6 महीने का बच्चा

Question: मेरी बेबी 6 महीने की हो गयी हे अब उसे खाने मे क्या खिलाऊँ

1 Answers
सवाल
Answer: 6 मंथ कंपलीट होने के बाद आप बच्चे को खाना दे सकते हैं आप baby को पहली बार खाना खिला तो आप ध्यान रखें कि बच्चे को पूरी तरह से puree खाना दे ताकि बच्चे के गले में ना फंसे साथ ही बच्चे को खाना हमेशा कांच, स्टील या चांदी के bowl में खिलाए कोशिश करें कि प्लास्टिक इस्तेमाल ना करें आप बच्चे को दाल का पानी सब्जियों का purre रजैसे कि गाजर चुकंदर, फ्रूट फ्यूरी ,फ्रूट जूस घर का बना हुआ, दाल चावल की पतली खिचड़ी आप बच्चे को यह सब दे सकते हैं बस आप इस बात का ध्यान रखें कि जो भी खाना दे आप 3 दिन तक दे ताकि आपको समझ में आ जाए के बच्चे को उस खाने से किसी प्रकार का रिएक्शन नहीं हो रहा है शुरुआत में बच्चा बहुत ही कम खाएगा दो-तीन चम्मच खाएगा आप उसका ध्यान रखें कि आप बच्चे को फोर्स ना करें धीरे धीरे बच्चा अपने आप खाने लगेगा बच्चों को पानी भी जरूर पिलाएं ताकि बच्चे को कब्ज की समस्या ना हो
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरी बेबी 6 महिने की हो गयी उसे क्या खिलाऊँ और कितनी बार खिलाऊँ
उत्तर: सिक्स महीना पूरा होने के बाद स्टार्ट करिये अभी लास्ट में उसको दाल पानी के साथ स्टार्ट कर सकते है ओर फलो को उबालकर मैश कर के दे सबसे जरुरी बाते आपको ध्यान रखना होगा कि आपके बच्चे को कोई एलर्जी तो नहीं हो रही किसी चीज से क्यों कि वो अभी अभी सुरु किया है खाना आगर एलर्जी हो तो तुरंत डॉक्टर'स को बताये
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेटी आज 6 मंथ की हो गयी उसे अब क्या खिलाऊँ
उत्तर: जब शिशु छह माह का हो जाए, तब आप सैद्धांतिक तौर पर उसे अधिकांश भोजन दे सकती हैं। आप नए भोजन भी काफी जल्दी आजमा सकती हैं। नीचे कुछ ऐसे भोजन दिए गए हैं, जिनके साथ आप शुरुआत कर सकती हैं, जैसे: गाजर, कद्दू, आलू, मटर, शकरकंदी, तोरी, पेठा कद्दू, हरी गोभी और गोभी आदि सब्जियों का गाढ़ा गूदा (प्यूरी) फलों की प्यूरी जैसे उबाला हुआ या भाप में पकाया हुआ सेब और नाशपती, आम या पपीता या मसले हुए फल जैसे पका हुआ मक्खनफल या केला, खरबूजा, तरबूज या चीकू। उम्र के अनुसार बेबी सीरियल्स जैसे कि शिशु जो दूध पीता है उसमें आयरन फोर्टिफाइड बेबी राइस या सीरियल मिलाकर देना। शुरुआत में प्यूरी आपके शिशु के लिए सबसे आसान भोजन हो सकता है, मगर कुछ शिशु नरम ढेलेदार भोजन भी खा लेते हैं, बशर्ते उन्हें अच्छी तरह मसला हुआ हो।  एक बार जब शिशु चम्मच से स्वेच्छा और खुशी से खाने लगता है, तो आप उसके भोजन में नई चीजें शामिल कर सकती हैं। हमारी ही तरह शिशु भी एक ही चीज बार-बार खाकर ऊब जाते हैं। इसलिए जब आपका शिशु बहुत सारे अलग-अलग फल और सब्जियां खने लगा हो, तो उसे केवल एक फल या सीरियल से बनी प्यूरी की बजाय निम्नांकित विकल्प देना शुरु करें: दो या इससे ज्यादा फल या सब्जियों को मिलाकर बनी प्यूरी, ताकि शिशु को नया स्वाद और अतिरिक्त पोषण मिल सके। भाप में पकाए हुए सेब और गाजर की प्यूरी या  आम और भाप में पकाई हुई लौकी की प्यूरी शिशु को दे सकते हैं। शिशु के पौष्टिक प्यरी के विकल्पों के लिए हमारा स्लाइडशो देखें। चटक स्वाद वाली सब्जियों की प्यूरी जैसे कि मटर, पत्तागोभी, हरी गोभी या पालक आदि को सीरियल्स या मसली हुई दाल के साथ मिलाया जा सकता है। प्यूरी किया गया या ब्लेंडर में ​पीसा हुआ मांस, मछली या चिकन। भोजन को अच्छी तरह पकाएं और हड्डियां निकाल दें। प्यूरी की हुई या अच्छी तरह मसली हुई दालें, छोले व अन्य दलहन। फुल फैट दही, पनीर, कस्टड या फलों की खीर (बिना मीठे की)। मगर, ध्यान रखें कि शिशु को एक साल का होने तक गाय का दूध (या बकरी या भेड़ का दूध) मुख्य पेय के रूप में नहीं देना चाहिए।  कोशिश करें कि शिशु को घर पर बना खाना ही दें। 
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेटी 1 साल की हो गयी हे उसे खाने में क्या खिलाऊँ लंच और डिनर मे
उत्तर: हैलो 1 साल ke bache ko मांग के अनुसार khilana चाहिए ... जैसे बच्चे को स्वस्थ नाश्ता होना चाहिए ... फिर दोपहर के भोजन के पहले एक स्नैक या फलों का रस, फिर दोपहर का खाना, फिर शाम को बच्चे को दूध और फिर रात के खाने के बाद दूध और दूध होना चाहिए ... आप इसे बच्चों की जरूरतों के हिसाब से अनुकूलित कर सकते हैं.. आप कभी-कभी केला शेक, आम शेक, चिकू शेक, कस्टर्ड, सुजी दूध, रोह afza दूध इत्यादि जैसे दूध की किस्में दे सकते हैं। आप बादाम पाउडर या शेक में पेस्ट भी de सकते हैं, यह भी स्वस्थ और स्वादिष्ट है। केला दिया जा सकता है क्योंकि यह आहार फाइबर, विटामिन सी और विटामिन बी 6 का बहुत अच्छा स्रोत है। पीच दिया जा सकता है वे आहार फाइबर, विटामिन ए और विटामिन सी में समृद्ध हैं। मटर को khichdi और सब्जी के सूप में मटर के रूप में दिया जा सकता है। आप मक्खन या देसी घी भी दे सकते हैं, आप इसे लगभग सभी भोजन में de सकते हैं जिसे बच्चे 7 महीने के बाद लेते हैं, लगभग 1 चम्मच घी प्रति भोजन के साथ। पहले घी या मक्खन की कम मात्रा के साथ शुरू करें और मात्रा में धीरे-धीरे वृद्धि करें। आलू को khichdi या सूप में दिया जा सकता है। ध्यान रखें
»सभी उत्तरों को पढ़ें