11 months old baby

Question: म apni beti ko khansi ki medicine de rhi hu abb वो poti kr rhi hai boht ptli nd blck

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर , आपके बेबी अगर बहुत पोट्टि हो रही है तो इसका मतलब है की बेबी को दस्त है , आपके बेबी को अगर जुखाम न हो तो ऐसे में आप अपने बेबी को केले को दही के मिक्स करके खिला दे इससे बहुत जल्दी आपके बेबी को आराम हो जाएगा आप अपने बेबी को समय समय पर ors का घोल पिलाती रहे , अपने बेबी को पानी की कमी न होने दे आप अपने बेबी को मूंग कि दाल डाल कर उसमे मेथी डाल कर गीली खिचड़ी बनाकर बेबी को खिलाएं और ज्यादा गंभीर दस्त हो तो बेबी को डॉक्टर के पास ले जाये धन्यवाद।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mri beti 2mhine 24 din ki h jaise hi dudh piti h ptli poti kr rhi h....kya kre?
उत्तर: hello अक्सर छोटे बच्चे दूध पीते पीते पाॅटी करते हैं आप परेशान ना हो धीरे-धीरे यह समस्या दूर हो जाएगी बस आप बच्चे को सही तरीके से दूध पिलाये। दूध पिलाते समय आप सबसे पहले एक ब्रेस्ट के दूध को पिलाएं 20 मिनट के बाद अब दूसरे साइड के ब्रेस्ट से पिलाये ब्रेस्ट में ऊपर ऊपर का दूध पतला होता है और अंदर का दूध गाढ़ा होता है पतले दूध को पीने से बच्चे की प्यास बुझती है और गाढ़ा दूध को पीने से बच्चे की भूख मिटती है ऊपर ऊपर का दूध पीला देने से बच्चे को बार बार भूख लगती है और बच्चा उस दूध को पीने से झाग वाली पॉटी, ग्रीन पॉटी,छिछड़ा पॉटी ,ड्राई,या बार बार पॉटी करता है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: meri beti bilkul pani ki trh ptli poti kr rhi he.y norml h ya koi prblm to nhi g
उत्तर: हेलो डियर आप अपनी डाइट का खास खयाल रखें कोई भी बाडिया कैसी चीज बिल्कुल भी ना खाएं जैसे कि गोभी मूली राजमा आदि इन सब से गैस होती है और बच्चों को गैस पास करते ही पॉटी होने लगती है बाकी अभी अभी आप बच्चे को ऊपर का दूध दे रहे हैं तो यह भी हो सकता है कि बच्चे को ऊपर का दूध छोड़ना कर रहा हो इसलिए अभी कुछ टाइम के लिए आप ऊपर का दूध ना दे या डॉक्टर से पूछ कर आप ऊपर का जो दूध दे रहे हैं उसको चेंज करके दूसरा दूध दे सकते हैं मैं आपको ठंड से बचा कर रखें कोई भी ठंडा काम करने के तुरंत बाद बच्चे को दूध ना पिलाए इससे बच्चे को बार बार पॉटी होने लगती है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: meri beti abhi 10 din ki h use khansi rhti h or wo poti b dhang se nhi kr rhi
उत्तर: कभी कभी छोटे बच्चों को सर्दी होने की वजह से बहुत स्पुटम प्रोडक्शन होने लगता है जिसके वजह से उनके सीने में उनके नाक में और गले में स्पुटम रहने की वजह से सांस लेने में बड़ी तकलीफ होने लगती है और यह सsputum याkough गले में हो तो खांसी होने लगती है अभी बच्चा बहुत छोटा है इसलिए उसे अलग से कुछ हम घरेलू उपचार नहीं बता सकते क्योंकि सिक्स मंथ तक बच्चे सिर्फ मां का दूध ही पीते हैं बच्चे को अगर बहुत ज्यादा खांसी हो रही होगी तो आपसे सोने के टाइम पर उसका सर ऊपर रखकर सुनाएं और हो सके तो अजवाइन का बुना हुआ अजवाइन का पोटली बनाकर उसके नाक के पास रखें इससे उसका जो कब होता है वह पिघलता है और गले के नीचे जाने से उसको खांसी कम आती है अगर 1 मंथ 2 मंथ के बच्चे कुछ दिनों तक poty नहीं करते हैं उसका कारण उसको पिलाई जाने वाले दूध पर निर्भर करता है क्योंकि उन बच्चों को ज्यादा कॉन्स्टिपेशन की शिकायत होती है जो फार्मूला मिल्क पीते हैं इसलिए अगर आपका बेबी फार्मूला मिल्क ले रहा होगा तो आप डॉक्टर से बोल कि अब दूसरा फार्मूला मिलते हैं क्योंकि अगर हो सकता है आप दूसरा ब्रांड का फार्मूला मिल्क दे दो उनको कॉन्स्टिपेशन ना हो कभी-कभी बच्चे जो बेस्ट स्वीट करते हैं उनको भी कॉन्स्टिपेशन होता है इसका वजह यह है कि दूध में पाए जाने वाला जितना न्यूट्रीशन उसके शरीर पर असर तो करता है और बाकी यूरिन की तू बाहर निकल जाता है लेकिन potty नहीं बन पाता अच्छे से इसलिए अगर आप ब्रेस्ट फील्ड दिला रही है और क्या अच्छे से सूसू कर रहा होगा तो आप चिंता ना करें बच्चे को से 4 दिन तक के भी poty नहीं होता कभी-कभी और अगर बच्चा गैस पास नहीं हो रहा होगा तो आपको नहीं दूध पिलाने के बाद डकार जरूर दिलाएं अगर आप अपना दूध पिला रही होंगी तो आप चिंता ना करें बच्चा अगर पार्टी नहीं कर रहा है तो भी बच्चे का सुसु करना जरूरी है pottyउतना जरुरी नहीं होता अगर वह आपका breast feed leरहा होगा तो क्योंकि इस दौरान सारे न्यूट्रीशन absorbed हो जाते हैं
»सभी उत्तरों को पढ़ें