1 महीने का बच्चा

Question: मेरे बेबी को बहुत ज़्यादा सर्दी है साँस लेने में उसे प्रॉब्लम हो रही हें डॉक्टर को दिखाया कोर्स भी कंप्लीट हो गया लेकिन कोई आराम नही हे और ये बार बार potty भि कर रहा है क्या karna chahiye

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर ,,,मौसम में बदलाव या बेबी की प्रतिरोधक क्षमता में कमी होने के कारण बच्चों को बार बार सर्दी खांसी की समस्या बनी रहती है ,सर्दी खांसी को दूर करने के लिए आप कुछ घरेलू उपाय अपना सकते हैं | बेबी को अपना दूध पिलाते रहिए ,मां के दूध में प्रतिरोधक क्षमता होती है अजवाइन की पोटली बनाकर उसे बेबी के छाती ,पीट ,पैर और हाथ के तलवों को धीरे-धीरे मसाज कीजिए | अगर baby ka nose जाम है तोआप बेबी के नाक में नोजल ड्रॉप डाल सकते हैं नोजल ड्रॉपDr. द्वारा recommended Ho...| लहसुन को गर्म सरसों तेल में डालकर गर्म कर ले ,इसी तेल से बेबी की हल्की हल्की मालिश कीजिए | सेंधा नमक को सरसों तेल में मिलाकर बेबी की मालिश कर सकते हैं | सरसों तेल या नारियल तेल में तुलसी की पत्तियों को पीसकर milyeऔर इस से बेबी की malis kre..| सोते समय बेबी का सर ऊंचा रखें इसे बेबी को सांस लेने में आसानी होगी | बेबी को भाप दिलाने के लिए कमरे या बाथरूम में गर्म पानी डालकर पूरे कमरे मे स्टीम भर ले और इसी कमरे में बेबी को 10 से 15 मिनट बैठाकर रखें बेबी के कफ एंड कोल्ड में राहत मिलेगी| बेबी की साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखें बेबी को जब भी छुए हाथ धोकर छुए ,नहीं तो बेबी को इन्फेक्शन का खतरा बढ़ सकता है |
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरे बच्चे को बहुत सर्दी है उसको साँस लेने भी प्रॉब्लम हो रही ह
उत्तर: हैलो डियर---तो आपको ध्यान रखना चाहिए आपको लेबर पेन कभी भी स्टार्ट हो सकता है आपको कोई भी दर्द कोई रंग का स्त्राव को अनदेखा नही करना चाहीये। लेबर पेन के कुछ लक्षण हैं जिससे आप अंदाजा लगा सकती हैंकि आपको लेबर पेन हो रहा है --- डिलीवरी पेन MC के दर्द जैसे होता है जो धीरे-धीरे बढ़ता जाता है इस में पेट और कमर पर भी दर्द होता है बेचैनी लगती है। किसी भी रंग का स्त्राव अधिक मात्रा में होना पेट के निचले जगह पर है एंठन और दर्द महसूस होता है।शरीर कांपने लगता है कभी-कभी अचानक दस्त और हल्की उल्टी भी हो सकती है। डिलीवरी पेन धीरे-धीरे बढ़ता जाता है अगर आप का दर्द बढ़ रहा है तो आपको तुरंत डॉक्टर के यहां जायें।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मुझे मुह से साँस लेना पड़ रहा हें नाक से साँस लेने में प्रॉब्लम हो रही हें ... और सर्दी जुखाम भी बहुत हें कोई उपाय
उत्तर: हेलों आपको सर्दी जुखाम है आप की नाक बन्द हो जाती है आप बाम वीक्स नैज़ल स्प्रे का यूज़ कर सकती है आपको राहत मिलेगी मौसम में बदलाव से bachne के लिए आप ऐसे कपड़े पहनें की गर्माहट बनी रहें आप आराम करे आप जितना आराम करेगी उतना जल्दी रिकवर करेगी आप भाप ले आप गुनगुना पानी पीये lआप नमक पानी हल्दी डाल कर गरगल कर सकती है आपको राहत मिलेगी . गरम वेजिटेबल और चिकन सूप पीये आप एक साफ़ अदरक का टुकडे को चुस सकती है आपको खासी से राहत मिलेगी आप गुड खायें गुड सर्दी को रोकने में हेल्पफूल है आप अदरक के रस को शहद के साथ ले खासी में कमी आएगी अदरक वाली चाय तुलसी का रस शहद के साथ आप ले सकती है आपको राहत मिलेगी और अभी आप फ्रूट्स ठण्डी चीज़ें , चॉकलेट का सेवन ना करे ये खासी को और बढ़ाता है आप सरसों के ऑयल में लहसुन हीङ्ग मिला कर गरम करे और अपने चेस्ट बैक और तलवो की मालिश करे आपको सर्दी से राहत मिलेगी आप कुछ देर धूप में बैठे सूर्य के प्रकाश से मिलने वाले विटामिन डी से आपको सर्दी से राहत मिलेगी आप रात में हल्दी डाल कर गुनगुना मिल्क पीये और सोते समय सर हल्क उंचा कर सोएं सर्दी में आपको नाक बन्द से राहत मिलेगी आप मुलेठी चुसे आपको खासी से राहत मिलेगी प्रॉब्लम ज़्यादा लगें तो डॉक्टर से सलाह ले
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: आज बहुत ज़्यादा बेचैनी और घबराहट हो रही है साँस भी लेने में प्रॉब्लम हो रही hai
उत्तर: प्रेगनेंसी के दौरान सांस लेने की समस्या किसी भी महिला को हो सकती है लेकिन ऐसा होना एकदम सामान्य बात भी नहीं है और यह समस्या डिलीवरी के बाद अपने आप ही खत्म हो जाती हैl,सांस लेने की समस्या बहुत सारे कारणों से हो सकता है प्रेगनेंसी के दौरान प्रोजेस्टेरोन हार्मोन का लेवल बढ़ जाने की वजह से यह शासन तंत्र को प्रभावित करता है और यहां ब्रेन के उस भाग को प्रभावित करता है जो श्वसन तंत्र को कंट्रोल करके रखता है इस कारण हमें सफोकेशन होने लगता है क्योंकि इस दौरान शरीर में ऑक्सीजन की maang काफी ज्यादा बढ़ जाने की वजह से सफोकेशन होने लगता है गर्भावस्था के दौरान शरीर में खून 50% तक बढ़ जाता है इसलिए दिल को खून को pump करने के लिए काफी ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है जिसके कारण भी हमें सांस लेने में तकलीफ होने लगती है और गर्भावस्था के लास्ट महीनों में बच्चा के आकार में वृद्धि होने के कारण वहां फेफड़ों में दबाव डालता है जिसके कारण फेफड़ों को फैलने में दिक्कत होती है जिसके कारण हमें सांस लेने में बहुत तकलीफ होने लगती है इसके लिए आप कुछ घरेलू उपाय कर सकते हैं जैसे आपको हमेशा उठते-बैठते सोते समय अपने पोजीशन या स्थिति का ध्यान रखना होगा ताकि आपको सांस लेने में किसी प्रकार की परेशानी ना हो सांस लेने की समस्या या सफोकेशन होने से बच्चे को किसी प्रकार का कोई effectनहीं होता यह एकदम नॉर्मल है इस से maa aur बच्चों को किसी प्रकार का कोई इफेक्ट नहीं होता
»सभी उत्तरों को पढ़ें
Healofy Proud Daughter