6 महीने का बच्चा

Question: मेरी बेटी 5month 16 डिन की एच use सरेलेस के.बी. de skti hu

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर ,,आपका बेबी अभी तक 6 महीने पूर्ण रूप से कंप्लीट नहीं हुआ है इसलिए आप बेबी को सेरेलैक ya कोई भी भोजन ,पानी इत्यादि बिल्कुल भी ना दें क्योंकि बच्चे इसे अच्छी तरह pacha नहीं pate hai,जो कि बच्चों को नुकसान देता है इसलिए बेहतर होगा कि आप बेबी के 6 महीने कंप्लीट हो जाने के बाद ही उसे किसी भी प्रकार का भोजन दें|
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: meri beti 5month 16 डेज ki एच kya me use कच्चा apple de सकती hu
उत्तर: ap use 15 days tk or breastfeed de usk bad use apple boil krk ya piuri de skti h or agr kisi b trh k khane se baby ko koi tklif ho to turnt dr ko dikhaye ho skta h use digest na ho
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेटी 5 महीने की एच उसकी मलीस के.बी. टी.के. करनी chaiye
उत्तर: हेलो डियर आप बेबी की मलीस कम से कम 1 या 2 साल तक ज़रूर करना चाहिए मलीस करने से बच्चे के रक्त का सनचर बढ़ता है जो की बेबी के विकास में बहुत फ़ायदे मन्द होता है बेबी जैस जस बडे़ होते है उतना ही जादा चलते ऑर दौड़ते है इसलिए वो थक जाते है तो उन्हें आराम देना भि ज़रूरी है इसलिए दीन में 2 टाइम मलीस ज़रूर करें बेबी को मलीस करने से नीन्द भि अच्छी आती है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेबी 2.5 मंथ की एच यूज़ काउ मिल्क के.बी. से दि शक्ति hu
उत्तर: हेलो डियर अभी आपका बेबी 2 मंथ का है अगर आप बेबी को दूध पिलाती हैं जिससे कि बेबी का पेट नहीं भर रहा है तो आप बेबी को गाय का दूध या भैंस का दूध बेबी के पेट भरने के लिए ना दे तो बेहतर होगा क्योंकि गाय भैंस का दूध पचने में भारी होता है जिससे कि बच्चों को पेट से संबंधित समस्या हो सकती है बच्चों के लिए फार्मूला मिल्क बिल्कुल सही होता है जो कि मां के दूध के समान ही बच्चों के पोषण को पूरा करने के साथ-साथ बच्चों की भूख भी मिट आता है इसलिए आप बेबी को फार्मूला मिल्क दे तो ज्यादा बेहतर होगा|
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेटी 16 महीने की है ऑरo kmjor h mai usko kya khila skti hu
उत्तर: आप बच्चे के खाने मे ये सब शामिल करे , बच्चे का वज़न बढ़ेगा मलाई सहित दूध  बच्चे का वजन अगर कम है तो उसे मलाई वाला दूध पिलाना सही माना जाता है। अगर दूध पीने से बच्चा मना करें तो शेक, स्मूदी या चॉक्लेट पाउडर मिक्स कर देना चाहिए। अंडे अंडे प्रोटीन से भरपूर होते हैं। पीली जर्दी को 8 वें महीने और पूरे अंडे एक वर्ष की उम्र से शुरू किया जा सकता है। आलू  आलू वजन बढ़ाने के लिए उपयोगी होते हैं। नट्स  सभी प्रकार के ड्राई फ्रूट्स और विशेषकर नट्स विटामिन से भरपूर होते हैं। इनका पाउडर बनाकर बच्चों को दूध में मिलाकर पिलाया जा सकता है।   केला दूध में मैश कर इसे देने से बच्चों के वजन में वृद्धि आती है।  दाल फुल क्रीम दही  दही के साथ कुछ फलों का मिश्रण बना कर अपने बच्चो को दीजिए। चीज़ / पनीर  घर का बना पनीर अथवा कोटेज चीज़ एक सर्वश्रेष्ठ विकल्प है   रागी  घी और गुड़ के साथ रागी का प्रयोग बच्चों का वजन बढ़ाने में मदद करता है।   घी  मूंगफली का मक्खन मूंगफली का मक्खन वजन बढ़ाने के लिए एक बहुत अच्छा स्रोत है हरी सब्जियां खिलाने की आदत डालें   जिंक से भरपूर भोजन बच्चों के विकास के लिए जिंक एक बेहद अहम पोषक तत्व होता है। जिंक की कमी के कारण बच्चों को भूख कम लगती है। कोशिश करें कि बच्चें को जिंक से भरपूर भोजन दें जैसे तरबूज के बीज, मूंगफली, बींस, पालक, मशरूम और दूध आदि। प्रोटीन व कार्बोहाइड्रेट वजन बढ़ाने के लिए प्रोटीन का सेवन जरूरी है इसलिए अपने आहार में चिकन, मछली, अंडा, दूध, बादाम व मूंगफली आदि को शामिल करें। इसके अलावा कार्बोहाइड्रेट भी वजन बढ़ाने में मददगार होता है जैसे पास्ता, ब्राउन राइस, ओटमील आदि। इन सबके साथ फलों व सब्जियों का सेवन भी जरूर करें।  दूध में शहद सोने से पहले या नाश्ते में दूध के शहद का सेवन आपका वजन बढ़ा सकता है जैतून का तेल जैतून का तेल में अच्छा वसा होता है। आप जैतून का तेल में बच्चे के भोजन को पका सकते हैं। ऐवकाडो यह फल भी वसा / फैट में समृद्ध और वजन बढ़ाने के लिए एक उत्कृष्ट भोजन है। दूध के साथ या सादे तरीके से मैश करके आप इसे परोस सकते हैं सूप, खीर और हलवा  सब्जियों का पतला सूप या टमाटर का सूप बच्चों के लिए बेहद फायदेमंद होता है। इसके साथ सूजी का हलवा भी बेहद पौष्टिक और वजन बढ़ाने में मददगार होता है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें