7 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: मेरे को नाभि से निचे दरद रहता है कोई प्रॉब्लम टु नही है ना

1 Answers
सवाल
Answer: गर्भावस्था के दौरान, पेट में हल्की-फुल्की समस्याएँ होना आम बात होती है। इस अवस्था में, पेट दर्द, विशेषकर पेट के निचले हिस्से में हल्का-हल्का दर्द भी हो सकता है प्रेगनेंसी के समय में ज्यादा वजन उठाने वाला काम करने और ज्यादा नीचे झुकने वाला काम करने से भी पेट दर्द हो सकता है जमीन पर ना बैठे और क्रॉस लेग करके नहीं बैठे वरना दर्द ज्यादा बढ़ सकता है पीठ के बल सोने की बजाए साइड की करवट लेकर सोना चाहिए  यह दर्द हील वाली सेंडिल पहने से भी हो सकता है इसलिए हमेशा स्लिपर ही पहने ज्यादा देर तक एक स्थिति में खड़े ना रहे  जिस तरफ दर्द हो रहा हो, उसके दूसरी तरफ होकर लेट जाएं और आराम करें
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: हेलो मेडम मेरे पेट में निचे की तरफ़ दरद रहता है कभी लेफ्ट तो कभी राइट क्या कोई प्रॉब्लम है
उत्तर: हेलो डियर प्रेगनेंसी में पेट में नीचे की तरफ दर्द होना और साइड में दर्द होना बहुत ही नॉर्मल होता है और यह पूरे प्रेगनेंसी में थोड़ा बहुत होते रहता है और कुछ ही देर के बाद खुद ही ठीक हो जाता है मगर आपको यदि लगातार दर्द हो रहा है तो आपको डॉक्टर से सलाह जरूर लेना चाहिए
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरे ब्रा मे दरद रहता है कोई प्रॉब्लम तो नही
उत्तर: प्रेगनेंसी के दौरान एक मां को कई शारीरिक बदलाव और दर्द से गुजरना पड़ता है। गर्भावस्था के दौरान स्त्री के शरीर में कई परिवर्तन आते हैं। कई महिलाएं प्रेगनेंसी के दौरान स्तनों में दर्द यानि ब्रेस्ट पेन की शिकायत करती है। क्‍यूंकि इस समय स्‍तनों में दर्द या सूजन होने के कारण प्रेग्नेंट होने के बाद, शरीर में एस्ट्रोजन और प्रोजेस्ट्रोन का स्तर बढ़ जाता है। जिस वजह आपके स्‍तनों में में बदलाव नज़र आते हैं। स्‍तनों का दर्द कम करने के लिए हल्‍के गर्म और ठंडे पैक का प्रयोग कीजिए। आइस पैक स्‍तनों पर रखने से राहत मिलती है और थोड़ी देर वो जगह सुन्‍न हो जाती है, जिसके कारण सूजन भी कम हो जाती है। यदि आप गर्म पैक का प्रयोग कर रहे हैं तो उससे रक्‍त का संचार बढ़ जाता है इसकी वजह से भी आपको आराम मिलेगा। लेकिन ज्‍यादा गर्म पैक का इस्‍तेमाल भी न करें। 
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरे चेकअप में पाया गया है की अपरा(प्लेसेंटा) बहुत निचे की ओर है। की इससे मेरे बच्चे को कोई दिक्कत होगी?
उत्तर: इसे मेडिकल टर्म में प्लेसेंटा प्रिविआ कहा जाता है। यह एक ऐसी समस्या है, जिसमे अपरा(प्लेसेंटा) अपनी सामान्य जगह से थोड़ी निचे की ओर होता है, कभी-कभी यह सर्विक्स(cervix) के बहुत ही ज्यादा समीप होता है या उसे ढक भी देता है। सर्विक्स योनि और गर्भाशय के बीच का हिस्सा है। आप कह सकते हैं की अगर प्लेसेंटा बहुत ज्यादा नीचे के और है तो यह बच्चे के जन्म के समय बढ़ा उत्पन्न कर सकती है। यह समस्या 36वें सप्ताह के पहले कभी भी अपने आप ठीक हो जाती है। जैसे-जैसे गर्भाशय फैलता है, बच्चे का भर गर्भाशय के निचले भाग पर बढ़ता जाता है और खिचाव की वजह से प्लेसेंटा किनारे की तरफ बढ़ने लगते है। आप कोशिश करें की अधिक से अधिक आराम करें , जायदा भारी वस्तु न उठाएं, सीढियाँ न चढ़े और ऐसे कोई भी काम न करें जिसमे पेट पर भार पड़ता हो।
»सभी उत्तरों को पढ़ें