22 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: मेरे बैक मे पेन रहता है चलते चलते ठीक भी हो जाता है ऐसा क्यू होता है

2 Answers
सवाल
Answer: हेलो अच्छा hai back pain चलते चलते ठीक होजता है . पर बहुत जयाद वॉक यान चलना नही कीजिएगा . आप बिल्कुल परेशान ना हो .प्रेगनेंसी में जब हमारा शरीर बहुत सारी हारमोंस बदलावों से गुजरता है साथी बहुत सारे परिवर्तन हमारे शरीर के अंदर और बाहर होते हैं उसमें हमें कहीं ना कहीं ऐसा दर्द होते हैं .आप परेशान ना हो. अपना ध्यान रखें. कुछ घरेलू उपाय से आपको आराम मिल सकता है. आप सबसे पहले गर्म पानी की सिकाई कर सकती हैं. पेन रिलीफ वाले कोई से अपॉइंटमेंट लगा सकती हैं . अपने पैरों को थोड़ा ऊंचा रखकर सोए साथ ही जब भी आप उठे और बैठे आप ध्यान रखें कि आप सही तरीके से उठे और बैठे . आप आरामदायक जगह पर लेटे हैं. सही तरीके से लेट है. बैठने के समय भी अपना naram जगह पर बैठे. आप अपने खाने में पौष्टिक आहार लेने .पानी खूब पिएं . डॉक्टर की dihui सप्लीमेंट समय पर ले . दर्द होने पर आप कोई भी एक्सरसाइज या कोई भी ज्यादा काम ना करें . आप बहुत देर तक खड़ी भी ना रहे. अपना पूरा ध्यान रखें
Answer: पेट का भार लगातार नीचे की ओर होता है, इसलिए इस समय मांसपेशियों का पर दबाव ज्‍यादा होता है महिला के अंदर हर समय हो रहे हार्मोन में बदलाव भी दर्द का कारण बनते हैं दर्द को अगर कम करना है तो रात को सोते समय पीठ के बजाय करवट लेकर ही सोएं कमर पर कम दबाव पडें, इसके लिए अपने घुटनों के नीचे तकिया लगाकर सोएं, अपने घुटनों के बीच तकिया लगाकर सोने से भी आप कमर दर्द से बच सकते हैं इस समय हल्‍के तथा ढीले-ढाले कपड़े पहनने चाहिये, टाइट कपड़े पहनने से शरीर में खून का दौरा कम होने लगता है और इसी कारण मांसपेशियां दर्द होने लगती हैं, इसलिए सूती के आरामदायक कपड़े ही पहनने चाहिये, इसी के साथ हाई हील चप्‍पलें या जूते भी कमर की मांसपेशियों पर असर डालते हैं, जिस कारण दर्द होता है.
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरे पेट मे हलका हलका दर्द रहता है और कब्ज भी हो रही है पेट का दर्द भी कभी ऊपर नीचे होता है ऐसा क्यू हो रहा है
उत्तर: हेलो यूटरस की राउंड लिगामेंट्स में खिंचाव के कारण पेट में दर्द होता है .यह राउंड लिगामेंट्स mainly 2 uttako ke रूप में होती है .जो आपके यूट्रस को स्थिर रखते हैं .वह यूट्रस और fetal के बढ़ने के साथ खींचती है. पेट में दर्द lagbhag 18 से 24 वीक के बीच शुरू होता है. और एक तरफ दर्द होता है पर कभी कभी दोनों तरफ भी होता है. पेट ke अगर ऊपर दर्द होतो गैस की समस्या hoti है . प्रेगनेंसी में गैस बनना बहुत ही सामान्य बात है आप घबराएं नहीं. प्रेगनेंसी में प्रोजेस्ट्रोन हार्मोन में भी बढ़ोतरी होने की वजह से गैस और कब्ज की दिक्कत होती है. जब प्रोजेस्ट्रोन का लेवल बढ़ता है तो गेस्ट्रो इंटेस्टाइनल ट्रेक धीमा पड़ जाता है .तब खाया गया खाना बहुत धीमे धीमे पचता है और गैस और कब्ज की शिकायत होने लगती है. अगर आप गैस की प्रॉब्लम और कब्ज की प्रॉब्लम से बचना चाहती हैं तो बहुत ही सादा खाना खाएं और समय पर खाएं और अपने खाने में फाइबर जैसी चीजों को ज्यादा ले घरेलू उपचारों से आप को बहुत आराम मिलेगा. जैसे जीरे का शरबत बनाकर रखें एक गिलास पानी में एक चम्मच कच्चा जीरा पीस के डालने पर शक्कर डालने| चित्र खोलकर रख लें दिन भर में थोड़ा थोड़ा पिया. खाना खाने के बाद आधा चम्मच अजवाइन का चूर्ण ले ले| ध्यान रखें आपका पानी पीना बहुत जरूरी है. इससे भी आपको गैस में राहत मिलेगी. अपनी नींद समय पर ले कोई भी भारी खाना बहुत सारा एक साथ ना खाएं. खाना चबा चबा कर खाएं . दिन भर में थोड़ा-थोड़ा खाते रहे. प्रेगनेंसी में अगर आपको कॉन्स्टिपेशन हो रहा है तो हो सकता है आप टेंशन ले रही हूं या आप ज्यादातर बैठी रहती हूं या फाइबर कम ले रही हो आप ध्यान रखें इन सभी चीजों से आपको बचना है . प्रेगनेंसी में लेडीस को कब्ज उन हारमोंस की वजह से होता है जो Aaton की मांसपेशियों को आराम पहुंचाती हैं और पेट बढ़ने की वजह से यूट्रस पर पड़ने वाले दबाव को कम करती हैं. Aaton की मांसपेशियों को आराम मिलने की वजह से भोजन और अन्य पदार्थ सिस्टम से धीरे-धीरे बाहर निकलते हैं जिसके कारण कब्ज होता है. कभी-कभी आयरन की गोलियों की वजह से भी constipation होता है .