12 weeks pregnant mother

Question: मीयर स्टमक के लेफ्ट मि कबी कबी पेन होता है इशके लाइए क्या कर सकते hai

1 Answers
सवाल
Answer: hello प्रेगनेंसी में जब यूटरस की साइज बढ़ने लगती है तो पहले तिमाही में ऐसे दर्द होना नॉर्मल है और यह आराम करने से और हेल्दी डाइट लेने से ठीक हो जाता है लेकिन कभी-कभी गैस बनने से भी पेट में दर्द होता है अगर गैस की वजह से दर्द हो रहा है तो आप ज्यादा से ज्यादा मात्रा में पानी पिए
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: माई सिक्स वीक प्रेगनेट हु बट मीयर लेफ्ट साइड स्टमक मि पेन होता है और टु और कभी कभी लेफ्ट साइड स्टमक मि बहुत जोर से पेन होता है
उत्तर: हेलो डियर , पेट दर्द हल्का फुल्का रहता है तो ये सामान्य बात है लेकिन अगर यही असाधारण दर्द होता है तो आपको डॉक्टर को दिखाना चाहिए , आप कुछ घरेलू उपायों से पेट का दर्द कम कर सकती है जो इस प्रकार से है आपका पेट जिस साइड दर्द होता है आप उसके दूसरे साइड करवट करके सो जाएं आराम मिलेगा । प्रेग्नेंसीय में पेट दर्द होने पर आप गुनगुने पानी से स्नान करे आपको आराम मिलेगा पानी पीते रहना चाहिए पानी की कमी नही होनी चाहिए , जब पेट दर्द होने लगे तब आप आराम करें।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मीयर स्टमक के नीचे पेन होता h
उत्तर: हेलो डियर प्रेगनेंसी में पेट में दर्द होना आम बात होती है प्रेग्नन्सी के दौरान हमारे शरीर में बहुत सारे हारमोनल परिवर्तन होते हैं जिसकी वजह से कभी पेट दर्द कभी उल्टी कभी कोई समस्या उत्पन्न हो जाती है आप परेशान मत हो। इस अवस्था में विशेषकर पेट के निचले हिस्से में हल्का-हल्का दर्द भी हो सकता है प्रेगनेंसी के समय में ज्यादा वजन नही उठना चाहिए और ना ही ज्यादा झुकना चाहिए। जमीन पर क्रॉस लेग करके नहीं बैठे वरना दर्द ज्यादा बढ़ सकता है पीठ के बल सोने की बदले साइड की करवट लेकर सोना चाहिए  हील वाली सेंडिल नही पहनना चाहिए हमेशा हमेशा स्लिपर ही पहने ज्यादा देर तक एक स्थिति में खड़े ना रहे  जिस तरफ दर्द हो रहा हो, उसके दूसरी तरफ होकर लेट जाएं और आराम करें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: राइट लेग पेन होता है इशके लाइए
उत्तर: hello डियर "aap 24 week ki pregnet hai...प्रेगनेंसी में पैर दर्द होना कॉमन है हार्मोन में बदलाव या शारीरिक परिवर्तन होने के कारण पैर में दर्द की स्थिति उत्पन्न हो जाती है आप कुछ घरेलू उपाय से पैर दर्द को दूर कर सकती हैं | एक ही पोजीशन में लंबे समय तक खड़े या बैठे ना रहे पोजीशन चेंज करते रहे |सरसों तेल में लहसुन को डालकर गर्म करें और इसी गर्म तेल से पैरों की हल्की हल्की मसाज kre..पैर को लटका कर ना बैठ |पौष्टिक व संतुलित आहार लें |हल्की धूप, मैं बैठे ,धूप से seविटामिन डी मिलता है जो की मांसपेशियों को मजबूत बनाता है |दूध ,पनीर, दही, सोयाबीन, हरी पत्तेदार सब्जियां आदि का प्रयोग भोजन में करें कैल्शियम में वृद्धि होगी ,जिससे आपके हड्डियों में मजबूती आएगी वशारीरिक दर्द में कमी होगी|रात को सोते समय पैर को खुली हवा में ना रखें |गर्म पानी में नमक डालकर कुछ समय तक पैरों को डूबा कर रखें इससे भी पैर दर्द में कमी आ सकती है|
»सभी उत्तरों को पढ़ें