8 महीने का बच्चा

Question: मेरी बेटी 8 मन्थ की हो गयी ह में उसे सॉलिड फ़ूड मि कुछ भि खिलाती हु तो

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर पहले आप अपना question पूरा करिये |
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: हाय मेम मेरी बेटी 8 महीना की हो गयी है और उसे सर्दी हो गयी है तो में क्या उसे दावा दे सकती हु
उत्तर: 7 बूंद coriminic drop 2time de skte h sardi ka h mai b dete hu
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेटी 25 दिन की हो गयी ह ज़ी कुछ ह्ल्की लगती ह .. कुछ दीकत तो नही ह
उत्तर: hello dear aap tension mat lijiye नवजात बच्चों के लिए तो माँ का दूध मानो अमृत तुल्य है। माँ के दूध से बच्चे के शरीर को एंटीबाडी मिलता है। एंटीबाडी एक तरह का प्रोटीन है जो बच्चे के शरीर में पनप रहे संक्रमण को मार भगाता है। चूँकि बच्चे का immune system पूरी तरह विकसित नहीं है इसलिए वो खुद antibody नहीं बना पता है। मगर जैसे जैसे बच्चा बड़ा होगा उसका immune system पूरी तरह विकसित हो जायेगा और तब उसका शरीर खुद ही संक्रमण से लड़ने में सक्षम हो जायेगा। यानि पहले छह महीने कम वजन बच्चे को जितना हो सके अपना स्तनपान कराएं। यह उसके लिए आहार भी है और दवा भी।  जन्म के बाद बच्चे को माँ के संपर्क में रखें। माँ की त्वचा के संपर्क में रहने से बच्चे के शरीर का तापमान नियंत्रित रहेगा।  मौसम के अनुसार बच्चे को कपडे पहनाये। ठण्ड में बच्चे को अच्छी तरह ढक के रखें। बच्चे को ऊनि कपडे पहनाये। गर्मियों में बच्चे को सूती कपडे पहनाये।  गर्मियों में बच्चे को ऐसे कमरे में रखें जो बाकि कमरों के मुकाबले ठंडा हो।  ठण्ड में बच्चे को ऐसे कमरे में रखें जो बाकि कमरों से गर्म हो। कमरे की खिड़कियों को बंद रखें ताकि बहार से ठण्ड हवा अंदर न आये।  बिना डॉक्टर से पूछे बच्चे को नेहलाये नहीं। जब तक आप का बच्चा एक साल का न हो जाये या फिर उसका वजन सामान्य बच्चों के जितना न हो जाये, उसे नहलाएं नहीं। क्योँकि आप का बच्चा खुद से अपना शारीरिक तापमान नियंत्रित करने में अभी असमर्थ है। और इस अवस्था मैं बच्चे को नहलाना हानिकारक हो सकता है। सप्ताह में एक बार, बच्चे को रुई के पोहे से या साफ सूती कपडे को भीगा कर उससे बच्चे के शरीर को पोछ कर साफ करें।  बच्चे के शरीर को हर समय ढक कर रखें बच्चे को एक पल के लिए भी बिना कपडे के ना रखें। 
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हेलो मेम मेरी बेटी 8 मंथ की ह उसे खासी हो गयी ह क्या करू
उत्तर: हेलो डिअर आपके बेबी को खांसी जुखाम तो आपको सरसो के तेल में अजवाइन लहसुन डाल कर पकाए और अपने बेबी की मसाज करें इससे जुखाम और खासी में आराम हो जाएगा , आप पानी मे अज्वॉइन डाल कर पानी को उबाल लें जब पानी ठंडा हो जाये तब अपने बेबी को दिनभर में 3 से 4 बार मे पिलाती रहे बेबी की खांसी ठीक हो जायेगी या आप गाय के घी में थोड़ा सेधां नमक मिलाकर गुनगुना कर ले और बेबी के सीने और पीठ पर लगा दे आपके बेबी की खांसी , जुखाम कम हो जाएगी , आप अपने बेबी को खासी के लिए अदरक के रस और गुड का जलाव बना ले इसके बाद आप अपने बेबी को दिन भर में खांसी आने पर 3 से 4 बाद चटायें इससे आपके बेबी को काफी हद तक खांसी और कफ में भी आराम हो जाएगा , लेकिन ज्यादा खांसी आने पर आप डॉक्टर को दिखा दे ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें