17 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: मेरे पेट में रह rh ke pen hota hai kyu

4 Answers
सवाल
Answer: -गर्भावस्था के दौरान पेट में दर्द, पीड़ा और मरोड़ होना सामान्य बात है। अगर आपकी गर्भावस्था एकदम स्वस्थ चल रही है, तो पेट दर्द आमतौर पर चिंता का कारण नहीं होते।  गर्भ में शिशु के होने की वजह से आपकी मांसपेशियों, जोड़ों और नसों पर काफी दबाव पड़ता है। इससे आपको पेट के आसपास के क्षेत्र में काफी असहजता महसूस हो सकती है।   मजबूत, मांसपेशियां जो आपकी हड्डियों को जोड़ते हैं, उनमें पूरी गर्भावस्था के दौरान बढ़ते गर्भ को सहारा देने के लिए खिंचाव होता है। इसलिए जब आप हिलती-डुलती हैं, तो आपको शरीर में एक या दोनों तरफ हल्का दर्द महसूस हो सकता है।थोड़ी देर के लिए बैठ जाएं।जिस तरफ दर्द हो रहा हो, उसके दूसरी तरफ होकर लेट जाएं और आराम करें।हल्के गर्म पानी से नहाएं।जहां दर्द हो रहा हो उस क्षेत्र में गर्म पानी की बोतल या गेहूं की छोटी पोटली से सिकाई करें। अगर आप गर्म पानी की बोतल का इस्तेमाल करें, तो इसमें गर्म पानी भरें (खौलता हुआ पानी नहीं) और ध्यानपूर्वक इसे तौलिये या किसी मुलायम कपड़े में लपेट लें। वहीं दूसरी तरह, गेहूं की पोटली एक कपड़े की पोटली होती है जिसमें गेहूं की भूसी भरी होती है। इस पोटली को माइक्रोवेव में कुछ मिनटों तक गर्म करना होता है। यह पोटली आपके शरीर के आकार के अनुसार ढल जाती है और एक घंटे या इससे ज्यादा के लिए गर्म रहती है।आराम करें। कई बार, sexकरने और पर भी मरोड़ या हल्का सा कमर दर्द हो सकता है। जिससे मरोड़ जैसा महसूस हो सकता है।आप कैसा महसूस कर रही हैं,डॉक्टर को बताएं। वह यह अंदाजा लगा पाएंगी कि आपकी असहजता की वजह गर्भावस्था के दर्द और पीड़ा ही हैं या फिर कुछ और।
Answer: प्रेगनेंसी में गैस बनना बहुत ही सामान्य बात है . jis wajah se thoda thoda pain hota hai. ager pain jayda hai to aap doctor se bhi salah kare. आप घबराएं नहीं. घरेलू उपचारों से आप को बहुत आराम मिलेगा. जैसे जीरे का शरबत बनाकर रखें एक गिलास पानी में एक चम्मच कच्चा जीरा पीस के डालने पर शक्कर डालने| चित्र खोलकर रख लें दिन भर में थोड़ा थोड़ा पिया. खाना खाने के बाद आधा चम्मच अजवाइन का चूर्ण ले ले| ध्यान रखें आपका पानी पीना बहुत जरूरी है. इससे भी आपको गैस में राहत मिलेगी. अपनी नींद समय पर ले कोई भी भारी खाना बहुत सारा एक साथ ना खाएं. खाना चबा चबा कर खाएं . दिन भर में थोड़ा-थोड़ा खाते रहे.
Answer: गर्भावस्था के दौरान, पेट में हल्की-फुल्की समस्याएँ होना आम बात होती है। इस अवस्था में, पेट दर्द, विशेषकर पेट के निचले हिस्से में हल्का-हल्का दर्द भी हो सकता है प्रेगनेंसी के समय में ज्यादा वजन उठाने वाला काम करने और ज्यादा नीचे झुकने वाला काम करने से भी पेट दर्द हो सकता है जमीन पर ना बैठे और क्रॉस लेग करके नहीं बैठे वरना दर्द ज्यादा बढ़ सकता है पीठ के बल सोने की बजाए साइड की करवट लेकर सोना चाहिए  यह दर्द हील वाली सेंडिल पहने से भी हो सकता है इसलिए हमेशा स्लिपर ही पहने ज्यादा देर तक एक स्थिति में खड़े ना रहे  जिस तरफ दर्द हो रहा हो, उसके दूसरी तरफ होकर लेट जाएं और आराम करें
Answer: आपका बेबी किक हो रहा होगा ... यदि 1st प्रेगनेंसी रहती है तो जल्दी फिलिंग नही हो पाती हलका दर्द हो तो घबराये नही यदि जयदा हो तो thandha पानी पीये या अपनी टमी को thandhe हाथों से हल्ला सहलये आराम मिलेगा फिर भि सही न हो तो आपने डॉक्टर से मिलकर उन्हें बताये .
