30 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: हाथ पऐअर में दर्द होता है किया कारे

2 Answers
सवाल
Answer: hello डियर,,, प्रेगनेंसी में किसी भी प्रकार के दवाइयों का प्रयोग बिना डॉक्टर की सलाह के नहीं करनी चाहिए प्रेगनेंसी में हार्मोन चेंजएस के कारण शारीरिक दर्द होना एक बहुत ही आम बात है इसलिए बिल्कुल भी परेशान ना हो हाथ पैर के दर्द को दूर करने के लिए आप गुनगुने सरसों तेल से हाथ पैर की हल्की मसाज करा सकते हैं इससे खून का संचरण बढ़ता है हाथ पैर दर्द में कमी आती है| गुनगुने पानी से नहाए गुनगुने पानी के नहाने से मांसपेशियां रिलैक्स होती हैं और हाथ पैर दर्द में कमी आती है | हल्दी वाला दूध या गुनगुना दूध सोने के पहले पिए जिससे मांसपेशी रिलैक्स होकर आपको आराम पहुंचेगा ,घुटनों के पास तकिया रखकर सोएं, अत्यधिक हलचल ना करें ,शारीरिक श्रम के काम ना करें | संतुलित भोजन 10 से 12 क्लास पानी पीकर अपने आप ko हाइड्रेट रखें |
Answer: गरम पानी से डुबो कर रखे ... नीम वाला पानी ज़्यादा अच्छा होगा
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेम मेरे हाथ पैर मे बहुत दर्द होता है .. और रात में पेट में दर्द होता है . और यूरिन ज़ीयद होती है
उत्तर: hello dear गर्भावस्था के दौरान पेट में दर्द, पीड़ा और मरोड़ होना सामान्य बात है। अगर आपकी गर्भावस्था एकदम स्वस्थ चल रही है, तो पेट दर्द आमतौर पर चिंता का कारण नहीं होते।  गर्भ में शिशु के होने की वजह से आपकी मांसपेशियों, जोड़ों और नसों पर काफी दबाव पड़ता है। इससे आपको पेट के आसपास के क्षेत्र में काफी परेशानी महसूस हो सकती है। मजबूत, लचीले ऊत्तक व मांसपेशियां, जो आपकी हड्डियों को जोड़ते हैं, उनमें पूरी गर्भावस्था के दौरान बढ़ते गर्भ को सहारा देने के लिए खिंचाव होता है। इसलिए जब आप हिलती-डुलती हैं, तो आपको शरीर में एक या दोनों तरफ हल्का दर्द महसूस हो सकता है।थोड़ी देर के लिए बैठ जाएं।जिस तरफ दर्द हो रहा हो, उसके दूसरी तरफ होकर लेट जाएं और आराम करें।हल्के गर्म पानी से नहाएं।जहां दर्द हो रहा हो उस क्षेत्र में गर्म पानी की बोतल या गेहूं की छोटी पोटली से सिकाई करें। अगर आप गर्म पानी की बोतल का इस्तेमाल करें, तो इसमें गर्म पानी भरें और ध्यानपूर्वक इसे तौलिये या किसी मुलायम कपड़े में लपेट लें। व, गेहूं की पोटली एक कपड़े की पोटली होती है जिसमें गेहूं की भूसी भरी होती है। इस पोटली को माइक्रोवेव में कुछ मिनटों तक गर्म करना होता है। यह पोटली आपके शरीर के आकार के अनुसार ढल जाती है और एक घंटे या इससे ज्यादा के लिए गर्म रहती है।आराम करें। कई बार, sexकरने और पर भी मरोड़ या हल्का सा कमर दर्द हो सकता है। जिससे आपको बाद में मरोड़ जैसा महसूस हो सकता है।आप कैसा महसूस कर रही हैं,जादा परेशानी होने पर डॉक्टर को बताएं। महिला को बार बार यूरिन आने के कारण परेशान होना पड़ता है, प्रेगनेंसी में गर्भ में शिशु का विकास होने के साथ महिला के गर्भाशय का आकार भी बढ़ता जाता है, और महिला को बार बार यूरिन आने का सबसे बड़ा कारण महिला को यूरिनरी इन्फेक्शन होता है, और इसका कारण होता है महिला के गर्भाशय का आकार बढ़ना, जिसके कारण आपको और महिला को यूरिन रुक रुक कर आता है, और महिला के यूरिन आने वाले भाग का मार्ग आंशिक रूप से बंद हो जाता है, इसीलिए महिला को बार बार यूरिन आने लगता है। प्रेगनेंसी में बार बार यूरिन आने की समस्या से बचने के