20 weeks pregnant mother

मैरे उल्टा पाओ भी रोज़ बोहत दर्द कर्ता हें

सवाल
हेलो डियर प्रेगनेंसी में पैरों तक पर्याप्त रक्त संचार न हो पाने के कारण उसमें ऑक्सीजन की कमी से पैर दर्द होने लगता है। यह घुटनों, और पैरों की उँगलियों में भी होता है। कभी कभी पैर सुन्न पड़ सकता है।बदलते हॉर्मोन्स लेवल से पैरों में दर्द होता है। जैसे गर्भाशय का आकार बढ़ता है उस प्रकार बदन की निचली मांसपेशियां ढीली पड़ने लगती हैं। इस कारण महिलाओं में पैर दर्द होता है। बढ़ते वज़न के कारण उसकी पैरों की हड्डी पर प्रभाव पड़ता है जिससे मांसपेशियों और पैरों में दर्द होता है। पैरों के दर्द से बचने के लिए पैर की उँगलियों को हलके हाथ से दबाएं। साथ ही गुनगुने तेल से मालिश करें! यह धीरे धीरे बेहतर परिणाम देगा। गर्भावस्था में ऊँची हील की सैंडल न पहनें। आरामदायम फ्लैट्स और ढीली चप्पलें पहनें। इनसे भी आपके पैरों और एड़ियों को आराम मिलेगा।
hello डियर """प्रेगनेंसी में दर्द होना कॉमन है आप कुछ घरेलू उपाय से पैर दर्द को दूर कर सकती हैं | 1) एक ही पोजीशन में लंबे समय तक खड़े या बैठे ना रहे पोजीशन चेंज करते रहे | 2)सरसों तेल में लहसुन को डालकर गर्म करें और इसी गर्म तेल से पैरों की हल्की हल्की मसाज kre.. 3)पैर को लटका कर ना बैठ | 4)पौष्टिक व संतुलित आहार लें | हल्की धूप, मैं बैठे ,धूप से seविटामिन डी मिलता है जो की मांसपेशियों को मजबूत बनाता है | 5) दूध ,पनीर, दही, सोयाबीन, हरी पत्तेदार सब्जियां आदि का प्रयोग भोजन में करें कैल्शियम में वृद्धि होगी ,जिससे आपके हड्डियों में मजबूती आएगी वशारीरिक दर्द में कमी होगी| 6)रात को सोते समय पैर को खुली हवा में ना रखें | 7)गर्म पानी में नमक डालकर कुछ समय तक पैरों को डूबा कर रखें इससे भी पैर दर्द में कमी आ सकती है|
हेलो डियर , प्रेगनेंसी में पैरों में दर्द होना बहुत ही कॉमन है इसका कारण वजन बढ़ जाना है जिससे खून का प्रवाह कम हो जाता है और दूसरा कारण पोटेशियम कैल्शियम मैग्नीशियम जैसे खनिज की कमी भी हो सकती है पैर दर्द से बचने के लिए आप स्टेचिंग करें पैर के पंजों को हल्का-हल्का घुमाएं हर रोज हल्की फुल्की वॉक करें जिससे पैरों की मांसपेशियां मजबूत होंगी और दर्द कम होगा साथ ही खाने में हरी सब्जियां फल फ्रूट जूस यह सब ले जिससे आपके शरीर में पोषक तत्वों की कमी नहीं होगी अगर कभी पैर में दर्द ज्यादा हो तो आप गर्म पानी में नीम के पत्ते डालकर boil Kare , गर्म पानी को गुनगुना करें और पैर dubaa कर रखें पैर दर्द में आराम मिलेगा
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: हाथ पाओ में खुजली होती हें ये नोर्मल हें
