33 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: मेरे पेट में अमुकबार bich में हाथ लगाने पर कड़क पेट लगता है और हाथ लगाती हु तों दर्द होता है

0 Answers
सवाल
अभी तक इस सवाल का कोई जवाब नहीं है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेम मेरे हाथ पैर मे बहुत दर्द होता है .. और रात में पेट में दर्द होता है . और यूरिन ज़ीयद होती है
उत्तर: hello dear गर्भावस्था के दौरान पेट में दर्द, पीड़ा और मरोड़ होना सामान्य बात है। अगर आपकी गर्भावस्था एकदम स्वस्थ चल रही है, तो पेट दर्द आमतौर पर चिंता का कारण नहीं होते।  गर्भ में शिशु के होने की वजह से आपकी मांसपेशियों, जोड़ों और नसों पर काफी दबाव पड़ता है। इससे आपको पेट के आसपास के क्षेत्र में काफी परेशानी महसूस हो सकती है। मजबूत, लचीले ऊत्तक व मांसपेशियां, जो आपकी हड्डियों को जोड़ते हैं, उनमें पूरी गर्भावस्था के दौरान बढ़ते गर्भ को सहारा देने के लिए खिंचाव होता है। इसलिए जब आप हिलती-डुलती हैं, तो आपको शरीर में एक या दोनों तरफ हल्का दर्द महसूस हो सकता है।थोड़ी देर के लिए बैठ जाएं।जिस तरफ दर्द हो रहा हो, उसके दूसरी तरफ होकर लेट जाएं और आराम करें।हल्के गर्म पानी से नहाएं।जहां दर्द हो रहा हो उस क्षेत्र में गर्म पानी की बोतल या गेहूं की छोटी पोटली से सिकाई करें। अगर आप गर्म पानी की बोतल का इस्तेमाल करें, तो इसमें गर्म पानी भरें और ध्यानपूर्वक इसे तौलिये या किसी मुलायम कपड़े में लपेट लें। व, गेहूं की पोटली एक कपड़े की पोटली होती है जिसमें गेहूं की भूसी भरी होती है। इस पोटली को माइक्रोवेव में कुछ मिनटों तक गर्म करना होता है। यह पोटली आपके शरीर के आकार के अनुसार ढल जाती है और एक घंटे या इससे ज्यादा के लिए गर्म रहती है।आराम करें। कई बार, sexकरने और पर भी मरोड़ या हल्का सा कमर दर्द हो सकता है। जिससे आपको बाद में मरोड़ जैसा महसूस हो सकता है।आप कैसा महसूस कर रही हैं,जादा परेशानी होने पर डॉक्टर को बताएं। महिला को बार बार यूरिन आने के कारण परेशान होना पड़ता है, प्रेगनेंसी में गर्भ में शिशु का विकास होने के साथ महिला के गर्भाशय का आकार भी बढ़ता जाता है, और महिला को बार बार यूरिन आने का सबसे बड़ा कारण महिला को यूरिनरी इन्फेक्शन होता है, और इसका कारण होता है महिला के गर्भाशय का आकार बढ़ना, जिसके कारण आपको और महिला को यूरिन रुक रुक कर आता है, और महिला के यूरिन आने वाले भाग का मार्ग आंशिक रूप से बंद हो जाता है, इसीलिए महिला को बार बार यूरिन आने लगता है। प्रेगनेंसी में बार बार यूरिन आने की समस्या से बचने के उपाय:- अनार के छिलको का उपयोग करें:- अनार के छिलको का उपयोग करने से आपको प्रेगनेंसी में बार बार यूरिन आने की समस्या से राहत मिल सकती है, इसके लिए आप सबसे पहले अनार के छिलको को अच्छे से सूखा लें, और उसके बाद इसे पाउडर के रूप में तैयार करें, और अब इस पाउडर को एक चम्मच एक गिलास पानी के साथ लें, इसे लेने से आपको यूरिनरी इन्फेक्शन की समस्या से राहत मिलती है, और साथ ही बार बार यूरिन आने की समस्या से भी निजात मिल जाता है। गुड़ और चने का सेवन करें:- प्रेगनेंसी में महिला को यदि बार बार यूरिन आने की समस्या होती है, तो इससे बचने के लिए महिला को थोड़े से भुने हुए चने लेकर उसका सेवन गुड़ के साथ करना चाहिए, ऐसा करने से आपको प्रेगनेंसी में बार बार यूरिन आने की समस्या से राहत मिलती है, और भुने हुए चने खाने से आपका स्वास्थ्य भी अच्छा रहता है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरे पेट और कमर में रह रह के दर्द होता है तों क्या करू 7month
उत्तर: प्रेग्नेंसी के आखिरी आखिरी मंथ में हमारी pelvic एरिया के मसल्स और बोन दोनों फैलने लगते हैं जिससे हमें बीच-बीच में पेन होता रहता है यह नॉर्मल है आप घबराइए नहीं यह प्रेगनेंसी में होता ही है इससे हमें नॉर्मल डिलीवरी के लिए हेल्प मिलती है हमारा बॉडी अपने आप को इसके लिए तैयार करता रहता है जैसे-जैसे बच्चे का साइज बढ़ता जाता है जिससे पेट में हल्का दर्द या खिंचाव महसूस होता है ... प्रेगनेंसी के आखरी तीन मंथ में पेट के बहुत ज्यादा बहार निकल जाने से हमारे कमर पर जोर पड़ता है जिससे कमर दर्द, पीठ दर्द, पैर दर्द, पसलियों मे दर्द की शिकायत होती है। वजन बढ़ जाने की वजह से पैरो में भी दर्द रहता है। आप करवट लेकर लेफ्ट साइड करके सोय। दोनो पैरो के बीच में तकिया लेकर सोये। इससे बहुत आराम मिलेंगा। आप सरसो के तेल से हलकी हलकी मालिश भी कर सकती है। कमर के दर्द पीठ और पैरो के दर्द के लिए सरसो का तेल बहुत फायदेमंद रहता है। आप थोड़ा जयाद अराम किया कीजिए. जयाद देर खड़े होकर और जयाद झुक कर काम करना अवोइड कीजिए .. खाने पीने मे पोष्टिक अहर लीजिए अगर दर्द कमज़ोरी से हुआ तो वह खाने पीने में धयान देन से ही ठीक हो जायेगा.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हेलो मै जब पोछा लगाती हूँ तो मेरे पेट में दर्द होने लगता है ऐसा क्यु होता है ?
उत्तर: हेलों आप 37 वीक प्रेगनेट है आपके पेट में दर्द पोछा लगाने से होता है आप ऐसे में पोछा ना लगायें प्रेग्न्सी के अन्तिम अवस्था में कमर दर्द पेट दर्द वैजिना में दर्द और प्रेशर का अनुभव करना नॉर्मल है लेकिन जब दर्द समय के साथ बढ़े .लेबर पेन की शुरुआत पिरियड में होने दर्द जैसे हो सकती है ये दर्द के साथ आपको पेट में दर्द कमर दर्द सर दर्द उलटी पोटी जाने की इच्छा हो सकती है जब दर्द समय के साथ लगातार बढ़े और असनीय होने लगे जब लगातार और थोड़ी-थोड़ी देर पर गर्भ की पेशियों में खिंचाव महसूस हो। इसके अलावा जब यह अधिक समय तक और तीव्रता से हो।अगर आपके कमर के निचले हिस्से में दर्द की शिकायत हो।आपका बच्चा तरल पदार्थ की एक थैली से सुरक्षित रहता है। यह प्रसव पीड़ा के दौरान टूटता है और पानी गिरना शुरु हो जाता है। यह प्रसव का ही एक लक्षण है।अगर रक्त स्त्राव की समस्या हो रही हो।आपको बुखार, सिरदर्द या पेट में दर्द हो। तो आप तुरन्त डॉक्टर से सलाह ले
»सभी उत्तरों को पढ़ें