10 weeks pregnant mother

Question: मै ये जानना चाहती हूं कि ये दूसरी तिमाही और तीसरी तिमाही का क्या मतलब है? दूसरी तिमाही मे कितने दिन का समय होता है प्रेगनेंसी का और तीसरी तिमाही मे कितना समय होता है प्रेगनेंसी का ? कृपया मुझे ये विस्तार से बतायेगा।

1 Answers
सवाल
Answer: pehli timahi matlab pregnency k shurati 3 mahine- 1 ,2 or 3 mahina dusri timahi matlab 4 ,5 or 6 mahina tisri timahi matlab 7 ,8 or 9 mahina
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: हैलो,मुझे ये जानना है कि प्रेगनेंसी मे सेक्स करना कितना सुरक्षित है? और अगर सुरक्षित है तो कौन से महीने से कितने महीने तक सुरक्षित है?
उत्तर: प्रेग्नेन्सी के पहले तीन महीने मैं सेक्स को अवोइड करना चाहिए . तीन महीने के बाद भी आप आपने डॉक्टर से बात करके और अपनी हेल्थ और बेबी के सुरक्षित होने के बाद ही सेक्स कर सकती है वरना सेक्स को जितना हो सके अवोइड करने के कोशिश करे और अपना और आपने बेबी का ध्यान रखें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Hello mam मुझे ये जानना है कि प्रेगनेंसी मे सेक
उत्तर: हेलो डिअर, आप का प्रश्न समझ में नही आ रहा है आप अपना प्रश्न साफ साफ करे ताकि आपके प्रश्न का जवाब दिया जा सके
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मुझे 8 महीने हुए है और मै ये जानना चाहती हु कि मुझे कोन सा योगा करना चाहिए
उत्तर: योगावैसे तो गर्भवती महीलाओ को शुरु से नही करना चाहीये पहले तीन महीने बहुत आराम से रहना चाहीयेक योगा आसन का अभ्यास  प्रेगनेंसी के चौथे महीने से ले कर नवे महीने तक करने की सलाह दी जाती है। योगा के जरिये ना केवल तनाव दूर होता है, बल्कि प्रसव के दौरान होने वाले दर्द से भी राहत मिलती है| (1)तितली आसन--- तितली आसन को गर्भावस्था के तीसरे महीने से कर सकते है| शरीर के लचीलेपन को बढ़ाने के लिए यह आसन किया जाता है| इसे करने से शरीर के निचले हिस्से का तनाव खुलता है| इससे प्रजनन के दौरान गर्भवती महिला को दिक्कत कम होती है। तितली आसन करने के लिए दोनों पैरों को सामने की ओर मोड़कर, तलवे मिला लें, यानी पैरों से नमस्ते की मुद्रा बननी चाहिए। इसके पश्चात दोनों हाथों की उंगलियों को क्रॉस करते हुए पैर के पंजे को पकड़ें और पैरों को ऊपर-नीचे करें। आपकी पीठ और बाजू बिल्कुल सीधी होनी चाहिए। इस क्रिया को 15 से अधिक बार ना करे| (यदि इस क्रिया को करते वक्त आपको कमर के निचले हिस्से में दर्द महसूस होता हो तो इसे बिल्कुल भी न करे (2)अनुलोम विलोम--- गर्भावस्था में अनुलोम विलोम आसन करने से शरीर में रक्त का संचार बढ़ता है। इसे करने से रक्तचाप नियंत्रित होता है| प्रेगनेंसी में तनावरहित रहने के लिए इस आसन को जरूर करना चाहिए| इस आसन को करने के लिए सबसे पहले आराम से बैठे इसके बाद दाएं हाथ के अंगूठे से नाक का दाया छिद्र बंद करें और अपनी सांस अंदर की ओर खींचे। फिर उसी हाथ की दो उंगलियों से बाईं ओर का छिद्र बंद कर दें और अंघूटे को हटाकर दाईं ओर से सांस छोड़ें। इस प्रक्रिया को फिर नाक के दूसरे छिद्र से दोहराएँ। (3)---पर्वतासन गर्भावस्था में पर्वतासन करने से कमर के दर्द से निजाद मिलती है| इसे करने से आगे चलकर शरीर बेडौल नहीं होता है| इस आसन को करने के लिए सर्व प्रथम आरामआराम से बैठे। इस वक्त आपकी पीठ सीधी होनी चाहिए| अब सांस को भीतर लेते हुए दोनों हाथों को ऊपर की ओर उठाएं और हथेलियों को नमस्ते की मुद्रा में जोड़ लें। कोहनी सीधी रखें। कुछ समय के लिए इसी मुद्रा में रहें और तत्पश्चात सामान्य अवस्था में आ जाएं। इस आसन को दो या तीन से ज्यादा ना करे| योग आसन करने से पहले अपने डॉक्‍टर की सलाह जरूर लें।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मै आप से ये जानना चाहती हूँ की 22 वीक से ही कमर मे दर्द होता है क्या मुझे बहुत दर्द होता है
उत्तर: ha hota hai koi problm nh h calcium iron leti रहे or dr se consult kriye
»सभी उत्तरों को पढ़ें