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरे पेट में रह rh ke pen hota hai kyu
उत्तर: hello ma'am dont worry aisa kabhi kabhi gas ki wajah se hota hai, isse liye main apko kuch tips de rahi hun app usse try kare.. 1.App kam samay main choti choti meals ke...ek saath zada na khaye. 2.khati cheeze avoid kare. 3.caffeine avoid kare. 4. Dahi le 5. Paani peeye 6. Sone se pehle thanda doodh peeye... I hope ye tips apko help karengi..take care..
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरे पेट में रह rh ke pen hota hai kyu
उत्तर: प्रेगनेंसी के शुरुआती दिनों में ऐसा होता है अतः आप परेशान ना हो आप प्रॉपर रेस्ट करें और अपने खाने-पीने का विशेष ध्यान रखें। पेट के निचले हिस्से में दर्द से राहत के लिए नीचे लिखे उपाय अपना सकते हैं बैठ जाएं, अपने पैरों को आराम देते हुए थोड़ा विश्राम करें। आरामदेह स्थिति में विश्राम करने से पेट दर्द कम होना चाहिए। यह याद रखें, कि पेट में दर्द कि शिकायत गर्भावस्था में एकदम सामान्य है, और यह आपको आराम करने और दूसरों का ध्यान व देखभाल पाने का भी मौका देता है! अगर, बैठने से आपको आराम न मिले, तो हाथों और घुटनों के बल आकर आराम करने का प्रयास करें। या फिर सोफे पर बैठे हुए आगे की तरफ झुकें। जब आप बिस्तर से उठें, तो एक तरफ करवट लेकर धीरे से उठें। अपनी बाजूओं का सहारा लें। इससे आपके पेट पर कम दबाव पड़ता है। बैठी या लेटी हुई अवस्था से धीरे और सहजता से उठना भी मददगार हो सकता है। अगर आप धीमे से उठें, तो मांसपेशियों को आपके दूसरी मुद्रा में आने से पहले उसके अनुसार ढलने और आपको सहारा देने का समय मिल जाता है।  खड़े होते समय अपनी श्रोणि क्षेत्र को पीछे की तरफ झुकाते हुए ही खड़े हों। अगर आप नौकरी करती हैं, और आपके काम में लंबे समय तक डेस्क पर बैठना शामिल है, तो बीच-बीच में खड़ी हों और थोड़ा चलती-फिरती रहें। खूब सारा पानी और अन्य तरल पदार्थ पीएं, ताकि गर्मी के महीनों में शरीर में पानी की कमी न हो सके। अगर आपको गैस रहती है, तो तैलीय, मसालेदार भोजन और राजमा और चना जैसे भारी दलहन न खाएं, जो कि गैस बनाते हैं। जब आप बेहतर महसूस करने लगें, तो आप इन्हें फिर से खा सकती हैं। गैस और फुलावट के लिए एक अच्छा घरेलू उपचार यह है कि एक लीटर पानी में तीन या चार छोटी चम्मच सौंफ और जीरा डालकर उबाल लें। इसे ठंडा होने दें और इसे दिनभर बार-बार थोड़ा-थोड़ा पीती रहें। स्वाद के लिए आप इसमें थोड़ी चीनी भी मिला सकती हैं।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Mam मेंre पेट me नाभि के निचे पेन होता है हल्का हल्का ऐसा क्यों होता है
उत्तर: देखिए मुझे भी ऐसा ही दर्द हुआ था तुम मुझे बताया गया था कि यह दर्द गर्भ में बच्चे की हो रहे तेजी से विकास के कारण हो सकता है इसलिए इस समय ज्यादा चलना फिरना और वजन नहीं उठाना चाहिए अगर आप को दर्द बहुत ज्यादा हो तो आप एक बार डॉक्टर से दिखा ले
»सभी उत्तरों को पढ़ें