25 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: मेरे per मे etan होती h kyu

2 Answers
सवाल
Answer: hi dear गर्भावस्था के दौरान पेट में दर्द, पीड़ा और मरोड़ होना सामान्य बात है। अगर आपकी गर्भावस्था एकदम स्वस्थ चल रही है, तो पेट दर्द आमतौर पर चिंता का कारण नहीं होते।  गर्भ में शिशु के होने की वजह से आपकी मांसपेशियों, जोड़ों और नसों पर काफी दबाव पड़ता है। इससे आपको पेट के आसपास के क्षेत्र में काफी परेशानी महसूस हो सकती है। मजबूत, लचीले ऊत्तक व मांसपेशियां, जो आपकी हड्डियों को जोड़ते हैं, उनमें पूरी गर्भावस्था के दौरान बढ़ते गर्भ को सहारा देने के लिए खिंचाव होता है। इसलिए जब आप हिलती-डुलती हैं, तो आपको शरीर में एक या दोनों तरफ हल्का दर्द महसूस हो सकता है।थोड़ी देर के लिए बैठ जाएं।जिस तरफ दर्द हो रहा हो, उसके दूसरी तरफ होकर लेट जाएं और आराम करें।हल्के गर्म पानी से नहाएं।जहां दर्द हो रहा हो उस क्षेत्र में गर्म पानी की बोतल या गेहूं की छोटी पोटली से सिकाई करें। अगर आप गर्म पानी की बोतल का इस्तेमाल करें, तो इसमें गर्म पानी भरें और ध्यानपूर्वक इसे तौलिये या किसी मुलायम कपड़े में लपेट लें। व, गेहूं की पोटली एक कपड़े की पोटली होती है जिसमें गेहूं की भूसी भरी होती है। इस पोटली को माइक्रोवेव में कुछ मिनटों तक गर्म करना होता है। यह पोटली आपके शरीर के आकार के अनुसार ढल जाती है और एक घंटे या इससे ज्यादा के लिए गर्म रहती है।आराम करें। कई बार, sexकरने और पर भी मरोड़ या हल्का सा कमर दर्द हो सकता है। जिससे आपको बाद में मरोड़ जैसा महसूस हो सकता है।आप कैसा महसूस कर रही हैं,जादा परेशानी होने पर डॉक्टर को बताएं।
Answer: रिप्लाइ नही मिला muje
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरे पुरे शरीर मे खुजली होती है
उत्तर: हेलो डियर गर्भावस्था में खुजली होना एक आम बात है ।गर्भावस्था में जब आपके गर्भ में बच्चे का विकास होता है तो उस समय पेल्विक हिस्सा फैलाता है और खिंचाव होने के कारण शरीर में खुजली होने लगती है इस खुजली को कम करने के लिए आप निम्न उपाय अपना सकती हैं आप अपनी खुजली वाली जगह पर नारियल तेल लगाएं इससे आपको खुजली में बहुत आराम मिलेगा । आप ढीले कपड़े ही पहने। खुजली वाली जगह पर मॉश्चराइजर लगाएं। अपने शरीर की खुजली को कम करने के लिए ऐसे साबुन का प्रयोग करें जिसमें नमी हो।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेडम मेरा 16 हफ़्ता है ऑर मेरे पेट मे कोइ हालचाल नही होती aisa kyu
उत्तर: हेलो डियर आपका बेबी कुछ ही दिनों में मोमेंट करने लगेगा बच्चे की मूवमेंट आप 17 वें हफ्ते से 21 हफ्ते के बीच महसूस कर सकती हैं। इससे पहले आप शिशु की हलचल को महसूस नहीं कर सकती हैं। लेकिन, जैसे-जैसे वह बड़ा होने लगता है वैसे-वैसे उसके मूवमेंट में भी तेज़ी आने लगती है. पहली बार जब भ्रूण कि‍क मारता है तो आपको सनसनाहट जैसा महसूस होता है, जैसे कोई सरसराती चीज आपको छूती हुई निकल गई,जैसे एक मछली आसपास घूमती है, यानी संचलन जैसा आभास आप महसूस करेंगी।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरे पाओ मे जलन होती है
उत्तर: पैरो की जलन्ं दुर करने के उपाय अदरक अदरक के रस में थोड़ा सा जैतून तेल या नारियल तेल मिक्‍स कर के गरम कर लें और इससे अपने एडियों तथा तलवों पर 10 मिनट के लिये मालिश करें। आप चाहें तो शरीर में खून के दौरे को बढाने के लिये रोज एक छोटा अदरक का टुकड़ा चबाएं। विटामिन B3 विटामिन B3 खाने से तलवों के जलन से राहत मिलती है। इसके लिये आप अंडे का पीला भाग, दूध, मटर और बींस का सेवन कर सकती हैं। पैरों की मसाज पैरों की मसाज करने से पैरों में खून का प्रवाह तेज बनता है, जिससे पैर ना ही जलते हैं और ना ही उनमें दर्द होता है। सही प्रकार के जूते पहने आपको कभी भी बहुत टाइट जूते नहीं पहनने चाहिये, नहीं तो वह पैरों के खून के प्रवाह को धीमा कर देता है। नंगे पांव चलें हरी घांस पर नंगे पांव चलने पर पैरों का ब्‍लड सर्कुलेशन बढ़ता है। लौकी लौकी को घिस लें और या फिर उसके गूदे को निकाल कर पैरों के तलवों में लगाने से पैरों की गर्मी और जलन दूर होती है। सरसों हाथ-पैरों या पैरों के तलुवों में जलन होने पर सरसों का तेल लगाने से लाभ होता है। 2 गिलास गर्म पानी में 1 चम्मच सरसों का तेल मिलाकर रोजाना दोनों पैर इस पानी के अंदररखें। 5 मिनट के बाद पैरो को किसी खुरदरी चीज से रगड़कर ठण्डे पानी से धोने से पैर साफ रहते हैं और पैरों की गर्मी दूर होती है। मेहंदी मेहंदी और सिरके या नींबू के रस को मिला कर एक पेस्ट तैयार करें। पेस्ट को लगाने से जलन से छुटकारा मिलता है। धनिया सूखे धनिये और मिश्री को बराबर मात्रा में लेकर पीस लें। फिर इसको 2 चम्मच की मात्रा में रोजाना 4 बार ठंडे पानी से लेने से हाथ और पैरों की जलन दूर हो जाती है। मक्खन मक्खन और मिश्री को बराबर मात्रा में मिलाकर लगाने से हाथ और पैरों की जलन दूर हो जाती है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें