2 साल का बच्चा

Question: मेरी बेबी 2 इयर्स की है उसको कोल्ड ho gaya hai kuch kha bhi ni rahi bs mobile ki jid karti hai ...thumb bhi bhut mu mai leti hai kya karu

3 Answers
सवाल
Answer: बच्चों की उम्र के साथ-साथ उनकी आदतें भी कुछ ना कुछ बदलती रहती हैं.उसे इस बात पर डाटा नहीं बस जब भी आप उसे ऐसा करते देखें उसे बस प्यार से मना कर दे| उसे समझा दे कि ऐसा करने से उसके angutha gayab hojayega ya fir w9h mota hojayega..usme में चोट लग सकती है उसके होंठ खराब हो सकते हैं| धीरे-धीरे यह आदत चली जाएगी|baby के लिए थोड़ा घरेलू उपाय कर सकती है जिससे उन्हें सर्दी खांसी में राहत मिलेगी .तीन से चार दिन का इंतजार करें .घरेलू उपाय से सर्दी खांसी ठीक ना हो तो bacche को तुरंत डॉक्टर के पास लेकर जाएं| अगर बच्चे को खासी सर्दि है टो।। उसे गरम तासिर वाला खाना डिजिये। १)ताज़ा बना गरम खाना द। २)ठंडी चीजे नहीं देण। ३)कुनकुना पानी पिलाये नार्मल या ठण्डा नाहि। ४)पानी की मात्रा बड़ा द। ५)सरसो तेल में लहसून पका केर कुनकुना तेल साइन और पथ में लगये। ६)ड्राई जिंजर का पाउडर थोड़ा सा दुध में द।७)अद्रक का रास निकल केर शहाद में दे ।८) रात में थोड़ा गरम दुध थोड़ी सी हल्दी मिलाकर शार के साथ्। ।।
Answer: baby के लिए थोड़ा घरेलू उपाय कर सकती है जिससे उन्हें सर्दी खांसी में राहत मिलेगी .तीन से चार दिन का इंतजार करें .घरेलू उपाय से सर्दी खांसी ठीक ना हो तो bacche को तुरंत डॉक्टर के पास लेकर जाएं| अगर बच्चे को खासी सर्दि है टो।। उसे गरम तासिर वाला खाना डिजिये। १)ताज़ा बना गरम खाना द। २)ठंडी चीजे नहीं देण। ३)कुनकुना पानी पिलाये नार्मल या ठण्डा नाहि। ४)पानी की मात्रा बड़ा द। ५)सरसो तेल में लहसून पका केर कुनकुना तेल साइन और पथ में लगये। ६)ड्राई जिंजर का पाउडर थोड़ा सा दुध में द।७)अद्रक का रास निकल केर शहाद में दे ।८) रात में थोड़ा गरम दुध थोड़ी सी हल्दी मिलाकर शार के साथ्। ।। बच्चों की उम्र के साथ-साथ उनकी आदतें भी कुछ ना कुछ बदलती रहती हैं.उसे इस बात पर डाटा नहीं बस जब भी आप उसे ऐसा करते देखें उसे बस प्यार से मना कर दे| उसे समझा दे कि ऐसा करने से उसके होंठ में चोट लग सकती है उसके होंठ खराब हो सकते हैं| धीरे-धीरे यह आदत चली जाएगी|
Answer: आपने शत बहार gumane ले जायें
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: 11 months की मेरी बेबी hai उसको bahut फ़ास्ट फ़ास्ट कोल्ड हो jata है क्या करे maam की उसको jaldi कोल्ड ना हो
उत्तर: बच्चे का बार बार बीमार पड़ना उनका इम्युनिटी पावर कम होने की वजह से होता है..आप बच्चे की साफ सफाई में विशेष ध्यान दीजिए खेलने के बाद और खाना खाने से पहले उसके जरूर हाथ पेर dhulwate रही है...पोस्टिक आहार दीजिए जिससे उन्हें की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी उन्हें खाने में ताजे फलों के जूस और हरी सब्जियां दीजिए आप सब्जियों के जूस निकालकर या फिर उसकी सूप बनाकर या फिर सब्जी रोटी बना कर भी दे सकती हैं मौसम के हिसाब से बच्चों को ढलना दिखाइए आप उन्हें बहुत ज्यादा प्रोडक्ट करके रखेंगे तो कभी उनकी immunity स्ट्रांग नहीं होगी इसलिए उन्हें खेलने दीजिए लेकिन सावधानी की भी baratiye... बच्चे बहुत ज्यादा छोटे होते हैं और उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता धीरे-धीरे डेवलपर होती है इसलिए उनके उन्हें संक्रमित व्यक्ति है संक्रमित बच्चों से थोड़ा सा दूर रखने की कोशिश कीजिए...
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेटी ठीक से खाना नहीं kha rahi क्या करूं? कुछ खिलाने जाओ to मुंह फिर लेती है
उत्तर: बेबी का एज अभी ग्रोथिंग है जिसमें बेबी जितना अधिक अलग-अलग चीजों को खाने लगेगी उसके हेल्प - हाइट बढ़ने के चांसेस बहुत अधिक होंगे इसलिए बेबी को आप अलग-अलग प्रकार की चीजें खिलाने की कोशिश करें इसके लिए बेबी से आप अलग-अलग प्रकार की बातें करें, उसे अपने बातों में बाह लाएं ,ध्यान खाने से हटाकर दूसरी बातों में लगाकर थोड़ा थोड़ा करके उसे दिन में कई बार खिला सकते हैं| खाने में हरी सब्जियां, फलों का जूस, फल खिचड़ी घर का बना हुआ दाल चावल अच्छी तरह मिक्स किया हुआ दिन में थोड़ा थोड़ी मात्रा में पहले बेबी को देना चालू करें ,धीरे-धीरे बेबी उसका टेस्ट पहचानने लगेगी ,तब धीरे-धीरे खाने भी लगेगी धैर्य रखिए बेबी को खिलाना थोड़ा मुश्किल है लेकिन बेबी आराम से खाना खाना सीख जाएगी|
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हाइ मेरी बेबी 16 महीने की ह् वो 10 के.जी. वज़न की है पर मिटी खाती है हर kuch bhi kha leti hai kya kare
उत्तर: बच्चे को एक बार डॉक्टर को दिखा दें , डॉक्टर बच्चे को worm की दवाई और साथ मे कुछ विटामिन की दवाइया देंग, जिससे बच्चे मे भूक बढ़ेगी और बच्चा मिट्टी खाना भी बन्द कर देग , साथ हि आप कुछ घरेलु उपचार भी कर सकती है , लौंग की कुछ कलियों को पीसकर पानी में उबाल लीजिए. बच्चे को एक-एक चम्मच करके तीन समय ये पानी दें. इससे उसकी मिट्टी खाने की आदत जल्दी ही छूट जाएगी. बच्चे को हर रोज एक केला शहद के साथ मिलाकर खाने के लिए दें. कुछ दिनों में ही बच्चे में फर्क नजर आने लगेगा.  रोज रात गुनगुने पानी के साथ बच्चे को एक चम्मच अजवायन का चूर्ण दें. इससे बच्चें की मिट्टी खाने की आदत छूट जाएगी. बच्चे की पूरी जांच कराएं. हो सकता है कि बच्चे में कुछ पोषक तत्वों की कमी हो. कई बार पोषक तत्वों की कमी के चलते भी बच्चे मिट्टी खाने लगते हैं. बच्चे को संपूर्ण आहार दें ताकि उसके शरीर में किसी तत्व की कमी न होने पाए
»सभी उत्तरों को पढ़ें