8 महीने का बच्चा

Question: मेरे बटे को दस्त हो गये हैं ऑर साथ में बुखार भी है क्या करूँ मै

2 Answers
सवाल
Answer: छोटे बेबी के लिए को दस्त होना एक आम समस्या है बच्चों के दस्त रोकने का कुछ घरेलू उपाय मैं आपको बता रही हूं पके हुए केले को मसल लें और उसमें थोड़ा सा दही मिलाएं इसे बच्चे को देने से आराम मिलता है चावल का पानी भी इसका है अच्छा घरेलू उपाय है एक कप पानी में एक चम्मच चावल को उबालें और जब चावल आधे से अधिक उबल जाए दो चावल के पानी को निकाल कर ठंडा कर लें इसे बच्चे को पिलाने से आराम मिलता है छोटे बच्चों को दस्त होने पर दाल का पानी भी पिलाना चाहिए बेबी को ORS का घोल दें और ब्रेस्ट फीडिंग कराते रहें पहले तो आप इसको आप ठंडे पानी की पट्टी रखी है तापमान उसका बढ़ने मत दीजिए बच्चे की खानपान का ध्यान रखें बच्चे को हल्का सुपाच्य खाना खिलाए जो इसलिए डाइजेस्टिअल हो बच्चों को हल्के-फुल्के कपड़े पहना है जिससे बच्चों को आराम रहे बच्चे का ध्यान रखें देखिए डॉक्टर से कंसल्ट करने के बाद ही बच्चे को फीवर की मेडिसिन दें डॉक्टर ही बताएगा आपको कितने दिन तक खिलाने हैं बिना डॉक्टर की सलाह लिए आप बच्चे को बाहर के कोई भी मेडिसिन ना दे
Answer: हेलो . डियर .. आप घबराये नही बेबी को बुखार होने पर बेबी के सर पर गीली पट्टी रखें .. और मुलायम कपडे ही पहनाये और यदि आपका शिशु सो रहा हो तो आप जरुरत पड़ने पर हल्का ब्लैंकेट भी डाल सकते हो...पैरो को मसाज करने से आपके शरीर का तापमान भी नियंत्रित रहता है अपने शिशु के पैरो के निचले भाग पर गर्म जैतून के तेल से मालिश करे...or bukhar phir bhi kam na ho to docter ki salah se peracitamol de sakti hai. दस्त होने पर आपका बेबी बहुत कमजोर हो जाता है इसलिए आप बेबी को घर पर ओ आर एस घोल बनाकर पिलाएं जिससे बेबी को डिहाइड्रेशन नहीं होगा और बेबी को डॉक्टर के पास ले जाएं
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरे बटे को दस्त हो गये है क्या करु plz
उत्तर: hello डियर ,,,,बेबी को 5 से 6 बार दस्त हो जाना नॉर्मल है कभी-कभी पेट में इन्फेक्शन यह दूध नहीं पचने के कारण बेबी दस्त करने लगते हैं बच्चों की पाचन कमजोर होती है और इसी कारण बच्चों को लूज मोशन होने की समस्या हो जाती है बेबी को दूध पिलाना जारी रखें मां के दूध में से तत्व होते हैं जो बेबी की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाकर उसे बीमारियों से लड़ने में मदद करते हैं व बेबी को पूरी तरह हाइड्रेट रखते हैं ,अगर इसके बाद भी बेबी को 10 से 12 बार पतले ,बदबूदार, दस्त हो और बिल्कुल पानी जैसा पतला होने लगे तब डॉक्टर से संपर्क करें किसी भी प्रकार के घरेलू उपाय या oral चीजें बेबी को ना दें इससे बेबी की तकलीफ बढ़ सकती है|
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरे बेबी को दस्त हो गये है में क्या करु
उत्तर: हेलो डियर आप परेशान ना हो बेबी को बार बार पॉटी लगना आम बात है । क्यूकी अभी बेबी का पाचन तंत्र बिलकुल भी मजब ूत नहीं होता है उसे कुछ भी पचने में अभी थोड़ी परेशानी होती है इसलिए आप जब उसे दूध पिलाती है तो बेबी पोटटय बार बार कर ने लगता है।आप बस अपनी बेबी को बार-बार अपना दूध पिलाएं ।उसे डीहाड्रत ना होने दें। अगर आपका बेबी 12 से ज्यादा बार पॉटी कर रहा है तो अपने डॉक्टर को जरूर दिखाएं।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरे बटे को बुखाड़ है क्या करूँ ?
उत्तर: हेलो डियर , आपके बेबी को बुखार आ जाये तो आप इस तरह से अपने बेबी का बुखार घरेलू तरीके से कम कर सकती है आपके बेबी को बुखार आने पर आप जायफल को पीसकर उसको लेप को बेबी की नाक , चेस्ट ,पीठ, पर लगा दे इससे आपके बेबी का बुखार कम हो जाएगा, आप अपने बेबी के मुँह में तुलसी का रस भी 3 या 4 बूंद डाल दीजिए दिन भर में 2 या 3 बार मे तुलसी में एंटीबायोटिक पाया जाता है जो कि बेबी को फायदा करेगी बेबी को बुखार आने पर ठंडी गीली पट्टी से बेबी के सर पे रख दे , और यही पट्टी अपने बेबी के हाथ ,पैर, पीठ ,चेस्ट को भी पोछ दे इससे आपके बेबी का बुखार कम हो जाएगा पर ध्यान रखे पट्टी ज्यादा ठण्डी ऐसे बर्फ जैसे ना होकर नार्मल ठण्डी हो अगर आपके बेबी को ज्यादा बुखार हैं तो आप अपने बेबी को तुरंत बिना लापरवाही किये डॉक्टर को दिखा दे ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरे बेबी को दस्त लग गये है मै क्या करु
उत्तर: हेलो डियर छोटे बेबी को दस्त की प्रॉब्लम हो जाती है और यह अधिकतर 6 महीने से 2 साल तक के बेबी को ज्यादा होती है इसके लिए आप घबराएं नहीं और कुछ घरेलू उपाय करके देखें जिससे बेबी को दस्त में आराम मिलेगानमक ऑर चीनी का घोल बनाए नमक चीनी को समन मात्रा मि मिलना बार बार इस घोल को पिलाएं मगर याद रखें की घोल ताजा रहे दूसरे दिन उस घोल का उपयोग ना करें जायफल को पानी में घिस्कर आधा चम्मच दो तीन बार piलाएं बेबी को बनाना सीखना है क्योंकि केला खाने से भी दस्त में आराम मिलता है आप चाहें तो बेबी को खाली अकेला भी खिला सकते हैं और आराम ना होने पर डॉक्टर से सलाह ने
»सभी उत्तरों को पढ़ें