3 महीने का बच्चा

Question: मेरी beti 2 months 6 days ki h vo

2 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर आपके द्वारा किया गया प्रश्न अधूरा है जिसके कारण हमें आपके प्रश्नों का सही सही पता नहीं चल पा रहा है इस कारण मैं आपकी समस्या का हल नहीं कर सकती मेरा आपसे विशेष अनुरोध है कि आप अपना प्रश्न पूरी तरह अच्छे से समझा कर लिखें ताकि आपकी समस्याओं का हल मिल सके टेक केयर
Answer: ur vo thodi bhi hight से utrte time bhut drti h jaise
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरी beti 4 mahine ki h vo anghutha chusati h ky karu
उत्तर: अंगूठा चूसने के क्या-क्या परिणाम हो सकते हैं, ये सब अपने बच्चे को बतायें| तालू का ऊपर उठना, दाँतों का टेढ़ा होना और बड़े होकर टेढ़े या ऊँचे दाँतों पर तार लगवाने में कितना दर्द होता है, ये सब अपने बच्चे को बताएँ| जिस उंगली को चूसा जा रहा है उसपर सूझन या इन्फेक्षन होना, साँस में दिक्कत होना- ये सब अपने बच्चे को दिखायें| और उसे ये भी बतायें की बड़े होकर भी यदि वह इस आदत को नही छोड़ता तो उसके स्कूल/ कॉलेज में वह सबकी हँसी का पार्थ बन सकता है जो उसी को ठेस पहुँचाएगा| ऐसा करने पर आपका बच्चा ये आदत छोड़ेगा|
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेबी 2 मंथ्स एंड 13 डेज का है वो पॉटी 6 डेज बाद करता है इस इट नॉर्मल
उत्तर: हेलो डियर , आप का बेबी के वल आपके मिल्क पर ही ना िर्भर रहता है अगर आपका बेबी 4 से 5 दिन से पॉटी नहींं कि या है, तो को ई भी परेशान ी वाली बात नही हैं ब्रैस्ट मिल्क पीने वाले बेबी का 4 से 5 दिन में पोट्टी हो ना नार्मल बात है , अगर बेबी को एक दिन में 4 से 5 बार सु करता है तो ऐसा होना ठीक है , आप ऐसे में अपने बेबी के नाभि के आसपास हींग का लेप लगा दें और रोज 2 या 3 घंटे पर अपना ब्रेस्ट मिल्क पिलाएं आपके बेबी को पॉटी हो जाएगी परेशान ना हो आप अपने बेबी के एक्सरसाइज करें ं और पैरों को साइकिल की तरह चलाएं इससे आपकी बेबी को हो सकता है कि पेट के हिलने डुलने से अच्छे से पोट्टी हो जाये और अगर इससे भी ज्यादा दिन से बेबी पोट्टी न करे तो डॉक्टर को दिखाना चाहिए ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी beti 8+ki h or vo 2,2 din m potti krti h
उत्तर: hello dear जब बच्चों को ठोस शुरू होता है, तो उसे रोज पूप करना चाहिये 1 दिन गैप हो जाए तो कोई बात नही लेकिन यह मुश्किल नहीं होना चाहिए क्योंकि यह कब्ज की शुरुआत हो सकती है। आहार में चावल, केले, गाजर आदि जैसे कम फाइबर भोजन की कमी के कारन ऐसा होता है। 1.कुछ दिनों के लिए kheer आदि जैसे अन्य दूध के बने सामान बेबी को ना दें। 2.छिलके के साथ ऐप्पल प्यूरी, और prunes रस के साथ नाशपाती प्यूरी दें। 3.. रात में किशमिश भिगो दें और अगली सुबह उसका पानी दें। 4.. अनार का छिलका पानी में उबालें और वह पानी दें। 5.. ओट्स और बहुत सारे पानी जैसे समृद्ध फाइबर आहार शामिल करें। 6. गर्म तेल के साथ बच्चे के पेट मालिश। 7. गर्म पानी स्नान। 8. बेबी के आहार में दही, सलाद, मक्खन शामिल करें। 9. अधिक तरल आहार।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: meri beti 3 months ki h vo bhot zada thuk nikalti h zhag type m aisa kyu krti h vo
उत्तर: हेलो डिअर, छोटे बेबी जब भी मुह से थूक निकालते है तो वो दूध पीने समय कुछ मात्रा में उनके मुह में हवा भी घुस जाती है जिसकी वजह से बेबी दूध पीने के बाद हवा को थूक के जरिये निकाल देते है जो कि बुलबुले की तरह होता है, बेबी जब दूध अच्छे से नही पचा पाते हैं तो थूक निकालने लगते हैं ,ऐसे में बेबी एक साथ ज्यादा दूध पीने की वजह से भी मुह से थूक निकालते हैं , ऐसे में आप बेबी को दूध पिलाने के बाद डकार दिला दे इससे बेबी थूक नही निकालेगा , या आप जब भी बेबी को दूध पिलाये थोड़ी देर तक के बाद रूक जाए और रूक रूक कर बेबी को दूध पिलाये ताकि बेबी एक साथ ज्यादा मिल्क नही पियेगा तो वह मुह से थूक भी नही निकालेगा ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें