30 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: हलों ,, मेरी थाइरॉइड की रिपोर्ट में थाइरॉइड 4.11 आया ह तो क्या मुझें थाइरॉइड की टैब्लेट लेनी चाहिए ??

1 Answers
सवाल
Answer: कोई तो सलुशन दो
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरी प्रेगनेंसी में थाइरॉइड आया है मुझे क्या डायट लेनी चाहिए जिससे मै और मेरा बेबी स्वस्थ रहें
उत्तर: अगर महिला को पहले से ही थायरॉयड होने की जानकारी है तो उन्हें गर्भधारण करने से पहले तो जांच करानी ही चाहिए बल्कि प्रैग्नेंसी के हर महीने भी जांच कराते रहना चाहिए। डॉक्टर के सलाहानुसार, समय-समय पर लगातार जांच करानी चाहिए और नियमित रूप से दवाओं का सेवन करना चाहिए। जिससे होने वाले बच्चे पर थायरॉयड का कोई खास प्रभाव न पड़े और गर्भवती महिला भी सुरक्षित रहें। समय रहते इस बीमारी की तरह ध्यान दिया जाए तो इस समस्या से बचना संभव है। भले ही आपको थायरॉयड संबंधी कोई समस्या न हो लेकिन हर महिला को साल में एक बार थायरॉयड की जांच जरूर करानी चाहिए। खाने -पिने पर ध्यान दें आयोडीन थायराइड कंट्रोल करने मे काफी असरदार है पर जितना हो सके नेचुरल आयोडीन का सेवन करे, जेसे कि टमाटर, प्याज और लहसन। तीन से चार लिटर पानी पीना चाहिए, ये शरिर से विशेले पदार्थ निकालने मे काफी मदद करता है। इसके इलावा एक से दो गलास फल का जूस भी पिए। हफ्ते मे एक बार आप नारियल पानी भी पिए तो अच्छा रहेगा । अपनी डाइट मे विटामिन (ए) अधिक मात्रा मे लें। हरी सब्जियों और गाजर मे विटामिन (ए) ज्यादा होता है जो थायराइड को कंट्रोल करने मे मदद करता है। बाज़ार मे उपलध सफेद नमक का थायराइड मे परहेज करे, खाने मे सेंधा या काला नमक प्रयोग करे।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: hello Dr .. 6th week की रिपोर्ट में मेरा थाइरॉइड लेवल 2.9 आया क्या यह ठीक है !!
उत्तर: आपका thyroid level बिल्कुल ठीक है...थायराइड problem को कंट्रोल किया जा सकता है par इसके लिए सही इलाज और exercise important है ...थायराइड का पता लगते ही प्रेग्नेंट वुमन को तुरंत इलाज शुरू कर देना चाहिए डॉक्टर के अनुसार सारी जांच कराते रहना चाहिए और medicines timely nd regular लेनी चाहिए...इससे होने वाले बच्चे पर थायराइड का कोई प्रभाव नहीं पड़ता, प्रेग्नेंट वुमन भी सुरक्षित रहती हैं
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हलों मुझे थाइरॉइड की प्रॉब्लम है रिपोर्ट में थाइरॉइड 2.67 आया है डॉक्टर ने 50mcg की टैबलेट दी है क्या ये सही है या ज़्यादा है
उत्तर: डॉ जो दवाई दे उसको लेते र आहे. उनको आपके सरे रिपोर्ट्स पता है तो वो उस हिसाब से ही आपको दवाई देंगे. दवाई टाइम से लेते रहे. और पौष्टिक खाना पीना लेते र आहे. और वाकिंग करे.
»सभी उत्तरों को पढ़ें