उपाय:- अनार के छिलको का उपयोग करें:- अनार के छिलको का उपयोग करने से आपको प्रेगनेंसी में बार बार यूरिन आने की समस्या से राहत मिल सकती है, इसके लिए आप सबसे पहले अनार के छिलको को अच्छे से सूखा लें, और उसके बाद इसे पाउडर के रूप में तैयार करें, और अब इस पाउडर को एक चम्मच एक गिलास पानी के साथ लें, इसे लेने से आपको यूरिनरी इन्फेक्शन की समस्या से राहत मिलती है, और साथ ही बार बार यूरिन आने की समस्या से भी निजात मिल जाता है। गुड़ और चने का सेवन करें:- प्रेगनेंसी में महिला को यदि बार बार यूरिन आने की समस्या होती है, तो इससे बचने के लिए महिला को थोड़े से भुने हुए चने लेकर उसका सेवन गुड़ के साथ करना चाहिए, ऐसा करने से आपको प्रेगनेंसी में बार बार यूरिन आने की समस्या से राहत मिलती है, और भुने हुए चने खाने से आपका स्वास्थ्य भी अच्छा रहता है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरे पेट में दर्द होता है हाथ पैर बहुत दर्द करता है क्या करु मै
उत्तर: हेलो डियर, प्रेगनेंसी में utress बढ़ने की वजह से पेट की मास पेशियों में खिंचाव होता है और आपका पेट दर्द होता है अगर यह हल्का हल्का होता है तो यह नॉर्मल बात है आप बिल्कुल भी परेशान ना हो ऐसा दर्द आपकी जब तक की डिलीवरी नहीं हो जाती तब तक हल्का हल्का दर्द बना रहता है प्रेगनेंसी के शुरुआती समय में बेबी के भूर्ण बनने का प्रोसेस होता है जिसकी वजह से पेट में हल्का दर्द और ऐंठन होती है ऐसा अगर आपको होता है तो यह नॉर्मल बात है ऐसे में आप अधिक से अधिक पानी पिएं ज्यादा आराम करें और गुनगुनी पट्टी से सिकाई कर ले , आप ऐसे में हल्के हाथ से तेल लगा कर मॉलिश भी कर सकती हैं, प्रेग्नेंसीय में हाथ और पैर में दर्द होना हार्मोन परिवर्तन की वजह से हो ता है आप अपने हाथ , पैर के दर्द को इस तरह से इलाज कर सकती है आप अपने हाथ , सरसो के तेल में अजवाइन , लहसुन डाल कर पका दे और इसे तेल से आप हाथ और पैरो की मॉलिश करे आपको आराम हो जाएगा , आप अपने हाथ , पैर की गुनगुने पानी में सेंधा नमक डालकर सिकाई करे इससे भी आपको लाभ होगा , कुछ एक्सरसाइज करें हाथ और पैरो की आपको दर्द में आराम मिलेगा ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हाथ पेरो में दर्द होता h
उत्तर: प्रेगनेंसी में वैसे भी बहुत ज्यादा कमजोरी होती है क्योंकि हमें खाना अच्छा नहीं लगता। आप यह आपको जो भी प्रॉब्लम हो रही है वह कमजोरी के कारण ही है। आप अपने खान-पान में विशेष ध्यान दीजिए। आप पोस्टिक आहार लीजिए ।आप दाल चावल रोटी सब्जी अंडा हरी पत्तेदार सब्जियां सलाद दूध दही सब लीजिए। अब हर 2 घंटे में कुछ न कुछ खाते रहिए और फलों के जूस लीजिए। तरह मात्रा ज्यादा लीजिए आप नारियल पानी पी सकती हैं इससे आपको तुरंत ही एनर्जी आएगी । आपका सिर दर्द और हाथ पैर दर्द सिर्फ कमजोरी के कारण ही हो रहा है हमारा सिर दर्द बॉडी में ग्लूकोज की कमी के कारण भी होता है, इसलिए आपका BP लो हो सकता है ।उसके लिए आप खाने पीने में अच्छे से ध्यान दीजिए ज्यादा देर तक भूखे नहीं रहेगी। अब हाथ पैर दर्द के लिए कमर दर्द के लिए सरसों के तेल से मालिश कर सकती है इससे आपको थोड़ा आराम करेगा कुछ दिन अच्छे से आराम कीजिए। उसके बाद योगा मेडिटेशन और हल्की वॉक स्टार्ट कीजिए तनाव से बिलकुल दूर रहिए। आपकी बॉडी एक्टिव रहेगी। अगर बहुत ज्यादा कमजोरी लग रही है तो आप एक बार डॉक्टर से जरूर मिलिए।
»सभी उत्तरों को पढ़ें