18 महीने का बच्चा

Question: मेरी बेटी 6 saal की है ....उसका मन किसी भी एक जगह पर नही रुकता . और नही किसी चीज़ मे मन लगता है . गुस्सा बहुत जल्दी हो जाती है .और बात बात पर रोती है .....

2 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर छोटे बच्चे अक्सर ऐसा करते हैं इसमें आप ज्यादा चिंता नहीं करें बच्चे का ध्यान बहुत जल्दी भटकता है, अगर आप पढ़ाई करवाते हैं उस टाइम पर बिल्कुल शांति बनाए रखें ताकि बच्चे का ध्यान इधर उधर जा ही नहीं. और बाकी बच्चा jis टाइम पर गुस्सा कर रहा है बात नहीं मान रहा है उस टाइम पर आप आराम से बचे से प्रॉब्लम पूछ ना कि daante क्योंकि अगर आप उस टाइम पर बच्चे को डांट आएंगे और ज्यादा हाइपर होगा, जिस टाइम पर बच्चा कोई बात नहीं सुन रहा होता है उस time पर आप अपने बच्चे को प्यार से ही समझाएं और जब बच्चा नॉर्मल मूड में हो उस टाइम पर बच्चे को वह बात बताएं जिस टाइम पर उसने गलत बात नहीं करी थी जिस टाइम पर आपकी बात बेबी ने नहीं मानी थी उसको एहसास दिलाएं पर प्यार से. बच्चे का हमेशा फ्रेंड बन कर रहे अगर आप उसको हमेशा हर बात पर ठोकते रहेंगे तो बच्चा hyper होने लगता है और आपकी बात सुनना ही बंद कर देगा इसलिए अपने बच्चे के साथ हमेशा chill रहे
Answer: हेलों आपकी बच्ची 6 साल की है और उसका मन एक जगह पर नही लगता है और जल्दी गुस्सा करती है और जल्दी रोती है . क्या आपकी बच्ची बात करती है ?? क्या आपकी बच्ची बातें समझती है ?? आपको फ़ोलो करती है ? मेरी सलाह है कि आप एक बार बेबी को डॉक्टर को दिख ले . हो सकता है बच्चे को ADHD इशू हो या कुछ भी प्रॉब्लम ना हो . पर एक बार डॉक्टर सलाह ज़रूरी है . आप बच्चे को अकेला ना छोड़ें . उसके साथ खेल करे . जो उसे अच्छा लगे वो करे . टी.वी. और मोबाइल पुरा बन्द करे . चाहें बेबी कितना रोयें आप बिल्कुल मोबाइल ना दे .
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरी बेटी 5 साल की है उसका डायट चार्ट बटाये और उसका पढ़ाई में मन भी नही लगता और याद करने में भी परेशानी होती hai है
उत्तर: हेलो डिअर ,आप अपने बच्चे को 3 बार प्रॉपर खाना जो भी आप लेते हैं नाश्ते में आप दलिया ओट्स बेसन चीला सूजी चीला पोहा , आलू भर के पराठा , पनीर भर के पराठा , कभी सादा पराठा ये सब नास्ता में दे , फिर थोड़ा ब्रेक देकर फल में तरबूज , सेब , आम , केला दे , फिर लंच में आप अपने बेबी को दाल चावल सब्जी रोटी , खिचड़ी दे , फिर दोपहर में , दही जरूर दे फिर अपने बेबी को सूला दे कुछ बेबी दोपहर मे सोते समय दूध लेते है तो कुछ इवनिंग टाइम खेलने के बाद लेते हैं इस बीच आप छोटा अई स्नॅक्स लाइक उबल हुआ आलु , बनाना शेक , ब्राउन ब्रेड पर बटर लाग कर दि सकते है ये सब फ़िर 3घण्टे का ब्रेक दे ताकि बच्चा डिनर करे और रात में बीच मे ना उठें डिनर मे आप दाल रोटी जो आपने अपने लिए बनाया हो दे सकते हो हर चीज़ की आदत डाले रात अगर आप दूध देते हैं तो दूध दे , आप अपने बच्चे के लिए इम्युनिक पॉवर को बढ़ाने के लिए ऐसी चीजें जो पच जाए जैसे बादाम प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के बहुत अच्छा है आप बच्चे को रोज 3 से 4 बादाम खिला सकती है , पालक :आप अपने बच्चे को पालक भी इम्युनिक पावर को बढ़ाने के लिए दे सकती है इसमे आयरन प्रचुर मात्रा में पाई जाती हैं ओट्स : ओट्स में बीटा ग्लोकोज नाम का फाइबर पाया जाता है इससे भी इम्युनिक सिस्टम मजबूत होता है , दही : आप अपने बेटे को दही खिलाये ये पचने योग्य होता हैं और इम्युनिक सिस्टम को भी बढाता हैं , अंडा : आप अपने बच्चे को अंडा का ऑमलेट खिला सकती है ये भी बहुत अच्छा होता हैं , ब्रोकली : बच्चे के इम्युनिक सिस्टम को बढ़ाने के लिए ब्रोकली बहुत ही अच्छा माना जाता है इसमें एन्टी आक्सीडेन्ट प्रचुर मात्रा में पाया जाता है isese apke baby ka mind aur sharir dono hi swsth rahegaa .
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मरे पैर मै bhut दर्द हो रहा है क्या करो मन भी ठीक नही लगता है बात बात पर गुस्सा और चिड़ हों जाती है और सर मै भी बहुत दर्द होता है कुछ बताएये
उत्तर: गर्भावस्था में पेट के अंदर बच्चे के भार के कारण दबाव से मांस पेशियों में दरद और ऐंठन उत्पन्न होती है ईसलीए हाथ पैर में दरद महसुस होता है गर्भावस्था के सुरूवात से लेकर अंतिम चरण तक पैरों तथा तलवों दरद होना सामान्य हैयह जादातर महीलाओं को होता है। गर्भ में पल रहे शिशु केकारण गर्भाशय का भार पैरों पर पड़ने लगता है।इससे पैरों को अधिक भार झेलने के दरद और सुजन भी हो सकती है जो शिशु जन्म के बाद खतम हो जाता है।दरद से बचने के लिये पैर के तलवों को गुनगुने तेल से मालीश करें और कम चले जादा देर तक खड़े न रहें ऊंची हील न पहने आराम दायक फ्लैट चप्पलें पहनें इससे आपके पैरों को आराम मीलेगा।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा मन नही लगता हें , और किसी से बात करने की भी इच्छा नही होती
उत्तर: हेलो डियर देखी प्रेगनेंसी में अधिकतर ऐसा ही होता है हमारा मूड दिन-ब-दिन चेंज होता जाता है किसी से बात नहीं करना गुस्सा करना नींद आना और बहुत अजीब अजीब से बातें दिमाग में रहती हैं इससे बिल्कुल घबराए नहीं अपने आपको बिजी रखें इसे अच्छी बुक पढ़ना टीवी देखना बाहर घूमना वह हमारी हॉबी के अकॉर्डिंग काम करना और जितना हो सके खुश रहने की कोशिश कीजिए इसका इफेक्ट आपके बच्चे के माइंड पर पड़ेगा
»सभी उत्तरों को पढ़ें