15 weeks pregnant mother

Question: मेरे uterus मे fibroids है ऑर प्रेग्नेन्सी भी है क्या मेरा बेबी नॉर्मल हो jayega डॉक्टर बोलरी के अगर ऑपरेशन हुआ तो uterus भी निकाल सकते है मेरा अभी पहला बेबी है मै क्या करु

1 Answers
सवाल
Answer: मम मेरा 4 मंथ प्रेग्नेन्सी एच बच्चे की रीडर की हड्डी एम फ़ोद एच ऑर शर मा पनि क्या karu
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरा पहला बच्चा ऑपरेशन से हुआ है तो क्या दूसरा बेबी भी ऑपरेशन से ही होगा
उत्तर: सीसेक्शन डिलिवरी के 2 साल बाद आप नॉर्मल डिलिवरी के लिई ट्राइ कर सकती है , आपको नॉर्मल डिलिवरी हो सकती है . नॉर्मल डिलीवरी के लिए किसी अच्छे डॉक्टर से मिले जो कि ऑपरेशन से ज्यादा नार्मल डिलीवरी को महत्व देते हो, अपने खानपान का भी विशेष ध्यान रखें ,एक्टिव रहे walk करें ब्रिदिंग एक्सरसाइज़ करें हाइड्रेट रहें स्ट्रेस ना लें वॉक करे ,आपकी पेल्विक मसल्स और थाइज़ स्ट्रॉंग बनेंगी, जिससे आपको लेबर पेन में दर्द कम होगा Walk Kare पर उतना ,जितने में थकान ना हो एक्टिव रहने की कोशिश करें . Deliveryके बारे में जानकारी लें ,मानसिक व शारीरिक रूप से तैयार रहें लगातार डॉक्टर के संपर्क में रहे डॉक्टर द्वारा बताई गई सारी दवाईयां सारे टेस्ट टाइम पर करें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: अगर मेरा पहला बच्चा ऑपरेशन से हुआ है तो क्या दूसरा बच्चा भि ऑपरेशन से होगा .. पहला बच्चा हुए ढाइ साल हुआ है
उत्तर: hello अगर पहली डिलीवरी सी सेक्शन से हुई है तो जरूरी नहीं कि दूसरी भी c-section से ही हो पहली डिलीवरी में जो कॉम्प्लिकेशन रहे होंगे अगर वह कॉम्प्लिकेशंस डिलीवरी में नहीं आये तो आपको यह डिलीवरी नॉर्मल हो सकता है। अगर आपके दोनों डिलीवरी के बीच। 3 साल का अंतर है तो नॉर्मल डिलीवरी के चांसेस हैं।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: अभी मेरा सेकण्ड प्रेगनेन्सी है पहला बेबी ऑपरेशन से हुवा है क्या सेकण्ड बेबी नॉर्मल डिलिवरी नॉर्मल हो सकता है ???
उत्तर: सीसेक्शन डिलिवरी के 2 साल बाद आप नॉर्मल डिलिवरी के लिई ट्राइ कर सकती है , आपको नॉर्मल डिलिवरी हो सकती है . नॉर्मल डिलीवरी के लिए किसी अच्छे डॉक्टर से मिले जो कि ऑपरेशन से ज्यादा नार्मल डिलीवरी को महत्व देते हो, अपने खानपान का भी विशेष ध्यान रखें ,एक्टिव रहे walk करें ब्रिदिंग एक्सरसाइज़ करें हाइड्रेट रहें स्ट्रेस ना लें वॉक करे ,आपकी पेल्विक मसल्स और थाइज़ स्ट्रॉंग बनेंगी, जिससे आपको लेबर पेन में दर्द कम होगा Walk Kare पर उतना ,जितने में थकान ना हो एक्टिव रहने की कोशिश करें . Deliveryके बारे में जानकारी लें ,मानसिक व शारीरिक रूप से तैयार रहें लगातार डॉक्टर के संपर्क में रहे डॉक्टर द्वारा बताई गई सारी दवाईयां सारे टेस्ट टाइम पर करें
»सभी उत्तरों को पढ़ें