2 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: योगा kab से krna चाहिए pargncy me plz tell me

1 Answers
सवाल
Answer: हेलों आप 2 वीक प्रेगनेट है पहले 3 महीने आप किसी भी प्रकार का योगा खुद से ट्राइ ना करे . क्योकी पहले 3 महीने बहुत केयर से रहना चाहिए और अभी किसी भी प्रकार के योगा से पेट पर दबाव पड़ सकता है . आप अभी हलकी वॉक कर सकती है . ब्रीदिंग एक्सर्साइज कर सकती है ..
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: कौन से योगा करने चाहिए
उत्तर: योगावैसे तो गर्भवती महीलाओ को शुरु से नही करना चाहीये पहले तीन महीने बहुत आराम से रहना चाहीयेक योगा आसन का अभ्यास  प्रेगनेंसी के चौथे महीने से ले कर नवे महीने तक करने की सलाह दी जाती है। योगा के जरिये ना केवल तनाव दूर होता है, बल्कि प्रसव के दौरान होने वाले दर्द से भी राहत मिलती है| (1)तितली आसन--- तितली आसन को गर्भावस्था के तीसरे महीने से कर सकते है| शरीर के लचीलेपन को बढ़ाने के लिए यह आसन किया जाता है| इसे करने से शरीर के निचले हिस्से का तनाव खुलता है| इससे प्रजनन के दौरान गर्भवती महिला को दिक्कत कम होती है। तितली आसन करने के लिए दोनों पैरों को सामने की ओर मोड़कर, तलवे मिला लें, यानी पैरों से नमस्ते की मुद्रा बननी चाहिए। इसके पश्चात दोनों हाथों की उंगलियों को क्रॉस करते हुए पैर के पंजे को पकड़ें और पैरों को ऊपर-नीचे करें। आपकी पीठ और बाजू बिल्कुल सीधी होनी चाहिए। इस क्रिया को 15 से अधिक बार ना करे| (यदि इस क्रिया को करते वक्त आपको कमर के निचले हिस्से में दर्द महसूस होता हो तो इसे बिल्कुल भी न करे (2)अनुलोम विलोम--- गर्भावस्था में अनुलोम विलोम आसन करने से शरीर में रक्त का संचार बढ़ता है। इसे करने से रक्तचाप नियंत्रित होता है| प्रेगनेंसी में तनावरहित रहने के लिए इस आसन को जरूर करना चाहिए| इस आसन को करने के लिए सबसे पहले आराम से बैठे इसके बाद दाएं हाथ के अंगूठे से नाक का दाया छिद्र बंद करें और अपनी सांस अंदर की ओर खींचे। फिर उसी हाथ की दो उंगलियों से बाईं ओर का छिद्र बंद कर दें और अंघूटे को हटाकर दाईं ओर से सांस छोड़ें। इस प्रक्रिया को फिर नाक के दूसरे छिद्र से दोहराएँ। (3)---पर्वतासन गर्भावस्था में पर्वतासन करने से कमर के दर्द से निजाद मिलती है| इसे करने से आगे चलकर शरीर बेडौल नहीं होता है| इस आसन को करने के लिए सर्व प्रथम आराम से बैठे। इस वक्त आपकी पीठ सीधी होनी चाहिए| अब सांस को भीतर लेते हुए दोनों हाथों को ऊपर की ओर उठाएं और हथेलियों को नमस्ते की मुद्रा में जोड़ लें। कोहनी सीधी रखें। कुछ समय के लिए इसी मुद्रा में रहें और तत्पश्चात सामान्य अवस्था में आ जाएं। इस आसन को दो या तीन से ज्यादा ना करे| (4)शवासन----- गर्भावस्था के दौरान शवासन करने महिलाओं को मानसिक शांति मिलती है। इस आसन की खासियत यह है की इसे करने से गर्भ में पल रहे शिशु का विकास अच्छी तरह होता है। इस आसन को करने के  लिए बिस्तर पर सीधा लेट जाएं और अपने हाथ और पैरो को खुला छोड़ दें। फिर पूरी तनावमुक्त हो जाएं और धीरे-धीरे लंबी सांस ले और छोड़ें। , गर्भावस्था के दौरान कौन सा योगा करना फायदेमंद रहेगा। योग आसन करने से पहले अपने डॉक्‍टर की सलाह जरूर लें।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हेलो मैम परगंसी ma कब सेक्स करना tik होता h
उत्तर: यह पूरी तरह से आप की रिपोर्ट पर डिपेंड करता है और आपकी सिचुएशन पर डिपेंड करता है यदि आप की रिपोर्ट में सब नॉर्मल है आपका बच्चा लो लाइन नहीं है आपका प्लेसेंटा लो लाइन नहीं है और आप को ब्लीडिंग नहीं हो रही है या कोई और प्रॉब्लम नहीं है तो आप इंटिमेट हो सकते हैं अदर वाइज नहीं हो सकते इसके लिए आपको डॉक्टर से पूरा चेकअप करवाना पड़ेगा उसके बाद ही वह आपको बता पाएंगे कि आप संबंध रख सकते हैं या नहीं अपने डॉक्टर से सलाह ले उसके बाद ही है ऐसा कोई कदम उठाएं
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: योगा कबसे krna चाहिए ...pargancy me
उत्तर: हैलो डियर--- प्रेगनेंट औरतों को योगा या एकसरसाइज शुरु से नही करना चाहीये पहले तीन महीने बहुत आराम से रहना चाहीये ।योगा या एक्सरसाइज चौथे महीने से ले कर नवे महीने तक करने की सलाह दी जाती है आपको अपने डाक्टर से मीलकर अपने लीये सुटेबल एक्सरसाइज अपनानी चाहीये क्युंकी आपके डाक्टर ही आपका सही कंडीसन जानते हैं। सुबह शाम टहलना गर्भावस्था में सबसे अच्छा एक्सरसाईज है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें