28 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: मेरे टमी में जलन होती हे क्यां करू

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर आपके पेट में जलन ऍसिडिटी की वजह से हो सकती है । एसिडिटी एक आम समस्या है जो प्रेगनेंसी के दौरान अधिकतर महिलाओं को हो जाती है।इससे बचने के लिये आप सन्तुलीत और पौस्तिक भोजन कीजिये।तैलीय और वसा युक्त भोजंन का सेवन मत किजिये।ज्यदा से ज्यादा मात्रा मे पानी पीजिये।चिन्ता मुक्त रहिए । एसी कोई भी चीज़ मत पिजिये या खाइये जिससे आपको ऍसिडिटी की समस्या हो ।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरे गेल में बहुत जलन होती ह म क्या करू
उत्तर: हेलो डियर-अक्सर महिलाओं को पहली बार गर्भावस्था के दौरान एसिडिटी और छाती या पेट में जलन दरद और गैस होती है।गर्भावस्था के दौरान सीने में जलन और दरद एसिडिटी शरीर में हॉरमोनल बदलावों के कारण होती है।तैलीय या चटपटा मसालेदार खाना चॉकलेट, खट्टे फल, चाय और कॉफी, एसिडिटी को बढ़ाते है।एक गिलास ठंडा दूध या एक कटोरी दही लेने से एसिडिटी और जलन में आराम मिलता है।गर्भावस्था मे 12 गिलास पानी पीना चाहीये।एसीडिटि से बचने के लिये सोने से करीब तीन घंटे पहले खाना खा लेना चाहिए जीर्ण भोजन न करें जल्दी पचने वाले हल्के और सुपाच्य भोजन और फल फुल जूस हरी सब्जियां आदि लें।खाना खाने के कम से कम एक घंटे बाद ही सोना चाहिए जादा परेशानि होने पर डाक्टर से सलाह लें।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरे पेरो मे बहुत जलन होती हे में क्या करू
उत्तर: aap apne pairo pe coconut oil se malish kiya kro or jab jyada jalan ho to multaani mitti se pero pe lape kiya kro aram milega
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मुझे गलें में बहोत जलन होती हे क्या करू
उत्तर: अक्सर महिलाओं को पहली बार गर्भावस्था के दौरान एसिडिटी और छाती या पेट में जलन और गैस होती है।गर्भावस्था के दौरान सीने में जलन और दरद एसिडिटी शरीर में हॉरमोनल बदलावों के कारण होती है। तैलीय या चटपटा मसालेदार खाना चॉकलेट, खट्टे फल, चाय और कॉफी, एसिडिटी को बढ़ाते है। एक गिलास ठंडा दूध या एक कटोरी दही लेने से एसिडिटी और जलन में आराम मिलता है। गर्भावस्था मे 12 गिलास पानी पीना चाहीये। एसीडिटि से बचने के लिये सोने से करीब तीन घंटे पहले खाना खा लेना चाहिए जीर्ण भोजन न करें जल्दी पचने वाले हल्के और सुपाच्य भोजन और फल फुल जूस हरी सब्जियां आदि लें।खाना खाने के कम से कम एक घंटे बाद ही सोना चाहिए जादा परेशानि होने पर डाक्टर से सलाह लें।
»सभी उत्तरों को पढ़ें