7 महीने का बच्चा

Question: मेरे बेटा को खासी हो गयी है क्या करू

1 Answers
सवाल
Answer: बच्चे को भाप युक्त कमरे में रखें बच्चे को बलगम वाली खांसी है जिसमें बहुत सारा बलगम बन रहा हो तो आप उसे भाप दिलाएं भाप लेने से उसकी नाक और छाती खोलने में मदद मिलेगी बाथरूम में गर्म पानी का शाबर चला ले और बच्चे को अंदर ले कर बैठ जाए करीब 15 मिनट बाहर आने के बाद उसके कपड़े उतार कर सूखे कपड़े पहना दे ,गद्दे का सिरहाना ऊंचा उठा दे कई बार खांसी की वजह से बच्चे को रात भर नींद नहीं आती गद्दे का सिरआना ऊंचा उठा देने से बच्चे को सांस लेने में आसानी होगी ,बच्चे को तरल पदार्थ दें , आप बचे को गर्म चीजें पिलाए गर्म soup भी दे सकते हैं बच्चे को ठंड से बचाएं बच्चे को ब्रेस्टफीडिंग कराएं इससे खांसी के कारण से निपटने में मदद मिलेगी
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरे बेटा को sukhi खासी हो गयी है
उत्तर: baby के लिए थोड़ा घरेलू उपाय कर सकती है जिससे उन्हें सर्दी खांसी में राहत मिलेगी .तीन से चार दिन का इंतजार करें .घरेलू उपाय से सर्दी खांसी ठीक ना हो तो bacche को तुरंत डॉक्टर के पास लेकर जाएं| अगर बच्चे को खासी सर्दि है टो।। उसे गरम तासिर वाला खाना डिजिये। १)ताज़ा बना गरम खाना द। २)ठंडी चीजे नहीं देण। ३)कुनकुना पानी पिलाये नार्मल या ठण्डा नाहि। ४)पानी की मात्रा बड़ा द।। ५)सरसो तेल में लहसून पका केर कुनकुना तेल साइन और पथ में लगये। ६)ड्राई जिंजर का पाउडर थोड़ा सा दुध में द। ७)अद्रक का रास निकल केर शहाद में दे । ८) रात में थोड़ा गरम दुध थोड़ी सी हल्दी मिलाकर शार के साथ्। ।।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरे बेबी को खासी हों गयी है मैं क्या करू
उत्तर: आप चिंता ना करें.थोड़ा भी weather चेंज होने से कोल्ड और कफ aur jhukam की परेशानी होने लगती है ,इसलिए .कुछ चीज़ का ध्यान रखे जैसे सर्दी खासी जुकाम होने पर आप बच्चे को ज्यादा से ज्यादा अपना दूध पिलाने की कोशिश करें शाम होते ही बेबी को गरम कपड़े पहना का रखे ,1कटोरी सरसों तेल मे अजवाइन और लहसन ki5-6 कली को पका ले फिर उसी तेल से दिन मे 3-4 बार मालिश करे .लहसन और अजवाइन को तवे पर सेक कर muslin के कपड़े मे बाँध कर पोटली बना दे और बेबी के बेड के पास रख दे ,इससे भी बेबी का कोल्ड जल्दी ठीक होगा . बाथरूम मे गरम पानी का स्ट्रीम भर दे और बेबी को लेकर thori देर बैठे ऐसा करने से उसका बन्द नाक खुल jayega और उसे राहत भी मिलेगी रात मे सोते समय पैर के तलवे मे विक्स से मालिश करकें सॉक्स पहना दे इससे भी शरीर गरम रहेगा और बेबी जल्दी ठीक हो jaaega
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरे बच्चे को बहुत तेज खांसी हो गई है प्लीज़ बताओ क्या करूं
उत्तर: हेलो डियर ,,,अभी आप की बेबी 4 मंथ ,की है इतने छोटे बच्चों khaci सर ्दी मौसम बदलने और प्रतिरोधक क्षमता में ं कमी हो ने के का रण होना एक सामान्य बात है आप बिलकुल भी परेशान ना हो कुछ घरेलू उपाय के द्वारा आप बेबी के सर्दी खांसी को दूर कर सकते हैं | बेबी को अपना दूध पिलाते रहिए ,मां के दूध में प्रतिरोधक क्षमता होती है अजवाइन की पोटली बनाकर उसे बेबी के छाती ,पीट ,पैर और हाथ के तलवों को धीरे-धीरे मसाज कीजिए | अगर बेबी का नोज जाम है तो आप बेबी के नाक में नोजल ड्रॉप डाल सकते हैं नोजल ड्रॉपDr. द्वारा रेकौम्मेन्देद हो...| लहसुन को गर्म सरसों तेल में डालकर गर्म कर ले ,इस ी तेल से बेबी की हल्की हल्की मालिश कीजिए | सेंधा नमक को सरसों तेल में मिलाकर बेबी की मालिश कर सकते हैं | सरसों तेल या नारियल तेल में तुलसी की पत्तियों को पीसकर milyeऔर इस से बेबी की मालिश करे..| सोते समय बेबी का सर ऊंचा रखें इसे बेबी को सांस लेने में आसानी होगी | बेबी को भाप दिलाने के लिए कमरे या बाथरूम में गर्म पानी डालकर पूरे कमरे मे स्टीम भर ले और इसी कमरे में बेबी को 10 से 15 मिनट बैठाकर रखें बेबी के कफ एंड कोल्ड में राहत मिलेगी| बेबी की साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखें बेबी को जब भी छुए हाथ धोकर छुए ,नहीं तो बेबी को इन्फेक्शन का खतरा बढ़ सकता है |
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरे बच्चे को खासी हो गयी है क्या करु ?
उत्तर: कभी कभी छोटे बच्चों को सर्दी होने की वजह से बहुत स्पुटम प्रोडक्शन होने लगता है जिसके वजह से उनके सीने में उनके नाक में और गले में स्पुटम रहने की वजह से सांस लेने में बड़ी तकलीफ होने लगती है और यह सsputum याkough गले में हो तो खांसी होने लगती है अभी बच्चा बहुत छोटा है इसलिए उसे अलग से कुछ हम घरेलू उपचार नहीं बता सकते क्योंकि सिक्स मंथ तक बच्चे सिर्फ मां का दूध ही पीते हैं बच्चे को अगर बहुत ज्यादा खांसी हो रही होगी तो आपसे सोने के टाइम पर उसका सर ऊपर रखकर सुनाएं और हो सके तो अजवाइन का बुना हुआ अजवाइन का पोटली बनाकर उसके नाक के पास रखें इससे उसका जो कब होता है वह पिघलता है और गले के नीचे जाने से उसको खांसी कम आती है
»सभी उत्तरों को पढ़ें