3 महीने का बच्चा

Question: मेरी बेटी 3 month 6 दिन की हो गयी है . or अभी तक इसे 2.5 मंथ की वॅक्सीनेशन नही लेगी . क्या कोई side इफ़ेक्ट है ?

0 Answers
सवाल
अभी तक इस सवाल का कोई जवाब नहीं है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरी बेटी 9 मंथ 23 दिन की हो गयी अभी तक उसके दाँत नही आयें
उत्तर: हेलो आप की बच्ची 9 महीने 23 दिन की है और बच्ची के दाँत नही आएं है घबराये नही दांतों का लेट आना कैल्सीअम और विटामिन डी की कमी से होता है आप बच्चे को कैल्सीअम से भरपूर खाना जैसे मिल्क दही पनीर एग ड्राइ फ्रूट्स दे चाहें तों आप डॉक्टर से सलाह कर के कैल्सीअम सप्लीमेंट्स दे सकती है बच्चे को 15 मिनट धूप में ज़रूर ले के जायें ताकि बच्चे को विटामिन D की कमी ना हों सूर्य के प्रकाश में paryapt विटामिन D पाया जाता है आप अगर ब्रेस्ट फीड मदर है तो आप भी हेल्थी खायें ताकि बच्चे को आपके ढूध से न्यूट्रिशन मिल सकें बच्चे के khane का पूरा धयान रखें बच्चे कोदाल चावल रोटी सब्जी इडली डोसा उपमा एग सूजी की खीर आलु का पराठा सैन्ड्विच वेजिटेबल सूप खिचड़ी ओट्स ,कट लेट फ्रूट्स स्मूदि केला ऐपल पपीता चीकू शेक सब खिला सकती है जो हेल्थी हो .कभी कभी दाँत का लेट आना ज़ेनेतिक होता है मतलब आपके दाँत लेट आएं थे तो सम्भव है कि आपके बच्चे के दाँत लेट आ सकते है .
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेटी 12 मंथ की हो गयी अभी तक टीथ नही आयें है उसके क्या kru
उत्तर: हेलो डियर ,आपकी बेबी 12मंथ की है आप बिल्कुल भी परेशान ना हो सभी बच्चों की ग्रोथ लगभग एक समान नहीं होती है बच्चों के दांत 6 महीने से लेकर 15 महीने तक निकलते हैं कुछ बच्चों में सही पोषण तत्व ना मिलने के कारण जैसे कि विटामिन डी और कैल्शियम की कमी के कारण दांत निकलने में देरी हो सकती है| बेबी को विटामिन D के लिए धूप में कम से कम 10 से 15 मिनट तक रखें | baby ko केला, दूध, पनीर, छाछ, दही ,हरी पत्तेदार सब्जियां गाजर ,चुकंदर ,पालक ,ब्रोकली, शकरकंद ,पनीर ,अंडे ,मछलियां अंकुरित अनाज, दलिया ,रागी, ड्राई फूड्स बेबी के भोजन में शामिल करें , 16 महीने के बाद भी बेबी के दांत ना आए तब आप डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं |
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेटी 6 मंथ की हो गयी है , लेकिन अभी तक नही उल्टे हुए है
उत्तर: hello कुछ बच्चे थोड़ा लेट पलटते हैं। बच्चा जब लेटे लेटे खेलता रहता है। तब उसको खेल खेल में एक साइड पलटाने कीकोशिश करिए जैसे बच्चे की कोई खिलौने को उसके किसी एक साइड रख दीजिए बच्चा उस खिलौने को खेलने के लिए पकड़ने की कोशिश में पलटता है बच्चे को अपनी उंगलियों को पकड़ा कर उठाने की कोशिश करिए बच्चा अपने ताकत से उठने की कोशिश करता है ऐसे करने से बच्चे अपने सिर को संभालना सीखते हैं और पलटना भी सीखते हैं। बच्चा जब अच्छे से खेलता रहे तो उसको थोड़ी देर के लिए पेट के बल लेटा दीजिए वह अपने आप सीधा होने की कोशिश करेगा और इस कोशिश में वह पलटना भी सीख जाएगा।
»सभी उत्तरों को पढ़ें