इसके लिए आप आयरन सप्लीमेंट लेते समय साथ में खूब सारा पानी पिए. यदि ज्यादा कब्ज हो रहा है तो आप डॉक्टर की सलाह से अपनी आयरन की टेबलेट चेंज भी करवा सकती हैं. प्रेग्नेंसी में ये आहार जरूर लें पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन, कच्ची और पक्की हुई हरी सब्जियां, फल, कैल्शियम के लिए डेयरी प्रोडक्ट jese दूध दही. नारियल पानी. कॉन्स्टिपेशन से बचने के लिए घरेलू कुछ उपाय हैं जिन्हें आप कर सकती हैं . आप पानी की मात्रा काफी ज्यादा ले. आप एक बार में पूरा नहीं खाएं थोड़ा-थोड़ा खाएं और छोटे-छोटे टुकड़े चबा चबा कर खाएं. इससे आपको खाना पचाने में आसानी होगी. रोज सुबह एक गिलास गुनगुने पानी में थोड़ा नींबू डालकर जरूर पिएं .इससे आपका पेट भी अच्छा रहेगा और कब्ज की समस्या भी दूर होगी. आप अगर फलों का रस पीती हैं तो आप फल पूरा खाएं जिससे कि आपको gude की वजह से फाइबर मिलेगा. संतरे में फाइबर और विटामिन सी बहुत अच्छी मात्रा में होता है. कब्ज के मुख्य कारण जो है वह फाइबर की कमी है .आप संतरा खाएं रोज कब्ज दूर हो जाएगा . अलसी के बीज भी कब्ज है तो आपको मदद करेंगे समस्या को दूर करने में. अपना ध्यान रखें .
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरे बैक साइड में कुछ दिनों से पेन हो रहा है ऐसा क्यू हो रहा है
उत्तर: हेलो डियर डियर प्रेगनेंसी में वैसे तो बहुत सी प्रॉब्लम है पर उसमें से एक प्रॉब्लम है आपके कूल्हे व कमर में दर्द दिया हमें प्रेग्नेंसी में आम ही प्रॉब्लम है क्योंकि इसमें हमारा वजन बढ़ता है हमारा बेबी का विकाशहोता करता है जिस कारण हमारे कूल्हों व कमरमें दर्द होता है डियर जब हमारा बेबी मूवमेंट ज्यादा करता है तभी हमारे कूल्हों व कमर में दर्द होता है डियर आप ज्यादा आज रेस्ट कीजिए क्योंकि ज्यादा देर तक खड़े होने से भी आपके कूल्हों व कमर में दर्द हो सकता है डियर आप हाई हील सैंडल करना पहने हाई हील सैंडल सैंडल पहनने से आपकी फूलों का कमर में दर्द हो सकता है डियर आप कूल्हों व कमर में दर्द के लिए सिकाई कर सकते हैं आप को ज्यादा से ज्यादा पानी पीजिए क्योंकि ज्यादा पानी पीने से भी दर्द हमारा कम होता है डियर दर्द के लिए आप अपने कूल्हों के नीचे तकिया लगा कर सोएंगे क्योंकि तकिया लगाकर सोने से भी हमारे दर्द में राहत मिलती है और हम को आराम मिलता है आप जब भी सोया तो करवट लेकर सोइए क्योंकि सीधे सोने से आपके गले में दर्द होगा करवट लेकर सोने और तकिया लगा यूज़ जरूर कीजिए
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरे बैक मे पेन रहता है डेली
उत्तर: प्रेगनेंसी में कमर, पीठ में दर्द होना बहुत ही नॉर्मल बात है ,ज्यादातर महिलाओं में प्रेगनेंसी में कमर दर्द की शिकायत होती ही है कमर में दर्द होने का कारण एक तो हारमोंस में बदलाव होता है दूसरा पेट में बढ़ रहे भार का हो सकता है जिसके कारण मांस पेशियों में खिंचाव होता है और कमर में दर्द हो सकता है कमर, पीठ दर्द को कम करने के लिए आप कोशिश करें कि अपनी बाइ और सोए सीधे पीठ के बल ना सोए घुटनों के बीच में तकिया लगाकर सोने से भी आपको कमर दर्द में आराम मिलेगा अगर आप हाई हील की सैंडल , शूज पहनते हैं तो ना पहने यह भी एक कमर दर्द का कारण हो सकता है साथ ही प्रेगनेंसी में dheele सूती के कपड़े पहनने चाहिए जिससे शरीर में खून का प्रवाह आसानी से हो और हम अनेक तरह के दर्द से बचेगे
»सभी उत्तरों को पढ़ें