Planning for pregnancy

Question: मैन मेरा पिछला महीना 25 दिसंबर को आया था और अब तक नहीं आया है तो क्या मैं प्रेग्नेंट हूं लेकिन मैं अपने जानकारी के लिए पर मैं दो बार टेस्ट करवाई हूं और की भी हूं तो रिजल्ट नेगेटिव आया है तो क्या बता सकती हैं कि मेरा मासिक महीना क्यों रुक गया है क्यों

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर , आप अगर किट से चेक करने पर निगेटिव आ या है तो आप प्रेग्नेन्ट नही है ऐसा कभी कभी होता है की मासिक हार्मोन की अनियमित होने की वजह से मासिक लेट आता है इसके बारे में आप डॉक्टर को दिखा देना चाहिये , ताकि आपको सही से पता चल सेक की आपका मासिक क्यू नही आया है !
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मैंने 10 जनवरी को रिलीज हुई थी उसके बाद मैंने 11 फरवरी को टेस्ट किया तो पॉजिटिव रिजल्ट आया मैन क्या आप मैं प्रेग्नेंट हूं अगर प्रेग्नेंट हो तो कितने वीक
उत्तर: result positive h toh obiously aap pregnent h . aapko 6 weeks pregnent h aap . congratulation . apna dhyan rkhna . or doctor ko dikhao .
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हेलो मैम मैं 1 मंथ प्रेग्नेंट हूं और मेरे पेट में हल्का हल्का दर्द भी होता है पता नहीं क्यों क्या कोई प्रॉब्लम तो नहीं है
उत्तर: प्रेगनेंसी में कभी कभी पेट में और आपकी छाती में या स्तन में दर्द होना आम बात है| प्रेग्नेंसी के दौरान आपका गर्भाशय बड़ा हो रहा है जिसकी वजह से डायाफ्राम पर भी प्रेशर आता है| डायाफ्राम पेट और छाती को अलग करने वाली एक पतली सी झिल्ली है| तो इस वजह से आपको ब्रेस्ट में थोड़ा पेन हो सकता है| प्रेग्नेंसी के दरमियान ब्रेस्ट का कद भी थोड़ा बढ़ता है और इस प्रक्रिया के दरमियान भी थोड़ा दर्द होता है| प्रेगनेंसी में पेट और छाती या ब्रेस्ट में दर्द का दूसरा कारण इनडाइजेशन या गैस की समस्या हो सकता है| प्रेगनेंसी में कई चीजों खाने से इनडाइजेशन हो सकता है और जिससे गैस की समस्या से कारण पेट या तो फिर छाती में दर्द या जलन होता है| ऐसा ना हो इसके लिए आप खाने में ध्यान रखें| ज्यादा ऑइली य स्पाइसी फूड ना खाएं| और जब भी खाना खाए थोड़ा-थोड़ा करके ज्यादा बार खाए एक बार बहुत सारा खाना ना खाए|
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मुजे जून मे महीना नही आया और मैंने प्रेगनेन्सी टेस्ट भी किया पर रिजल्ट नेगेटिव था फिर ये क्यों हुआ
उत्तर: महिलाओं में माहवारी रुकने या पीरियड से जुडी कठिनाइयाँ एक आम समस्या है | अधिकतर मामलो में माहवारी नहीं आने या माहवारी रुकने के कई कारण होते हैं, लेकिन महिलाओं को इस बात का डर बैठ जाता है कि कहीं फिर से गर्भावस्था तो नहीं हो गयी है | यह डर महिलाओं में तनाव को बढ़ाता है | इस प्रक्रिया में अच्छा व बुरा संकेत होना भी प्राकृतिक प्रक्रिया है | अचानक माहवारी रुकने होने पर महिलाओं को घबराने की जरूरत नहीं है. यह कई अन्य कारणों से भी हो सकता है तथा आप इसे अपने भोजन में मामूली बदलाव करके तथा कुछ घरेलू नुस्खो की सहायता से आसानी से पीरियड नियमित कर सकती है | **माहवारी रुकने के कारण** माहवारी रुकने का एक प्रमुख कारण शरीर में खून की कमी होती है। इसके अलावा शारीरिक श्रम कम करने, ज्यादा मानसिक तनाव, क्रोध-भावुकता से भी माहवारी रुक सकती है। ज्यादा ठंडी चीजें खाने और भोजन में अनियमितता से भी यह परेशानी आती है। माहवारी के समय अधिक ठंडी चीजे खाना, सर्दी लगना, ऋतु के समय खाने पीने में असावधानियाँ करना आदि कारणों से माहवारी रुक जाती है। या देर से आती है। इस दौरान आपका वजन तेजी से बढ़ा या घटा हो | मलेरिया, टाइफाईड , पीलिया हुआ हों, ऐसी बिमारियों की वजह से भी पीरियड्स बंद हो सकते हैं या देरी से हो सकते हैं | थाइराइड की समस्या बढ़ जाये या मोटापे जैसी समस्या होने पर भी महिलाओं में माहवारी रुकने की कठिनाई हो सकतीहै | गर्भ निरोधक गोलियों के लगातार सेवन से या एक साल से ज्यादा तक ये गोलियां लेने से दो तीन महीने तक पीरियड्स बंद या माहवारी रुकने की समस्या हो सकती हैं |
»सभी उत्तरों को पढ़ें