3 महीने का बच्चा

Question: मैं घर में बच्चें को अकेली sambhalti हू ज़्यादा नॉलेज नही है मुझे मेरी सास को भी कृपया मुझे बताये के मैं दीन्भर कैसे बेबी की देखभाल करु कैसे बाथ दू कब मालिश या लोई किसे कैसे कब कितनी देर करु और कितनी बार रात दिन मे दूध पिलाउ

0 Answers
सवाल
अभी तक इस सवाल का कोई जवाब नहीं है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मैंम, मैं एक कामकाजी महिला हूँ और जॉइंट फॅमिली में रहती हूँ। सास-ससुर की देखभाल ,बच्चों को देखना और खाना बनान इतना सब करने के बाद भी मेरे पति मेरी एक भी मदद नहीं करते हैं और मेरी सास भी किसी भी काम के लिए मेरे पति को नहीं बोलतीं हैं। हर छोटे बड़े काम के लिए मुझे ही बुलातीं है। मुझे प्यार भी करतीं हैं। लेकिन मुझे लगता है मेरी भावनाओं को कोई नहीं समझ रहा है। कभी-कभी मैं डिप्रेशन में आ जाती हूँ कि हर काम मैं ही क्यों करूँ। कुछ काम मेरे पति और घर के अन्य सदस्य मिलकर कर सकते हैं। कृपया सुझाव दीजिये कि इस तनाव को मैं कैसे कम करूँ ?
उत्तर: हैलो डियर, आपकी स्थिति को मैं समझ सकतीं हूँ। आप बिलकुल भी निराश न हो। थोड़ी हिम्मत रखें। मेरी स्थिति भी ऐसी ही थी मैंने थोड़ा प्यार परिवार में बांटा तो बदले में मुझे ढेर सारा प्यार मिला और साथ ही घर के अन्य सदस्यों ने मेरी मदद करना भी शुरू कर दिया। मैं कुछ सुझाव आपसे शेयर कर रही हूँ हो सकता है आपको भी मेरी तरह ही फायदा हो जाए। घर के लोग आपके दर्द को समझने लगें। एक दिन परिवार के सब सदस्यों के साथ एक छोटी सी चाय पार्टी करें और अपनी करंट सिचुएशन के बारे में बताएं। आपके परिवार के सदस्य आपसे प्यार करते हैं तो वे आपकी सहायता जरूर करेंगे। किचन में काम करते समय अपने आस-पास के लोगों से मदद लेने में संकोच न करें। अपने पति को अपनी ऑफिस और घर की स्थित के बारे में बताएं। ये यद् दिलाएं कि आप परिवार की आर्थिक मदद करने के लिए ऑफिस जाती है और मेहनत करतीं है। यदि मैं आपकी मदद में हाथ बता रही हूँ तो प्लीज आप भी मेरी स्थिति को समझो और जब आप घर पर हों तो थोड़ी मदद कर दें। यदि आपके पति समझदार है तो आपकी बात को जरूर समझेंगे। अपनी ननद और देवर यदि हैं तो उनसे भी अच्छे सम्बंद बना कर रखें। कभी -कभी उनको कुछ गिफ्ट दें। पूरे परिवार के साथ महीने में एक बार बाहर पिकनिक का प्रोग्राम बनायें। हलके फुल्के कामों में अपने बच्चों की भी मदद ले सकतीं है, जैसे - टेबल पर प्लेट लगाना ,सबको पानी देना आदि। इससे आपकी कुछ भागदौड़ बचेगी। एक बात का हमेशा ध्यान रखें कि किसी से भी चिल्लाकर या चिड़चिड़ा कर बात न करें। इससे नेगेटिव असर हो सकता है। आप किसी पर रूल नहीं कर रहीं हैं बल्कि आप मदद मांग रहीं हैं। जितना ज्यादा परिवार के साथ घुलमिलकर रहेंगी उतनी ज्यादा परिवार के लोग आपकी मदद करेंगे और आपका काम कम होगा और आप अपने और परिवार के लिए समय निकाल पाएंगी। खुश रहेंगी और तनाव कम होगा।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मैंम, मैं एक कामकाजी महिला हूँ और जॉइंट फॅमिली में रहती हूँ। सास-ससुर की देखभाल ,बच्चों को देखना और खाना बनान इतना सब करने के बाद भी मेरे पति मेरी एक भी मदद नहीं करते हैं और मेरी सास भी किसी भी काम के लिए मेरे पति को नहीं बोलतीं हैं। हर छोटे बड़े काम के लिए मुझे ही बुलातीं है। मुझे प्यार भी करतीं हैं। लेकिन मुझे लगता है मेरी भावनाओं को कोई नहीं समझ रहा है। कभी-कभी मैं डिप्रेशन में आ जाती हूँ कि हर काम मैं ही क्यों करूँ। कुछ काम मेरे पति और घर के अन्य सदस्य मिलकर कर सकते हैं। कृपया सुझाव दीजिये कि इस तनाव को मैं कैसे कम करूँ ?
