18 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: मैम मुझे नींद बहुत आती ह

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर आपको 18 वीक की प्रेग्नेंसी चल रही है प्रेगनेंसी में हारमोंस बदलाव के कारण शारीरिक परिवर्तन आता है जिसके कारण नींद आना बहुत ही सामान्य प्रॉब्लम है इसके लिए आप परेशान ना हों अधिक से अधिक आराम करें नींद ना आने के लिए आप कोशिश ना करें जितनी अच्छी नींद आएगी बेबी का विकास उतना ही अच्छे से होगा इसलिए कोशिश करें कि जब भी आपको नींद आए आप थोड़ी सी नींद ले लें अगर लंबे समय तक सोते नहीं बन रहा है आपकी अच्छी नींद से आपको शारीरिक व मानसिक रुप से राहत मिलेगा शारीरिक दर्द में कमी आएगी और बेबी के विकास में भी मदद मिलेगा इसलिए आप परेशान बिल्कुल भी ना होए
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mjhe aalas or nind bhut ati h m kya kru
उत्तर: hello dear इसमें कोई परेशानी वाली बात नहीं अक्सर गर्भावस्था की शुरुआत में ऐसा होना सामान नहीं है क्योंकि यह गर्भावस्था के लक्षणों में से एक है जोकि गर्भावस्था के पहले 3 महीनों में अक्सर गर्भवती महिलाओं में देखा जाता है इस स्थिति में आपको अधिक से अधिक आराम करना चाहिए ज्यादा चलने फिरने थकने वाले काम ना करें अपने डायट में सरल सुपाच्य फल फूल आदि ने और अधिक से अधिक मात्रा में पानी पिए
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Mam मुझे नींद bhut एटीआई h
उत्तर: हेलो डियर प्रेगनेंसी के शुरुआत में बहुत ज्यादा हार्मोन बदलाव रहता है जिसके कारण नींद आती है कमजोरी महसूस होती है कुछ करने का मन नहीं करता है कुछ खाने पीने का मन नहीं करता है आधी यह सब लगा रहता है धीरे-धीरे 3 महीने के बाद आप थोड़ा बैटर फील महसूस करने लगेंगे आपको नींद आती है आप अच्छे से अपनी नींद पूरी करें कोई प्रॉब्लम की बात नहीं है बाकी थोड़ा बहुत एक्टिव रहना अच्छा रहता है प्रेगनेंसी में कोशिश करें कि आप थोड़े बताते भी रहे पर अगर अभी नहीं हो पाता है तो कोई बात नहीं रेस्ट करें धीरे-धीरे आपको बेहतर महसूस होने ना देगा आपके अंदर खुद से एक्टिविटी आने लगेगी चिंता नहीं करें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mam kbi kni mjhe din m nind nhi ati hn ?
उत्तर: ज्यादा वक्त सीधे पीठ के बल नहीं सोना चाहिए वर्ना रक्त का प्रवाह सही न होने पर कई परेशानियां हो सकती हैं और कोई भी परेशानी नींद खराब कर सकती है. लेफ्ट सोने का ट्राइ करे , किडनी यूटेरेस तक खुनप्रवाhअच्छा होगा .. जिसे आपकी नीन्द ना आने की तकलीफ़ कम होगी ..प्रेग्नेंसी के दौरान की जाने वाली एक्सरसाइज और टहलना नियमित रखें,इससे शरीर में रक्तका प्रवाह सही बना रहता है, रात में पैरों में ऎंठन की परेशानी कम करने में मदद मिलती है,इसके अलावा रात मे सोने से पहले एक ग्लास गरम मिल्क पी कर सोएं इससे हाथ पैर मे दर्द भी कम होगा और नीन्द भी ठीक से आएगी . आपको सोने मे ज़्यादा प्रॉब्लम हो तो आज प्रेग्रेंसी pillow का bhi use कर सकते है ,ये बहुत आरामदायक होता है
»सभी उत्तरों को पढ़ें