26 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: लेफ्ट साइड की पसली एम पेन h

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर , प्रेग्नेन्सी में जैसे जैसे बेबी का आकार बढ़ता है वैसे वैसे गर्भाशय का आकार बढ़ता है जिसकी वजह से पसलियों पर दबाव पड़ता है जिसकी वजह से पसली में दरद होता है आपको ऐसे में जिंस साइड आराम मिलें उस साइड अच्छे से सोना चाहिये , आपको ऐसे में जैतून के तेल से या फ़िर सरसों के तेल से पसलियों वाली जगह की अच्छे से मालिश करनी चाहिये , इससे आपको आराम मिल जायेगा , आप परेशान ना प्रेग्नेन्सी के बाद इस दरद में आराम मिल जायेगा !
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मरें स्टोमैच एम लेफ्ट साइड पेन होता h
उत्तर: प्रेग्नेंसीय में हल्का पेट दर्द होना सामान्य बात है गर्भावस्था में पेट दर्द की समस्या शुरू से लेकर जब तक आपकी डिलीवरी नही हो जाती है तब तक लगी ही रहेगी, आपको अगर प्रेग्नेंसीय के समय कोई दिक्कत नही है और पेट दर्द हल्का फुल्का रहता है तो ये सामान्य बात है लेकिन अगर यही असाधारण दर्द होता है तो आपको डॉक्टर को दिखाना चाहिए , आप कुछ घरेलू उपायों से पेट का दर्द कम कर सकती है जो इस प्रकार से है आपका पेट जिस साइड दर्द होता है आप उसके दूसरे साइड करवट करके सो जाएं आराम मिलेगा । प्रेग्नेंसीय में पेट दर्द होने पर आप गुनगुने पानी से स्नान करे आपको आराम मिलेगा पेर दर्द होने पर आप एक बोतल में पानी गर्म डाल दीजिए और बोतल के ऊपर कपड़ा लगा कर आप पेट की सिकाई करे आपको पेट दर्द में आराम मिलेगा
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: स्टमक पेन लेफ्ट साइड
उत्तर: यूटरस की राउंड लिगामेंट्स में खिंचाव के कारण पेट में दर्द होता है .यह राउंड लिगामेंट्स mainly 2 tissues ke रूप में होती है .जो आपके यूट्रस को स्थिर रखते हैं .वह यूट्रस और fetal के बढ़ने के साथ खींचती है. पेट में दर्द लगभग 18 से 24 वीक के बीच शुरू होता है. और एक तरफ दर्द होता है पर कभी कभी दोनों तरफ भी होता है. अगर आपको पेन हो रहा है और यह पेन बहुत ज्यादा नहीं है या रुक रुक के बार बार नहीं आ रहा है तो आप आराम से रहें. खाने पीने का ध्यान दें. आपने खाने में फाइबर ज्यादा ले. पानी खूब पिएं . खाना एक बार में बहुत सारा नहीं खाए . थोड़ा-थोड़ा खाना चबाकर खाएं. खाना खाने के बाद आप दो चुटकी अजवाइन खाएं .इससे आपको गैस की समस्या होगी तो बहुत राहत मिलेगी.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मुझे लेफ्ट साइड नीचे की ओर पेन होता ह
उत्तर: hello यूट्रस हमारे बॉडी में लेफ्ट साइड पर होता है। जिसके कारण लेफ्ट साइड में ज्यादा खिंचाव का एहसास होता है। ज्यादा खिंचाव होने से और दर्द होने से आराम करना अच्छा रहता और सोते समय लेफ्ट करवट करके ही सोए।राइट करवट सोएंगे तो बच्चा लेफ्ट साइड से राइट साइड पर लटके गा जिसके कारण लेफ्ट साइड में खिंचाव होगा। और बच्चे का दबाव आंतरिक अंगों पर बनेगा जिसके कारण बच्चे को सही तरीके से ब्लड सप्लाई नहीं होता है इसलिए सोते समय ध्यान रखें
»सभी उत्तरों को पढ़ें