1 months old baby

Question: मेरे बेबी को ज़ुकाम हुए काफी समय हो गया उसकी सान्स में खर खर की आवाज़ आती है क्या करु उसके छाती में से जमा हुआ बलगम कैसे कालु

1 Answers
सवाल
Answer: अभी आपका बेबी सिर्फ एक महीने का है. उसके लिए आप २ से ३ लहसुन की कली को आधा चम्मच अजवाइन क साथ पीस कर उसकी पोटली बना दे. और उसको बच्चे के सोने की जगा के बाजु में रखे , ऐसे रखे की उसकी स्मेल उसे आये पर वो उसको डायरेक्ट टच न हो. आप उसके सोने की जगा क आजु बाजु २- ४ ड्रॉप्स नीलगिरि आयल बी लगा सकते हो. उसकी स्मेल से भी उसे रlहत होगी. बच्चे को ज्यादा ब्रैस्ट फीडिंग करवाते रहे.
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरे बेबी के गलेसे खर खर आवाज़ आती रहती है शायद उसे कफ़ हुआ है कैसे आराम मिलेगा plz suggest
उत्तर: छोटे बच्चे को ठंड बहुत जल्दी लगती है जिसकी वजह से उन्हें सर्दी हो जाता है और बलगम बनने लगता है छोटे बच्चे के नाम बहुत छोटे होते हैं और उसके अंदर नली भी बहुत छोटी होती है जिसकी वजह से या बलगम नाक के द्वारा यारों की धारा नहीं निकल पाता ऐसे किया छाती और गले में जमा हो जाता है जिसकी वजह से बच्चे के गले से आवाज आने लगती है कभी-कभी बच्चे को सांस लेने में भी तकलीफ होने लगती है अगर ज्यादा हो तो| और छोटे बच्चे को बार बार एंटीबायोटिक दवा देने से उनकी इम्यूनिटी भी बहुत कमजोर हो जाती है जिसकी वजह से बच्चे को ज्यादा मेडिसिन नहीं देना चाहिए अगर ज्यादा समस्या ना हो तो| इसलिए सबसे ज्यादा अच्छा है बच्चे को गर्म भाग दिया जाता है गर्म भाप देने से बलगम निकलता है जिसके वजह से उनका गला साफ होता है नवजात बच्चे को भाप देने से उसका naak खुल जाता है और उसे सांस लेने में आसानी होती है लेकिन इस बात का ध्यान भी रखना चाहिए कि बाप दिलाना बहुत खतरनाक हो सकता है क्योंकि उसकी त्वचा बहुत ज्यादा कोमल होती है और जेल भी सकती है इसलिए नवजात बच्चे को बड़े बच्चे की तरह बाप नहीं दिया जाता बाप दिलाने के लिए बहुत सावधानी बरतनी पड़ती है। नवजात बच्चे को कभी भी कटोरी में गर्म पानी करके bhaap nhi दिलाएगा बहुत खतरनाक होता है और भी बहुत सारे तरीके हैं जिसके द्वारा आप बच्चे को बाप दिला सकते हैं। bhaap लने के लिए आप ही humidifireका इस्तेमाल कर सकते हैं यहां सबसे सुरक्षित रहता है humidifire से मिलने वाली bhaapकी छाती में जमे बलगम भी पूरी तरह खत्म कर देता है जैसे कि बच्चा का नाम भी खुल जाता है और बच्चे को आरामदायक नींद भी आ जाता है और humidifire को बच्चे के कमरे में ऐसी जगह पर rakhe kiछोटे बच्चे ना पहुंच सके। अगर आप के घर में बाथरूम होगा तो आप और nal से गर्म पानी आने की सुविधा होगी तब यह बहुत अच्छा तरीका होता है आप दरवाजा बंद करके आप बाथरूम को पूरे गर्म भाप से भर दीजिए और फिर आप थोड़ी देर के लिए बच्चे को गोद में लेकर बैठे जिससे कि बच्चे को बलगम से छुटकारा मिले। और आप इसके अलावा aap vaporizerका भी इस्तेमाल कर सकती हैं बुराई सभी एक सुरक्षित तरीका होता है आ vaporizer को कुछ दूरी पर रखकर कंबल ओढ़ लीजिए और कम से कम 45 मिनट तक बच्चे को bhaapदिलाएं लेकिन बच्चे को उस से दूरी बनाए रखेंl
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरे beby को कोल्ड और फीवर हो गया है जिसकी वजह से उसकी छाती बन्द हो गयी है क्या करु ?