उत्तर: हैलो डियर, आपकी स्थिति को मैं समझ सकतीं हूँ। आप बिलकुल भी निराश न हो। थोड़ी हिम्मत रखें। मेरी स्थिति भी ऐसी ही थी मैंने थोड़ा प्यार परिवार में बांटा तो बदले में मुझे ढेर सारा प्यार मिला और साथ ही घर के अन्य सदस्यों ने मेरी मदद करना भी शुरू कर दिया। मैं कुछ सुझाव आपसे शेयर कर रही हूँ हो सकता है आपको भी मेरी तरह ही फायदा हो जाए। घर के लोग आपके दर्द को समझने लगें। एक दिन परिवार के सब सदस्यों के साथ एक छोटी सी चाय पार्टी करें और अपनी करंट सिचुएशन के बारे में बताएं। आपके परिवार के सदस्य आपसे प्यार करते हैं तो वे आपकी सहायता जरूर करेंगे। किचन में काम करते समय अपने आस-पास के लोगों से मदद लेने में संकोच न करें। अपने पति को अपनी ऑफिस और घर की स्थित के बारे में बताएं। ये यद् दिलाएं कि आप परिवार की आर्थिक मदद करने के लिए ऑफिस जाती है और मेहनत करतीं है। यदि मैं आपकी मदद में हाथ बता रही हूँ तो प्लीज आप भी मेरी स्थिति को समझो और जब आप घर पर हों तो थोड़ी मदद कर दें। यदि आपके पति समझदार है तो आपकी बात को जरूर समझेंगे। अपनी ननद और देवर यदि हैं तो उनसे भी अच्छे सम्बंद बना कर रखें। कभी -कभी उनको कुछ गिफ्ट दें। पूरे परिवार के साथ महीने में एक बार बाहर पिकनिक का प्रोग्राम बनायें। हलके फुल्के कामों में अपने बच्चों की भी मदद ले सकतीं है, जैसे - टेबल पर प्लेट लगाना ,सबको पानी देना आदि। इससे आपकी कुछ भागदौड़ बचेगी। एक बात का हमेशा ध्यान रखें कि किसी से भी चिल्लाकर या चिड़चिड़ा कर बात न करें। इससे नेगेटिव असर हो सकता है। आप किसी पर रूल नहीं कर रहीं हैं बल्कि आप मदद मांग रहीं हैं। जितना ज्यादा परिवार के साथ घुलमिलकर रहेंगी उतनी ज्यादा परिवार के लोग आपकी मदद करेंगे और आपका काम कम होगा और आप अपने और परिवार के लिए समय निकाल पाएंगी। खुश रहेंगी और तनाव कम होगा।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मैंम, मैं एक कामकाजी महिला हूँ और जॉइंट फॅमिली में रहती हूँ। सास-ससुर की देखभाल ,बच्चों को देखना और खाना बनान इतना सब करने के बाद भी मेरे पति मेरी एक भी मदद नहीं करते हैं और मेरी सास भी किसी भी काम के लिए मेरे पति को नहीं बोलतीं हैं। हर छोटे बड़े काम के लिए मुझे ही बुलातीं है। मुझे प्यार भी करतीं हैं। लेकिन मुझे लगता है मेरी भावनाओं को कोई नहीं समझ रहा है। कभी-कभी मैं डिप्रेशन में आ जाती हूँ कि हर काम मैं ही क्यों करूँ। कुछ काम मेरे पति और घर के अन्य सदस्य मिलकर कर सकते हैं। कृपया सुझाव दीजिये कि इस तनाव को मैं कैसे कम करूँ ?
उत्तर: हैलो डियर, आपकी स्थिति को मैं समझ सकतीं हूँ। आप बिलकुल भी निराश न हो। थोड़ी हिम्मत रखें। मेरी स्थिति भी ऐसी ही थी मैंने थोड़ा प्यार परिवार में बांटा तो बदले में मुझे ढेर सारा प्यार मिला और साथ ही घर के अन्य सदस्यों ने मेरी मदद करना भी शुरू कर दिया। मैं कुछ सुझाव आपसे शेयर कर रही हूँ हो सकता है आपको भी मेरी तरह ही फायदा हो जाए। घर के लोग आपके दर्द को समझने लगें। एक दिन परिवार के सब सदस्यों के साथ एक छोटी सी चाय पार्टी करें और अपनी करंट सिचुएशन के बारे में बताएं। आपके परिवार के सदस्य आपसे प्यार करते हैं तो वे आपकी सहायता जरूर करेंगे। किचन में काम करते समय अपने आस-पास के लोगों से मदद लेने में संकोच न करें। अपने पति को अपनी ऑफिस और घर की स्थित के बारे में बताएं। ये यद् दिलाएं कि आप परिवार की आर्थिक मदद करने के लिए ऑफिस जाती है और मेहनत करतीं है। यदि मैं आपकी मदद में हाथ बता रही हूँ तो प्लीज आप भी मेरी स्थिति को समझो और जब आप घर पर हों तो थोड़ी मदद कर दें। यदि आपके पति समझदार है तो आपकी बात को जरूर समझेंगे। अपनी ननद और देवर यदि हैं तो उनसे भी अच्छे सम्बंद बना कर रखें। कभी -कभी उनको कुछ गिफ्ट दें। पूरे परिवार के साथ महीने में एक बार बाहर पिकनिक का प्रोग्राम बनायें। हलके फुल्के कामों में अपने बच्चों की भी मदद ले सकतीं है, जैसे - टेबल पर प्लेट लगाना ,सबको पानी देना आदि। इससे आपकी कुछ भागदौड़ बचेगी। एक बात का हमेशा ध्यान रखें कि किसी से भी चिल्लाकर या चिड़चिड़ा कर बात न करें। इससे नेगेटिव असर हो सकता है। आप किसी पर रूल नहीं कर रहीं हैं बल्कि आप मदद मांग रहीं हैं। जितना ज्यादा परिवार के साथ घुलमिलकर रहेंगी उतनी ज्यादा परिवार के लोग आपकी मदद करेंगे और आपका काम कम होगा और आप अपने और परिवार के लिए समय निकाल पाएंगी। खुश रहेंगी और तनाव कम होगा।
»सभी उत्तरों को पढ़ें