरा हो जाने के बाद बच्चे को ज्यादा देर तक पेट में रहने से भी नुकसान हो सकता है इसलिए तुरंत डॉक्टर से संपर्क करिएl पूरी प्रेग्नेंसी के दौरान बॉडी में काफी सारे चेंज जाते हैं जैसे बॉडी में हार्मोन का चेंज, पेट में जलन होना, सांस फूलना, एसिडिटी बनना इन्हीं सब कारणों की वजह से पेट में हल्का हल्का दर्द होता हैl ऐसा पूरी प्रेगनेंसी में आपको फील होगा इसके लिए कुछ घरेलू नुस्खे आप आजमा सकती हैl कभी-कभी एसिडिटी के कारण भी सांस फूलने लगती है य वीकनेस लगती हैl अदरक को पानी में बॉईल करके उसमें एक चम्मच हनी मिलाकर पीजिए, पुदीने को पानी में बॉईल करके उसमें एक चम्मच हनी मिलाकर पीजिए यह आपके पेट दर्द काफी आराम देता हैl हल्के हीट water bag se से भी आप सिकाई कर सकती हैं l खूब सारा पानी पीजिए लिक्विड क्वांटिटी खूब लीजिए, थोड़ी थोड़ी देर में वॉक जरूर करिए और अपने खाने-पीने की प्रॉपर डाइट मेंटेन करेंl इसमें कोई भी टेंशन नहीं की बात नहीं हैं but काफी तेज जब सांस चले तभी डॉक्टर से संपर्क करना चाहिएl
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: हेलो मेम मेरा 16 week compleet hone bala है or mujhe thoda saas lene me problem hoti hai aisa kyu
उत्तर: प्रेगनेंसी मैं सांस लेते हुए दिक्कत(शोर्टनेस ऑफ़ ब्रेथ)बहुत सामान्य है। सांस फुल्ने की वजह प्रेग्नन्सी के दौरान बॉडी मैं बहुत से चंगेस होते हैं उनमे से एक है हार्मोनल चंगेस। प्रेगनेंसी टाइम प्रोजेस्टोजेन एक हर्मोने है इस्सके लेवल जब हाई होने लगता है तोह रेस्पिरेटरी सिस्टम मई बहत प्रेशर आता है जिस्सकी वजह से प्रेगनेंसी मैं सांस लेने मई प्रॉब्लम होती ह। प्रेग्नन्सी की शुरुवात मई आपका ब्लड 50,% बढ़ जाता है जिस्सकी वजह से हार्ट को पंप करने म बहुत लोड पड़ता है जिस्सकी वजह से सांस लेने मई दिक्कत होती है। बच्चा के वेट की वजह से आपके लुंग्स पर प्रेशर पडता है जिस्सकी वजह से आपको सांस लेने मई प्रॉब्लम होती है। बाबी की वजह से ऑक्सीजन की डिमांड बढ़ जाती है जिस्सकी वजह से साँस लेने मई प्रॉब्लम होती है। सांस न फुले कैसे कण्ट्रोल करें उसस्के लिए ये कुछ उपाए है। मुझे उम्मीद है आपको इनसे मदद मिलेगी। १)जब भी सांस लेने मई प्रॉब्लम हो तब २०मिन्स तक डीप ब्रीथिंग करे। २)ज़्यादा भरी या हैवी लोड वाला कोई काम न करे। ३)अगर आप कहीं बैठे या लेते हैं तोह आपकी सांस फूल रही है तोह आप पोजीशन चेंज करे। ४)डॉक्टर की सलाह से रोजाना थोड़ी एक्सरसाइज करें जैसे की वॉकिंग,दीप ब्रीथिंग
»सभी उत्तरों को पढ़ें