उत्तर: हेलों आपका बच्चा 4 महीने का है बच्चे को सर्दी और फीवर है फीवर अगर ज़्यादा है तो डॉक्टर को दिखायें क्योकी फीवर में बच्चे कमज़ोर हो जाते है ,आपका बेबी अभी बहुत छोटा है ऐसे में मेडिसिन आप बेबी को डॉक्टर की सलाह ले कर ही दे बच्चे को कफ है तो बेबी को nebulize मशीन से करवाये बच्चे को कफ से राहत मिलेगी बच्चों का इम्यून सिस्टम कमज़ोर होता है ऐसे में बच्चे को कपड़े ऐसे पहनाये कि गर्माहट बनी रहें कमरे को भी गरम रखने की कोशिश करे .आप उसे घी और कपूर का मिश्रण लगा सकते है। पहले घी ले और उसे हल्का गर्म करें, फिर उसमे कपूर के कुछ टुकड़े डाल दें और पिघलने दें। ठंडा हो जाने के बाद इसे आप उसकी छाती, पीठ और तलवे पर लगाएं। उसे आराम मिलेगा। आप उसे सरसों के तेल को गर्म कर उसमे अजवाइन और लहसुन डालें ,फिर जब वह ठंडा हो जाए तो उसे उसकी छाती और पीठ पर अच्छी तरह से लगाएं बच्चे को आराम करवाये बच्चे जितना आराम करेगा उतनी जल्दी रिकवर करेगा अगर आप ब्रेस्ट फीड माँ है तो खाने में सन्तुलित और हेल्थी चीज़ें खायें जिसके कारण बच्चे को न्यूट्रिशन मिल सकें और बच्चे को पानी की कमी ना हो lबच्चे को संक्रमण से बचाने के लिये अपना और बच्चे का हाथ साफ रखें बच्चे को फीड कराते समय पहले हैण्ड वाश करेl बच्चे को फीड कराते समय और सुलाते समय बच्चे का सर कुछ ऊपर रखें इसके लिए आप पतली तकिया का यूज़ कर सकती है ऐसे में बच्चे को साँस लेने में आसानी होगी आप अजवाइन भून ले उसे एक कपड़े में बाँध कर पोटली बना ले फिर उसे बच्चे के बच्चे के बैक चेस्ट तलवो पर सीकाई करे धयान रहें अजवाइन ज़्यादा गर्म नही होना चाहिए .बच्चे को कुछ देर सँवरे 8 से 10 बजे की धूप में ज़रूर ले जायें ताकि बच्चे को सूर्य के प्रकाश से विटामिन डी मिलें विटामिन डी बच्चे के सर्दी को कम करने और ग्रोथ में हेल्प फूल हैlधुप दिखाने के लिए बच्चे को सीधे धुप में न रखें।डायपर समय पर बदले प्रोबेल्म ज़्यादा हो तो डोक्टर से सलाह ले
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेटी को ज़ुकाम हो गया है ऑर छाती मे बलगम भी भोत जादा हो गई है क्या करु
उत्तर: सर्दी और जुकाम होने पे माँ पाने बच्चे को स्तनपान कराएं, दिन में जितनी बार स्तनपान करा सकती हैं,  अजवाइन के सूखे दाने को तवे पे भून लीजिये, अब एक सूती के रूमाल में इसे बांध के एक पोटली बना लीजिये, यह पोटली जब हल्का गरम रहे, उसी वक्त इससे बेबी की छाती, पीठ, पैर के तलुए, और हाटों की हटेलियोँ पे घिसिये. इससे सर्दी और जुकाम में आराम पहुंचेगा लहसून के कुछ फाकों को सरसों के तेल में भून लीजिये,इस तेल को बेबी की गर्दन, छाती, पीठ और पैर के तलुओं पे लगाइये एक चम्मच सेंधा नमक में गरम सरसों का तेल मिलके इस मिश्रण से बेबी की छाती और पीठ पे मालिश करें मालिश वाले तेल में कुछ तुलसी के पत्तों को डाल सकती हैं। तुलसी वाला मालिश का तेल त्यार करने के लिया आप तीन चम्मच नारियल का तेल ले लीजिये, नारियल के तेल को गरम कीजिये,अब इसमें तुलसी के पत्तों को कुचल कर तेल में मिलाइये. इस तरह से कुचलने से तुलसी के पत्तों का अर्क नारियल के तेल में मिल जायेगा.नारियल का तेल तुलसी के पत्तों के सरे उपयोगी गुणों को सोख लेगा नरम कपडे या स्पंज का उपयोग कर बच्चे के कुछ भाग जैसे बगल, पैर और हाथो को भी पोछ सकते हो, इससे बच्चे ke शरीर का तापमान भी कम होगा यदि आप फैन चला रहे हो तो ध्यान रहे की इसे धीमी स्पीड पर ही चलाये, ध्यान रहे की आपका बच्चे सीधे पंखे के निचे ना सोया हो. नरम कपडे को पानी में भिगोकर ठंड़ी पट्टी बच्चे के सिर पर रख, पट्टी पूरी तरह से सुख जाये तब समझ जाये की पट्टी ने बुखार सोख लिया है और इससे शरीर का तापमान भी कम होता है.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Hii,मुझे 21 वीक्स की ट्विन्स प्रेगनेंसी है,पिछ्ले कुछ समय से मेरे राइट साइड पीठ में ओर फेफड़े में काफी दर्द रहता है,समस्या इतनी ज्यादा है कि में करवट लेके बिल्कुल भी नही सो पाती,क्या करूँ कुछ इलाज है इसका
उत्तर: Hi,jaise baby grow hota Hain uterus expand hone see static nerve pe pressure padta hain jisse back mein pain hota Hain. Aaapko Hit water bag compression karna chahiye Aaapko warm oil massage karvana chahiye Aaapko apne back par nahi Sona chahiye Aaapko apne left side oar Sona chahiye Isse aapko relief milegay
»सभी उत्तरों को पढ़ें