16 महीने का बच्चा

Question: हाय मेरी बेटी 4 साल की है बहुत कम खाती है और बहुत जल्दी थक जाती है हाथ और पैर मि बहुत दर्द होता है !कोई उपाय बताए !

0 Answers
सवाल
अभी तक इस सवाल का कोई जवाब नहीं है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मरे पैर हाथ म सुजन ऑर दर्द रहता है कोई करण बताये और उपय बताये प्लेज
उत्तर: हेलो डियर प्रेग्नेन्सी में हाथ और पैरों में दर्द और सूजन होना नॉर्मल है इसका कारण वजन बढ़ जाना है जिससे खून का प्रवाह कम हो जाता है और दूसरा कारण पोटेशियम कैल्शियम मैग्नीशियम जैसे खनिज की कमी भी हो सकती है साथ ही खाने में हरी सब्जियां फल फ्रूट जूस यह सब ले जिससे आपके शरीर में पोषक तत्वों की कमी नहीं होगी | अगर कभी पैर में sujan ज्यादा हो तो आप गर्म पानी में नीम के पत्ते डालकर boil Kare ,और पैर dubaa कर रखें पैर दर्द में आराम मिलेगा | गुनगुने पानी मे नमक डाल कर पैरों की सेकाई करें | गुनगुने तेल से मलीस करें | daily 8 से 10 गिलास पानी पीये | helthy dite लें | आराम करें और टेंशन फ्री रहें |
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: डॉक्टर मै चार महिने की प्रेग्नंट हूं और मेरी कमर मे बहोत दर्द होता है कोई उपाय बताये
उत्तर: हेलो डियर इस दौरान पीठ में दर्द होना बहुत आम है. एक ही अवस्था में बहुत देर तक बैठने या खड़ी होने से बचें बाल्म लगाकर गरम पानी से सिकाई कर लिजिए। हल्का काम ओर थोड़ा बहुत घुमने भी जाइए। केल्शियम कि टेबलेट जो डॉक्टर ने दि हैं वो लिजिए समय पर। प्रेग्नेंसी में ऐसा होता है। गर्म पानी से सिकाई करें। रात को सोते समय पैरों के नीचे तकिया लगाकर सोये।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेबी 5 साल की है खाने में सब्जी नही खाती है और वज़न भी कम है कुछ उपाय बताये
उत्तर: मलाई युक्त दूध :- कमज़ोर बच्चों के वजन को बढ़ाने के लिए बाज़ार में उपलब्ध फुल क्रीम मिल्क जैसे -अमूल ताज़ा ,नमस्ते इंडिया ,पराग ,ज्ञान आदि मिल्क बच्चे को पिलाने से वजन बढ़ाने में मदद करता है। अगर बच्चा दूध पीने के लिए मना करे तो शेक ,स्मूदी या चॉकलेट पाउडर मिक्स करके बच्चे को पिलायें। मलाई वाला दूध बच्चे का  वजन बढ़ाने के लिये सही माना जाता है। घी या मक्खन :- कमज़ोर बच्चों को घी या मक्खन खिलाना चाहिए जो फैट से भरपूर होता है। इन्हें दाल में डालकर या रोटी में लगा कर खिलाया जा सकता है। हलवा ,खीर ,या सूप :- बच्चों को हरी सब्जियों का सूप या टमाटर का सूप वज़न बढ़ाने के लिए बेहद फायदेमंद होता है। इसके साथ -साथ गाजर का हलवा या सूजी का हलवा भी पौष्टिक और वजन बढ़ाने में अधिक मददगार होता है। अण्डा एवं आलू :– कमजोर बच्चों को पेरेंट्स आलू और अंडा खिलाना अतिआवश्यक है।आलू में कार्बोहाईड्रेट और अंडे को प्रोटीन का अच्छा स्रोत माना जाता है। बच्चे को आलू व् अंडा उबाल कर खिलाने से वजन बढ़ता है। दालें :- कमजोर बच्चों का वजन बढ़ाने में दाल का पानी या रस बहुत कामगार साबित हुआ है । क्योंकि दाल में प्रोटीन अधिक होता है इसे पिलाने से बच्चे को वजन भी बढ़ता है। नट्स :- कमजोर बच्चों का वजन बढ़ाने में सूखा मेवा बहुत ही कामगार साबित हुआ है। बाजार से सभी प्रकार के ड्राई फ्रूट्स और खासकर नट्स विटामिन  से भरपूर होते हैं इसे बच्चों को पाउडर बना कर या दूध में मिलाकर खिलाने से वजन बढ़ता है। केला शेक :- एनर्जी का बेहतरीन स्रोत केला होता है। कमजोर बच्चों के लिए यह बेहद फायदेमंद होता है। केले का शेक या दूध और केला बच्चे को खिलाने से वजन में वृद्धि होती है। पीनट्स बटर :– कमजोर बच्चों के वजन को बढ़ाने के लिए पीनट बटर सबसे अच्छा उपाय है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें