गर्भावस्था की तैयारी

Question: मेरी बेबी 5 मंथ और 8 डे की हे क्या में उसे बिठा सकती हु ?

1 Answers
सवाल
Answer: डियर आप बच्चे को जबरदस्ती ना बिठाए अगर बच्चे बैठे की स्थिति में है तभी आप बच्चे को बिठा सकते हैं जबरजस्ती बच्चे को मैं खाने से बैक पेन होने की संभावना हो सकती है धीरे धीरे बच्चा ग्रोथ करेगा और सभी बैठा जाएगा परेशान ना हो|
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरी बेबी 5 मंथ 10 days की है ,. क्या उसे अब solid फ़ूड डे सकती हु
उत्तर: नही डियर हो सकें to use sirf apni dudh hi six month tak de uske bad hi solid food de qki six month tak ke baccho ko maa ke dudh se hi sare nutrition mil jate h
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेबी 6 मंथ की हो चुकी हे तो में उसे क्या खिला सकती हु ?
उत्तर: हेलो डियर अब आपका बेबी 6 महीने का हो गया है अब आपको सॉलिड फूड शुरु करना चाहिये। अगर बेबी को हर 2 घन्टे मे आप कुछ खाने को देती हैं तो बेबी का वजन भी बढ़ेगा और बेबी का विकास भी होगा। आप दिन में 3 बार भोजन दे सकती हैं जिसे अच्छी तरह से पकाया जाना चाहिए। 8-- बजे - बीएम / एफएम सुबह 9 बजे रावा इडली , ओट्स रागी डोसा, सूजी खीर, केला, दलिया, पेन्केक सेब प्यूरी (कोई भी एक) सुबह 11बजे-- बीएम / एफएम 12बजे-- मसला हुआ केला, दही, 1बजे-- Khichdi, आलू और गाजर Khichdi, दही चावल, रागी दलिया, veggie के साथ suji upma 3बजे-- बीएम / एफएम 5बजे--कोई नरम फल, दही, उबले हुए आलू, सेब प्युरी 7बजे-- उत्तम, सूजी खीर, चावल के साथ मूंग दाल, कच्चे केले का दलिया, जौ अनाज, गेहूं अनाज दलिया। अन्य खाद्य पदार्थ जो आप 6 महीने के बेबी को खिला सकती हैं। रागी या बाजरा दलिया, रागी खीर, दाल पानी, चावल का पानी, ऐप्पल और केला, ऐप्पल प्यूरी, चिकू प्यूरी, कद्दू प्यूरी, गाजर प्यूरी, ब्रोकोली प्यूरी, आलू मैश, मीठे आलू प्यूरी, आलू और गाजर के साथ दलिया दलिया सूप, वेगी खिची, एवोकैडो प्यूरी, सब्जियों के सूप, मखाना खीर पपीता प्यूरी, तरबूज, ऐप्पल खीर, सूजी और केले दलिया। आदि।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेबी 5 मंथ की हुई हे क्या में उसे पानी दे सकती हूँ ,...
उत्तर: hello 6 महीने तक बच्चे को पानी पिलाने की आवश्यकता ही नहीं होती क्योंकि जो बच्चा ब्रेस्टफीड लेता है उसे मां के दूध से ही पर्याप्त मात्रा में पानी मिल जाता है क्योंकि मां के दूध में पानी की मात्रा 80% होती है छोटे बच्चों को अगर पानी पिला दी जाती है तो वह दूध कम पीते हैं जिससे बच्चे कुपोषण के शिकार हो जाते हैं पानी में पाए जाने वाले कीटाणु बेबी के डाइजेस्टिव सिस्टम को प्रभावित करता है। जिससे उन्हें डायरिया का खतरा रहता है अलग से पानी पिलाने से बच्चे के किडनी पर ज्यादा दबाव पड़ता है। जिसे किडनी प्रभावित होने का भी खतरा रहता है। पानी पिलाने से बच्चों को पीलिया का भी खतरा रहता है। इसलिए अगर आपका बच्चा ब्रेस्टफीड कर रहा है और बाहर का कुछ भी नहीं ले रहा है तो उसे पानी पीने की आवश्यकता ही नहीं है आप परेशान ना हो।
»सभी उत्तरों को पढ़ें