19 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: लेवल 2 अल्ट्रासाउन्ड क्या होता है इसे करवाना ज़रूरी hai

1 Answers
सवाल
Answer: hello dear Anomaly स्कैन एक डिटेल्ड स्कैन होता है । इसमें बेबी की पूरी बॉडी को observe किया जाता है। प्लेसेंटा की पोजीशन चेक की जाती है। बेबी के आस पास कितना फ्लूइड है वो चेक किया जाता और उतेरुस एंड cervix के लिए भी इस स्कैन से डिटेल मिलती है। ये स्कैन 18 से 20 वीक में होता है।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: 2 लेवल अल्ट्रासाउन्ड क्या है और काब करवाना होता hai
उत्तर: . पहला सोनोग्राफी बच्चे की हार्ट बीट और बच्चे की संख्या जानने के लिए 8 से 9 वीक में किया जता है ..फ़िर दूसरा स्कैन NT स्कैन होता है जो 11 से 14 वीक के andar किया जता है . जिसमें बच्चे के गर्दन के पीछे की स्किन के नीचे तरल की मात्रा नाक की हड्डी की मोटाई बच्चे की ग्रोथ . गर्भाशय ये सब चेक करने के लिए किया जाता है... फिर tesara स्कैन 18 से 21week में बच्चे के शारीरिक विकृति या anamoly स्कैन बच्चे के बॉडी पार्ट्स के विकास और विक्रिति और गर्भाशय मे कितना पानी है बच्चे का ग्रोथ यह सब चेक किया जाता है .. फ़िर chwtha स्कैन ग्रोथ स्कैन 28 से 32 वीक के बीच किया जाता है..यह स्कैन बच्चे का ग्रोथ जानने के लिए गर्भाशय का पानी ये सब चेक करने के लिए किया जाता है ..अगर जरुरत पड़ी तो अखिर में एक और स्कैन किया जा सकता है ... आप डॉक्टर से मिल लीजिए इससे वो आपको स्कैन लिखकर दे देंगे जो आपके वीक के हिसाब से ज़रूरी होगा ...आप परेशान ना हों ..और अपना ध्यान रखे..
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: क्या सेकण्ड लेवल अल्ट्रासाउन्ड करवाना ज़रूरी होता h
उत्तर: हेलों हाँ ,एनॉमली स्कैन या अल्ट्रासाउंड लेवल II स्कैन गर्भावस्था की दूसरी तिमाही में होने वाला स्कैन है।.. इसमें बेबी की पूरी बॉडी का परीक्षण किया जाता है बच्चे के आंतरिक अंग सही तरीके से विकसित हो रहें है या नही, बच्चे के आसपास कितना फ्लूइड है , प्लेसेंटा की पोजिशन क्या है , बच्चे का वेट और ग्रोथ कैसे है uterus और सर्वीक्स लेंथ कितनी है यह सभी जानकारी आपको अनॉमली स्कैन कारवा कर मिल सकती है .
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: डोप्लेर अल्ट्रासाउन्ड क्या होता है ... क्या इसे करवाना ज़रूरी होता है .. ये अल्ट्रासाउन्ड कान से वीक मे करवाते हैं ??
उत्तर: हाय डियर यह भी अल्ट्रासाउंड की तरह एक स्क्रीन है इससे बच्चे की सभी स्थितियों की जांच की जाती है जैसे हृदय की धड़कन और ऑक्सीजन और उसे उसके हिसाब से पोषक तत्व मिल रहे हैं या नहीं इत्यादि की जांच की जाती है यह आपके ऊपर निर्भर करता है कि यह स्कैन आपको करवाना है या नहीं, आप ऐसे 28 हफ्ते से 32 हफ्ते के बीच में करवा सकती हैं इस स्कैन के माध्यम से आपको आप की डिलीवरी की डेट भी मिल सकती है जो लगभग में होगी
»सभी उत्तरों को पढ़ें