18 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: प्लसिन्ता लो लाइन का किया मतलब ह मरें अल्ट्रासाउंड मे आया h

3 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर प्लेसेंटा जो कि बच्चे की गर्भनाल से जुड़ा हुआ रहता है उसका नीचे हो जाना मतलब plecenta का हट जाना यह अपनी जगह पर ना रहना यही प्लेसेंटा प्रेवीया या लो लाइन प्लेसेंट कहलाता है प्लेसेंटा low लाइन होने पर प्रेग्नेंट महिला को बहुत सी चीजों की मनाही हो जाती है जैसे कि ज्यादा झुक कर काम ना करना सीढ़ियां उतरना या चढ़ने ट्रेवलिंग ना करना सेक्स ना करना आदि Pregnancy के दिन जेसे जेसे बढ़ते जाते हैं सेंटा अपनी जगह पर आ जाता है प्लेसेंटा दो लाइन होने पर प्रेग्नेंट महिला को बहुत सारे खतरे हो जा सकते हैं महिला को कभी भी ब्लीडिंग हो सकती है प्रेग्नेंट महिला के मिसकैरेज होने के चांसेस बढ़ जाते हैं या फिर डिलीवरी के टाइम उसे सिजेरियन डिलीवरी करवानी होती है
Answer: हेलो डियर आप बिल्कुल भि परेसन ना हो हो सकता है की बेबी के वज़न बढ़ने से बड़ा हुआ गर्भाशय प्लेसेन्टा को उपर की ऑर खीच लेगा यदि प्रेग्नेन्सी के लास्ट में प्लेसेन्टा आपकी ग्रीव को dhnk लता है तो नॉर्मल डिलेवरी हो सकती है ऑर यदि ग्रेव प्लेसेन्टा को दहन्क ले तो सेसेरिएन डिलेवरी होगी आपका प्लेसेन्टा निचे है तो आपको पूरे प्रेग्नेसी में सेक्स नही करना चाहिए ऑर ना ही भारी सामान उठा सकती है बेड रेस्ट करें अकेले ना रहें कोई ना कोई अपने पास रखें ताकि ज़रूरत पड़ने पर तुरन्त डॉक्टर के पास जा सकें थोड़ा भि खुन जाए जाए या दर्द हो तो डॉक्टर के पास जाए डॉक्टर के कहने से 35 से 36 हफ़्ते में ही आपरेशन करवा लें ताकि आपका बेबी स्वस्थ आ जाए
  • avatar
    anil Diwakar809 days ago

    thankyou so much

Answer: हेलो डियर लो लाईन प्लेसेंटा का मत्लब होता है की आपका प्लसेंता यानी गर्भ नाल नीचे आ गई है ।प्लसेंता नीचे होने से बेबी की ग्रोथ पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है। आप परेशान ना हो जब बेबी की मूवमेंट शुरू होती है तो प्लेसेंटा बेबी की मूवमेंट के साथ ऊपर खिसकने लगता है। ध्यान रखें कि जब प्लेसेंटा नीचे हो तो उस समय आप किसी भी प्रकार का कोई भी भारी सामान ना उठाएं ज्यादा देर तक खड़े ना रहें।
  • avatar
    anil Diwakar809 days ago

    thankyou so much

  • avatar
    Anu Verma809 days ago

    welcome dear

समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: हेलो हेलो प्लेसेंटा पोस्टीरियर लो लाइन टू ओ एस का क्या मतलब है
उत्तर: प्लेसेंटा जो की ऊपर होती है आपकी वो नीचे ह .....मुझे भी यही दिक्कत ह अपना ख्याल रखे डियर
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: प्लैसेन्टा लो लाइंग का मतलब क्या ह
उत्तर: प्लेसेंटा के किनारे को आंतरिक ओएस से कम से कम 2.5 सेमी दूर होना चाहिए। जब यह गर्भाशय से 2.5 सेमी से कम होता है, तो काम के दौरान रक्तस्राव का जोखिम बहुत अधिक होता है। इसलिए सी सेक्शन के चांसेस बढ़ जाते हैं। इस बारे में आप कुछ भी नहीं कर सकते हैं। यह देखने के लिए कि क्या यह अभी अब 2.5 सेमी से अधिक दूर है, तो आपके डॉक्टर लगभग 35-36 सप्ताह में एक और एंडोवाजिनल अल्ट्रासाउंड करवाएंगे जिससे सारी चीजें क्लियर हो लगते यदि आपका प्लेसेंटा लो लाइन है तो आपको बहुत ही ज्यादा सावधानी रखने की जरूरत है । इसके लिए सबसे पहले आपको प्रॉपर बेड रेस्ट करना है। चलना फिरना बिल्कुल बंद कर दीजिए । बेड पर लेटे सिरहाना नीचे रखिए और पैरों की तरफ थोड़ा ऊंचा कर लीजिए पैरों के नीचे तकिया लगा कर रखिए । जमीन पर बिल्कुल भी नहीं बैठना है । सीढ़ियां बिल्कुल भी नहीं चढ़ना उतरना है । खाने में हल्का भोजन लेना है ताकि आसानी से पच जाए । पानी खूब सारा पीछे 8 से 12 गिलास पानी दिन भर में । नारियल पानी टेंडर कोकोनट का प्रयोग ज्यादा कीजिए यदि पानी आपको अच्छा नहीं लगता है तो आप उसमें रूहअफजा या अन्य कुछ मिलाकर पीजिए जो आपको अच्छा लगता हो । अपने डॉक्टर अनुसार बताएं दवाइयों का सेवन कीजिए
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: प्लैसेन्टा लो लाइंग का क्या मतलब होता ह
उत्तर: हेलो डियर आप परेशान ना हो प्रेगनेंसी में प्लेसेंटा मतलब की गर्भनाल जो कि हमेशा गर्भ के बगल में होना चाहिए कभी-कभी फालसे के नीचे स्थित हो जाता है जिससे ब्लडिंग होने का डर रहता है उसी को लौ लाइंग प्लेसेंटा मतलब की प्लेसेंटा नीचे कहां जाता है अपरा का नीचे स्थित होना हो सकता है की बेबी के वज़न बढ़ने से बड़ा हुआ गर्भाशय प्लेसेन्टा को उपर की ऑर खीच लेगा यदि प्रेग्नेन्सी के लास्ट में प्लेसेन्टा आपकी ग्रीव को dhnk लता है तो नॉर्मल डिलेवरी हो सकती है ऑर यदि ग्रेव प्लेसेन्टा को दहन्क ले तो सेसेरिएन डिलेवरी होगी आपका प्लेसेन्टा निचे है तो आपको पूरे प्रेग्नेसी में सेक्स नही करना चाहिए ऑर ना ही भारी सामान उठा सकती है बेड रेस्ट करें अकेले ना रहें कोई ना कोई अपने पास रखें ताकि ज़रूरत पड़ने पर तुरन्त डॉक्टर के पास जा सकें थोड़ा भि खुन जाए जाए या दर्द हो तो डॉक्टर के पास जाए डॉक्टर के कहने से 35 से 36 हफ़्ते में ही आपरेशन करवा लें ताकि आपका बेबी स्वस्थ आ जाए
»सभी उत्तरों को पढ़ें