सुपर गर्ल

Question: मेरे पैरों एम बहुत सूजन है प्लीज कुछ बतायें मैम

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर , प्रेग्नेंसी में पैरों पर सूजन आना कॉमन ही , बेबी का और हमारा पूरा वेट हमारे पैरों पर होता ही और उस वजह से ब्लड सर्कुलेशन भी ज्यादा नहीं होता उस वजह सूजन आती ही और ऐसे में आप ज्यादा देर तक खड़ी या बैठ ओके ना रहे काम्क बीच बीच में रेस्ट लिया करे अपने पैरों की ऑयल मसाज कर्वके लिया करे या खुद को आए तो खुद भी किया करे इससे ब्लड सर्कुलेशन accheसे होगा और सोने se पहले बुक्केत में गरम पानी लेके उसमें ठोड़सा नमक दाल ओके उसमें पैर दाल्क बैठा करे इससे पैर दर्द भी नहीं hongeaur नींद भी acchese आएगी
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरे पैरों एम बहुत सूजन ह क्या ब्लड की कम्मी से पैरों एम सूजन आती ह प्लीज कुछ बताएं
उत्तर: हेलो डियर जी नहीं प्रेगनेंसी में शरीर में खून की कमी के कारण आपको सूजन नहीं होती है , यह सूजन आपको , ब्लड प्रेशर के कारण होती है और और एक्टिव न रहने के कारण , प्रेगनेंसी के दिनों में आप ज्यादा हलचल नहीं करते हैं इस वजह से आपके पूरे शरीर को ठीक से ब्लड सरकुलेशन नहीं हो पाता इस वजह से यह सूजन होती है . आपको एक जगह पर ज्यादा देर तक नहीं बैठना चाहिए , ना ही खड़े रहना चाहिए हमेशा हलचल करते रहना चाहिए . यदि आपको ब्लड प्रेशर की समस्या है आपका बीपी हाई होता है तो आपके पैरों में जरूर सूजन आ सकती है , इसे कम करने के लिए आप अपने रोजाना के दोपहर के खाने के बाद हमेशा छाछ पिया कीजिए , प्रेगनेंसी में रोजाना छाछ पीने से पैरों की सूजन बहुत कम होती है , यह सूजन में काफी मददगार साबित होता है आप रोज पिया करें . और हमेशा हलचल करें एक्टिव रही है रोज शाम को बाहर घूमने के लिए जाया करें .
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मुझे गले एम बहुत जलन होती ह प्लीज कुछ बताएं
उत्तर: हेलो गले में जलन एसिडिटी और गैस से होती है . ये हार्मोनल चेंजस की वजह से होती है कोई चिंता की बात नहीं .खूब पानी पीजिए, ऑयली स्पाइसी फ़ूड मात खाइए, वाक और जाइये ,डिगने लेजी ,बटरमिल्क , कोकोनट वाटर ,तजे फ्रूट्स का जूस लेजी ..
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: meri operation se delivery hui mere peeth or kamar m bhut dard h pls kuch upaye btayen
उत्तर: डिलीवरी के बाद आपने नई माएं बनते हैं ब्रेस्ट फीडिंग के समय सही मुद्रा के प्रति जागरुक ना होकर अनजाने में भी कमर दर्द की समस्याओं से जूझना पड़ता है गर्भावस्था के बाद हार्मोनल चेंजेस जोड़ों , लिगामेंट्स जो रीढ़ की हड्डी को पेल्विक हड्डियों से जोड़ते हैं कमजोर पड़ सकते हैं आप सरसों के तेल की हल्के हाथों से मालिश भी करवा सकते हैं, मालिश करने से मांसपेशियों का आराम मिलता है ..सही मुद्रा में बैठने की आदत डालनी चाहिए इससे भी कमर और पीठ दर्द में आराम मिल सकता है, गर्म स्नान दर्द कम करने में मदद कर सकते हैं
»सभी उत्तरों को पढ़ें