4 महीने का बच्चा

Question: मेरी बेबी 3.27 दिन की हे सुसु बहुत करती हि और पोट्टी भी 4 बर करती हि क्या करु

3 Answers
सवाल
Answer: Dear mom isme aapko tension lene ki koi jarurat nahi hai aapko bata de ke baby ke digest karne ki kshmata bahut kam hoti hai kyuki uska pet bahut chotta hota hai isliye wo baar susu aur potty karta rehta hai lekin jaise jaise wo bada hota jata hai uski toilet aur uski potty karne ki adaat me kami aati jaati hai aur jab aapka baby thos ahaar lene lagta hai tab uski ye sab adaate kam ho jaati hai
Answer: Dear mom isme aapko tension lene ki koi jarurat nahi hai aapko bata de ke baby ke digest karne ki kshmata bahut kam hoti hai kyuki uska pet bahut chotta hota hai isliye wo baar susu aur potty karta rehta hai lekin jaise jaise wo bada hota jata hai uski toilet aur uski potty karne ki adaat me kami aati jaati hai aur jab aapka baby thos ahaar lene lagta hai tab uski ye sab adaate kam ho jaati hai
Answer: ये कोई दीक्कत नि है बच्चे करते हि हे 5 months tk
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरी बेबी सुसु बहुत कम करती है दीन मे 5 या 6 बार और रात को तो करती ही नही मे क्या करु ?वो महिने की हे
उत्तर: meri beti bhi itna hi karti hai kyu ki garmi bahut hi pani jayda pilana
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेबी साढे पाँच महीने की हे ब्रेस्टफ़ीद के समय वो कराहाति बहुत हे और उसी समय पोटी सुसु भी करती हे और नीचे जोर लगाति हे . क्या करु
उत्तर: हेलो जब बच्चा मां के पेट से बाहर आता है तो उसका एक्स्क्रेटरी सिस्टम डेवलप्ड होता रहता है उन्हें सुसु पॉटी करने में जोर लगाना पड़ता है जिसकी उन्हें पहले से आदत नहीं रहती। और इसलिए बच्चे अनकंफरटेबल होते हैं और कभी कभी रोते हैं परेशान ना होइए यह थोड़े दिन की प्रॉब्लम है धीरे-धीरे यह प्रॉब्लम अपने आप ठीक हो जाएगी अगर बच्चा सुसु या पाॅटी करते समय जोर लगाता है तो आप उसके सिर और पीठ पर हाथ रख कर थोड़ा सा ऊपर उठा कर उसे हल्का बैठने के पोजीशन पर कर दीजिए। जिसे उसको सुसु या पाॅटी करने में आसानी होगी उसे जोर नहीं लगाना पड़ेगा और वह रोएगा नहीं। बच्चे का दूध पीते समय पॉटी करना कोई समस्या नहीं है। बेबी का डाइजेस्टिव सिस्टम अभी-अभी डेवलप हुआ रहता है इसलिए जैसे ही स्टमक फुल होता है बेबी का डाइजेस्टिव सिस्टम एक्साइटेड होता है जिसके कारण तुरंत पाॅटी होती है। जैसे-जैसे बेबी बड़ा होता जाएगा ये प्रॉब्लम अपने आप ठीक हो जाएगी आप परेशान ना हो यह एक नॉरमल प्रोसेस है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी डिलिवरी के बाद से पोट्टी की जगह और टैको मे दर्द हे और पोट्टी की जगह ईक पिंपल हूआ हे एक दो दिन सें क्या करु
उत्तर: हेलो डियर , आपको अगर पोट्टि वाली जगह पर पिम्पल्स हो गया है तो ऐसे में पोट्टि करने पर प्रेशर से पोट्टि नही करना चाहिये , क्युकी प्रेशर करने से पोट्टि वाले मस्से और टाँकें पर दरद कर सकता है , इसलिए पोट्टि जब तेज लगें तब ही पोट्टि करने जायें इससे टाँकें और पोट्टि वाले मस्से पर जोर नही लगेगा , अगर पोट्टि वाले जगह पर पिम्पल्स हो गया है तो ये बवासिर है इसमें आप रोज खाली पेट सामान्य दूध के साथ नींबू का रस पिये इस समस्या से आपके बवासीर में आराम हो जाता है आपको ऐसे में रोज मूली के पत्तों का साग और दिन में दो-तीन बार मूली का रस पीना चाहिए बहुत फायदा करता है आपको रोज दोपहर में एक गिलास छाछ में भुना जीरा और काला नमक का सेवन करना बवासीर के लिए अच्छा उपचार है आपने जो भी खाना बनाया हर खाने में एक चुटकी हींग जरूर डालना चाहिए से खाना पचता हैं और बवासीर में आराम मिलता है आपको बवासीर है तो आपको मसालेदार चीजो जैसे चिकनाई वाली चीजें और लाल मिर्च का सेवन ना करें ऐसा करने से बवासीर में आराम मिलता है रोज 8 से 10 गिलास पानी पीना चाहिए!
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हेलो मेम मेरी लास्ट डेट एट जनवरी को आयी थी डिलिवरी की डेट बताये और मुझे अपना और आपने बेबी की देखभाल कैसे करु हेल्प मि
उत्तर: Apki lmp ke according apki delivery date 15 October honi chahiye. Ap achhi dief lijiye. Routine check up ke liye jati rahe koi bhari saman n uthae, or koi khas dekhbhal ki jarurat ni h.
»सभी उत्तरों को पढ़ें