उत्तर: प्रेगनेंसी होर्मोनेस की वजह से और अभी ठण्ड के मौसम में ड्राई स्किन की वजह से ऐसा हो सकता है. आप गुनगुने पानी से नहाने के बाद बॉडी पे अच्छा मॉइस्चरीज़र या नारियल तेल लगाए. आपको राहत होगी. आप पानी में थोड़ा बेबी आयल डालकर भी नाहा सकते हो. सिर्फ २- ४ बून्द. तो बॉडी मॉइस्चराईस रहेगा और खुजली कम होगी.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मुझे 5 महीने हें ओर मुझे 1 महीने से ही पेट दर्द कर्ता हें और मुझे अब पेसाब भी बहुत आता हें
उत्तर: हेलो डियर प्रेग्नेंसी में यदि पेट दर्द हो रहा है तो आप इसके लिए चिंता बिल्कुल भी ना करें kyuki जैसे जैसे बच्चे का विकास होता जाता है वैसे ही यूट्रस भी फैलते जाता है और इसके वजह से पेट के मसल्स और लिगामेंट भी strech होने लगते हैं इसके वजह से पेट दर्द हो सकता है ya फिर कभी कभी पेट दर्द के कारण गैस और कब्ज बनना भी होता है अगर गैस की समस्या हो रही होगी तो आप हर सुबह हल्के गुनगुने पानी में नींबू और शहद मिलाकर पिए| बहुत ज्यादा पेट दर्द की समस्या हो रही होगी तो आप तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें गर्भावस्था के दौरान बार बार पेशाब आने के बहुत सारे कारण होते हैं जैसे हार्मोन में परिवर्तन, यूरिन में पाया जाने वाला एचसीजी हार्मोन इस समय बहुत सक्रिय हो जाता है जिसके कारण यहां पर भी गौर वैजाइनल क्षेत्र के एरियाmuscels मे रक्त प्रभाव को बढ़ा देता है जिसकी वजह से यह ज्यादा अच्छे से काम करने लगते हैं गर्भावस्था के दौरान रक्त का स्तर बढ़ जाने के कारण अतिरिक्त तरल पदार्थ बनते हैं जो किडनी में एकत्रित होते हैं और हमें बार बार यूरिन लगता है इस समय आप बार बार यूरिन जाने से बचने के लिए कुछ उपाय कर सकते हैं जैसे अगर आपको चाय कॉफी पीने की बहुत ज्यादा आदत होगी तो इसे आपको छोड़ना चाहिए क्योंकि यह पदार्थ एक डाइयुरेटिक्स जैसा काम करते हैं जो अधिक मूत्र बनाने बनाने में हेल्प करते हैं जिसकी वजह से हमें बार बार यूरिन लगता है जब आप पेशाब करते हैं तो मूत्राशय को पूरी तरह से खाली करने के लिए आपको आगे की और थोड़ा झुकना चाहिए इसे urine से पूरी तरह से खाली हो जाता है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mere beta abhi 1 साल का हें ऑर उसे ज़ुकाम हो गया हें ऑर पोहति बोहत कर्ता हें मे kaya करू
उत्तर: हेलो डियर आपके बेबी को अगर जुखाम हो जाता है तो आप सरसो के तेल में थोड़ा अजवायन और एक जवा लहसुन डाल कर धीमे आंच पर पका दे जब तेल ठंडा ही जाए तब इसी तेल से बेबी के हाथ पैर के तलुए पे तेल से मालिश करे और फिर बॉडी पर मालिश करे इससे आपके बेबी के जुखाम में बहुत आराम मिलेगा आपके बेबी को अगर अक्सर जुखाम हो जाता है तो आप अपने बेबी को सप्ताह में 3 से 4 बार ही गुनगुने पानी से नहलाये , आप अपने बेबी को मौसम के अनुकूल कपड़े पहनाये, जुखाम होने पर आप कुछ सहजन ली पत्तियों को तोड़कर नारियल के तेल मे पका दे जब पत्तियां सुख जाए अब आप इस तेल को ठंडा करके बेबी के सर पे लगा के मालिश कर दे और बॉडी में भी लगा दे इससे आपके बेबी का जुखाम ठीक हो जाएगा
»सभी उत्तरों को पढ़ें