कुछ हफ्ते का बच्चा

Question: मैडम जी, मुझे Epilepsy की बीमारी है ! स्तनपान karane से बच्चे को कोई असुविधा तो नही आयेगी ??

0 Answers
सवाल
अभी तक इस सवाल का कोई जवाब नहीं है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: लेकिन अगर मैं पहले बच्चे को स्तनपान कराती हूं तो उसे तो कोई बीमारी नहीं होती । सब लोग कहते हैं कि सांस की बीमारी हो जाती है
उत्तर: हेलो डियर दूसरी बार गर्भवती होने पर आप अपने पहले बच्चे को स्तनपान करा सकती हैं। इससे आपकी गर्भावस्था या आपके गर्भ में पल रहे शिशु को किसी भी तरह नुकसान नहीं पहुंचता।यदि आपकी गर्भवस्था सही चल रही है और आप स्वस्थ हैं, तो गर्भावस्था के दौरान स्तनपान करवाने में कोई दिक्कत नहीं है। आपको केवल यह सुनिश्चित करना होगा कि आप पौष्टिक खाना खाएं और पर्याप्त मात्रा में पानी पीएं, ताकि आप और आपके शिशु दोनों को जरुरी पोषक तत्व मिल सकें। यदि आप मिचली और उल्टी से परेशान हैं, तो जो कुछ भी आप खा पा रही हों वह अवश्य खाएं।आपका पहला प्रसव समय से पहले हुआ थाआपका पहले गर्भपात हो चुका हैगर्भावस्था के दौरान आपका वजन पर्याप्त नहीं बढ़ रहाआपको रक्तस्त्राव या खून के धब्बे हो रहे हैं गर्भावस्था के चौथे या पांचवें महीने में आपका स्तनदूध फिर से कोलोस्ट्रम में बदल जाएगा। यह वह गाढ़ा, पौष्टिक पहला दूध होता है, जिसकी जरुरत नवजात शिशु को जन्म के शुरुआती कुछ दिनों तक होगी। आपका बड़ा बच्चा दूध में आए इस अंतर को पहचान सकेगा, क्योंकि आपके दूध का स्वाद अलग होगा और इसकी मात्रा भी कम होगी। यदि वह पहले से ही ठोस आहार खा रहा है, तो शायद वह खुद ही अब कम दूध पीना चाहे। इस समय शायद वह खुद ही स्तनपान करना छोड़ दे या फिर हो सकता है कि वह खुशी-खुशी स्तनपान जारी रखे। इस बात कि चिंता न करें कि वह आपका कोलोस्ट्रम पी रहा है। आपका शरीर यह विशेष दूध तब तक बनाना जारी रखेगा, जब तक आपके नवजात को इसकी जरुरत होगी।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मुझे सोरायसिस की बीमारी है इससे मेरे बच्चे को कोई फर्क तो नहीं पड़ेगा
उत्तर: हेलो डियर अगर माइल्ड सोरायसिस से बेबी को ज्यादा रिस्क नहीं होते है. अगर एक पैरेंट को सोरायसिस है to 10% चांसेस होते के बेबी मे पास हनी कई सोरायसिस क्या ..सबसे bade कंसर्न होती है मेडिसिन जो ट्रीट कर्न्री क्या लिए आप use कर्ते है. आप डॉक्टर से पूछ कर वही दवाई लीजिए जो इज टाइम सेफ है. कुछ दृग्स से बर्थ देफेक्त हो सकते भाई जिन्हे इज टाइम अवॉयड करना ज़रूरी है. कुछ केसेस मैं लेडीज़ को सोरायसिस kam हो जाता है इज टाइम . कॉमन ट्रीटमेंट फोतोथेरपी है जो प्रेगनेंसी मैं सोरायसिस क्या लिए use किया जाता है.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरे हस्बेंड को थाइरॉइड है इस कारण से मुझे कोई समस्या तो नही होगी या मुझे कोई ट्रीट्मेंट लेना होगा बेबी को कोई प्रॉब्लम तो नही आयेगी .
उत्तर: helloआप डॉक्टर के मेडिसिन के साथ-साथ कुछ घरेलू उपाय भी कर सकती हैं जिससे आपका थायराइड कंट्रोल रहेगा मिलाकर रोज सेवन करने से आपको थायराइड में फायदा होगाआप अदरक की चाय पी सकते हैं एक कप पानी में कम से कम दो से तीन अदरक के टुकड़े छोटे-छोटे करके डालने और उसे उबलने दे जगह पानी उबल जाए तो उसमें अपने स्वाद के अनुसार शक्कर थोड़ा सा डाल कर आप उसे छानकर पी लेंलौकी का सेवन प्रतिदिन करें लौकी की सब्जी या लौकी का जूस का उपयोग करने से भी थायराइड में बहुत फायदा होता है अखरोट का सेवन प्रतिदिन करें एक से दो अखरोट रोज अपने दिनचर्या में शामिल करेंऔर आप परेशान ना हो आप के बेबी को इस से कोई तकलीफ नहीं होगी
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मुझे स्लिप डिस्क की परेशनी है तो मुझे प्रेगनेट मैं कोई दिक्कत तो नही आयेगी
उत्तर: इस रोग में दो-तीन सप्‍ताह में फिजियोथेरेपी व आराम करने से राहत मिल जाती है। चिकित्‍सक की सलाह पर दर्द निवारक दवाएं भी ले सकते हैं। – दर्द कम होने के बाद ही फिजियोथेरेपी करा– फिजियोथेरेपी व दवाओं से आराम नहीं पहुंचता है तो इसकी सर्जरी करानी पड़ती है। – उठने, चलने, बैठने में असहनीय पीड़ा हो तो तत्‍काल मरीज का अस्‍पताल में भर्ती करा देना च – आमतौर पर स्लिप डिस्‍क की सर्जरी सफल रहती है, कभी-कभी सफल नहीं होती है। – सर्जरी के बाद कम से कम 15-20 दिन आराम करना चाहिए। सर्जरी के बाद की जाने वाली एक्‍सरसाइज़ योग्‍य फिजियोथेरेपिस्ट से ही कराएं। – सर्जरी के बाद हार्ड बेड पर सोना चाहिए, झुककर कोई काम न करें, लंबे समय तक एक ही पोज़ीशन में न बैठें, झटके न उठें और वज़न नियंत्रित – रोतीन से छह किलोमीटर पैदल चलें। – देर तक कुर्सी पर झुककर न बैठें। – सामान्‍य शारीरिक श्रम दिनचर्या में शामिल करें। – लंबे समय तक एक ही पोजीशन में न तो बैठें और न खड़े रहें। – जल्‍दीबाजी में कोई भारी सामान न उठाएं। – हाई हील्स व फ्लैट चप्पल पहनने से बचें। – आराम से सीढ़ियों पर चढ़ें-उतरें। – कुर्सी पर जब बैठें तो एक पैर दूसरे पर न चढ़ाएं। – झुककर कोई सामान न उठाएं। – अत्‍यधिक मुलायम गद्दों पर सोने से परहेज़ करें। – ज़्यादा ऊंची तकिया न लगाएं। – लंबी ड्राइविंग में गर्दन व पीठ के लिए कुशन का इस्‍तेमाल करें। – इधर-उधर देखने के लिए गर्दन को ज़्यादा मोड़ने की बजाय शरीर को घुमा लें। – पेट के बल या उल्‍टे होकर सोने से परह dr se ek bar baat kariye.
»सभी उत्तरों को पढ़ें