10 महीने का बच्चा

Question: मेरे बीते को कफ बहुत जयाद है क्या kru

1 Answers
सवाल
Answer: आपकी १० महीने के बच्ची के लिए आप एक बर्तन में 2 ग्लास जितना पानी ले| उसमें एक छोटा चम्मच अजवाइन थोड़ा हल्दी पाउडर एक छोटा टुकड़ा अदरक थोड़े तुलसी के पत्ते चुटकी भर मरी का पाउडर डालकर उसे अच्छी तरह से उबालें| उसे जान कर रख ले और दिन में दो से तीन बार एक छोटे चम्मच इतना बच्चे को दें| इससे बच्चे को सर्दी में काफी राहत मिलेगी|
  • avatar
    Kashish Arora88 days ago

    मरी पाउडर ना हो टोह क्या बाकी छीजें दि सकती hu

समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरी बेटी को कफ बहुत जयाद हो गया है
उत्तर: हेलो डियर बेबी को आमतौर पर सर्दी हो ही जाती है आप बेबी को पुरी बाजू के कपड़े पहनाये और बेबी की साफ़ सफ़ाई का पूरा ध्यान रखे ।बेबी के कमरे का तापमान नॉर्मल रखिये।बेबी की सर्दी को दूर करने के लिए आप निम्न उपाय अपना सकती है---- @सरसों के उबलते तेल में लहसुन और लौंग डालें और इस तेल तो कोल्द करके बेबी की छाती पर लगाने से भी खांसी मे आराम मिलता है। @पैन पर कुछ अजवायन के बीज भूनें और इसे साफ सूती कपड़े पर रख दें, और पोटली की तरह से बना लें। इससे बच्चे की छाती, पैरो के तलवो, हथेली और पीठ पर सीकाई किजिए। #अपने बच्चे के पैरों के तलवो मे vicks रगड़ें और सूती या ऊनी मोजे पहनाए।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरे बेटे को बहुत जयाद सर्दी हो gai है नाक बैण्ड हो गया क्या kru
उत्तर: : स्‍टीम अगर आप नन्हा-मुन्‍ना कोल्‍ड से ग्रस्‍त है और उसे सांस लेने में भी कठिनाई हो रही है, तो आप उसे स्‍टीम दिलाये। अपने बच्‍चे को बाथरूम में ले जायें। दरवाजा बंद करें और गर्म पानी चला दें। 15 मिनट तक अपने बच्‍चे के साथ उस बाथरूम में रहें। इस बात का खयाल रखें कि आपका बच्‍चा पानी से दूर रहें। आपको अपने बच्‍चे को केवल भाप दिलानी है। इससे बच्‍चे का शरीर खुलेगा और उसे आराम मिलेगा।   : हल्दी वाला दूध अपने एंटीसेप्टिक गुणों के कारण, हल्‍दी वायरल संक्रमण जैसे सर्दी और खांसी के इलाज के लिए जाना जाता है। एक गिलास गर्म दूध में आधा चम्‍मच हल्‍दी पाउडर मिलाकर रात को अपने छोटे बच्‍चे को नियमित रूप से दें। यह गले में दर्द और बहती नाक से तुरंत राहत देता है। और कैल्शियम का समृद्ध स्रोत दूध आपके बच्‍चे को एनर्जी देता है। : शहद शहद अपने सूदिंग प्रभाव के लिए जाना जाता है। बच्‍चों में कोल्‍ड की समस्‍या होने पर अच्‍छे से हाथों को धोकर उंगली में शहद लेकर अपने बच्‍चे को चटाये। अगर आपका लाड़ला या लाड़ली 5 साल से अधिक उम्र के हैं तो शहद में थोड़ा सी दालचीनी मिला लें। : अजवाइन अजवाइन कोल्‍ड के साथ-साथ चेस्‍ट कंजेश्‍चन से भी राहत देता है। कोल्‍ड की समस्‍या होने पर पानी में तुलसी के पत्‍ते और थोड़ी सी अजवाइन डालकर उबाल लें। फिर थोड़ा ठंडा होने पर इस पानी को अपने बच्‍चे को पिलायें। : मसाज कोल्‍ड के लिए दो साल से छोटे बच्‍चों के लिए मसाज सबसे अच्‍छा उपाय होता है। इसके लिए सरसों के तेल में लहसुन मिक्‍स करके अपने बच्‍चों की पीठ, छाती और गर्दन के हिस्‍से में मसाज करें। जल्‍द राहत के लिए इसके अलावा बच्‍चों की हथेली और पैरों के तलवों पर भी मालिश करें। : बच्‍चे को हाइड्रेटेड रखें बहुत ज्‍यादा छींकने और खांसने के दौरान बच्‍चे को हाइड्रेटेड रखना बहुत महत्वपूर्ण होता है। नियमित अंतराल पर बच्‍चे को पानी देना आम सर्दी से लड़ने और संक्रमण को बाहर निकाल गले की सूजन को कम करने में मदद करता है। इसके अलावा शरीर में एनर्जी की भरपाई करने के लिए आप अपने बच्‍चे को तरल पदार्थ के रूप में सूप और ताजा जूस भी दे सकते हैं।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरे बच्चे को कफ बहुत होती है क्या करे
उत्तर: छोटे बच्चों को सर्दी खांसी जुकाम और कफ से राहत के लिए कुछ घरेलू उपाय 1)अजवाइन सरसो तेल और लहसुन की दस कलियां लेकर उसे पकाए, ठंडा होने पर बच्चे की मालिश करे। 2)बच्चे का सिर सोते समय ऊपर रखे, जिससे वह आसानी से साँस ले सके। 3)सर्दी-खांसी में बच्चे को अजवाइन का काढ़ा पिलायें। 4)खांसी सर्दी के दौरान सूप और चिकन सूप दे सकती हैं। ये प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता हैं। 6)निंबु रस, दालचीनी पाउडर और शहद का मिश्रण तैयार करें। यह सर्दी और खांसी के लिए बहुत अच्छा होता है। 7)शहद और लहसुन मिलाकर पेस्ट बनाएं। दिन में एक या दो बारऊ इसे दें अगर बच्चे को आराम न हो और सर्दी जुकाम के साथ अगर बच्चे को बुखार हो तो अपने मन से कोई मेडिसीन न दें डाक्टर से कंसल्ट करें।
»सभी उत्तरों को पढ़ें