13 महीने का बच्चा

Question: मेरी बेटी 1 साल की हो gai हें अभी तक उसे भि दत आया नाही . और उसका वजन भी बहुत कम हें .

1 Answers
सवाल
Answer: बच्चों में कैल्शियम की कमी होने की वजह से उनके दांत जल्दी नहीं आते हैं और कभी-कभी उनके शरीर में कुछ nutrition की कमी हो जाती है जिसकी वजह से daat आने में बहुत लेट होते हैं लेकिन ज्यादातर 4 से 6 महीने में बच्चे के एक दांत आ जाना चाहिए। अगर बच्चे का दांत 13 महीने में भी नहीं आता है तो इस दौरान हमें डॉक्टर की सलाह की जरूरत होती है क्योंकि ऐसे में बच्चों को डॉक्टर के इलाज की जरूरत होती है। ज्यादा अच्छा होगा कि आप 12 महीने तक इंतजार करें अगर 12 महीने के बाद भी बच्चे के दांत नहीं आते हैं तो आप एक बार डॉक्टर से सलाह ले सकते हैं और हो सके तो आप बच्चों के खाने में सभी प्रकार के न्यूट्रीशन को शामिल करें और कैल्शियम की मात्रा अधिक से अधिक दें|
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरी बेटी 8 month 25 day की है और उसे अभी तक 1 भी दांत नाही आया,
उत्तर: बच्चों के दाँत 6 मंथ की उमर से निकलना शुरू हो जाते हैं लेकिन कई बच्चों मे ये लेट से भी निकलते हैं .. आप अपने बच्चे को अच्छे से दूध पिलाया करे .. माँ के दूध में कैल्सीअम होता है जो bachho के हड्डी दाँत मसल्स बनाने में बहुत हेल्प करता है .. अभी की ऐज में आपके बच्चे के मसूड़े में हल्का उभार आ गया होगा . या आने वाला होगा .. बच्चो के सबसे पहले नीचे के दो दाँत आतें हैं फ़िर ऊपर के दो ... बहुत जल्द ही आपके बच्चे के दाँत भी आ जायेंगे। दांत आने के समय बच्चों के मसूड़ों में थोड़ा गुदगुदी या फिर थोड़ी इचिंग की प्रॉब्लम रहती है जिससे खेलने और खाने मे चिड़चिड़ापन आ सकता है । और वह कुछ भी हाथ में आने से मुंह में डालते हैं और अपने चबा-चबाकर अपने masudo को आराम देते हैं इसलिए भी उन्हें थोड़ा चिड़चिड़ापन रहता है.. आप बच्चे के मसूड़ो को मलमल के कपडे से मसाज कर सकती हैं।।। उन्हें गाजर के लम्बे टुकड़े काटकर पकड़ा सकती हैं जिन्हे चबाकर व अपने मसूड़ो को आराम डग।।।लकिन बच्चे को चोकिंग होने का खास ध्यान राखियेगा।।। आप बाजार से तीथर ले कर भी बच्चे को दे सकती हैं।।ये नरम प्लास्टिक के की जेसे होते हैं जिसमे गरूवे बने होते है जो मसूड़ो को मसाज करने में सहायता करते हैं।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेटी 1 साल की है उसके अभी तक एक भी दा त नी आया ऑर उसका वज़न भि बहुत काम hai
उत्तर: बच्चों के 20 दूध के दांत होते हैं यह दांत बच्चों में 6 महीने से लेकर 1 साल के बीच में कभी भी निकलना शुरू हो जाते हैं 3 साल तक बच्चों के दांत पूरी तरह आ जाते हैं , अगर बच्चा 13 महीने से छोटा है तो 1-2 दांत aa चुके हैं तो चिंता की कोई बात नहीं है लेकिन अगर बच्चा 13 महीने का हो चुका है और एक भी दांत नहीं आए हैं तब आप बच्चे को डॉक्टर को दिखाएं साथ ही आप कोशिश करें कि बच्चे को थोड़ी देर धूप में रखें जिससे बच्चे को विटामिन डी मिल सके दांत naa आने का मेन कारण विटामिन डी की कमी हो सकती है आप बच्चे के खानपान का ध्यान रखें विटामिन कैल्शियम की चीजें बच्चों को दें. 1 साल के बेबी को हर 2-3घंटे मे कुछ ना कुछ खिलाना चाहिए .अगर बेबी सुबह 7-8बजे के आसपास उठता है तो सबसे पहले उसे स्तनपानं या बाहर का दूध पिलाये .फिर 10-11 बजे के आसपास कुछ सॉलिड अनाज जैसे oats,ragi,,dalia ,cerelac आदि milk के साथ बना कर दे सकते hai,बेबी को 6महिने milk ki आदत होती है इसलिए वो मीठा और दूध मिला हुआ खाना ज्यादा पसंद करते है . फिर बेबी अगर जगा हुआ है तो दिन मे 12बजे कोई भी फ्रूट juice जैसे एप्पल जूस ,ऑरेंज जूस ,अनार का जूस ,या banana ,chikoo आदि भी दे सकते है .कोशिश करें के उसे हर दिन अलग अलग फ्रूट का स्वाद मिले ,इससे बेबी खाने से बोर भी नहीं होगा और उसका taste bhi develop होगा . फिर दिन मे 2बजे तक उसे मिक्स वेज खिचड़ी ,या दाल चावल मैश कर के खिलाये .और खिचड़ी मे एक spoon घी या बटर भी डाल दे ,इससे खाने का स्वाद भी बढ़ जायेगा और बेबी सवस्थ भी रहेगा .कोशिश करें ki खाने के बाद बेबी 1-2घंटे की नींद ले ,इससे उसका खाना भी aache से digest होगा aur,शरीर का विकास भी होगा . फिर शाम मे बेबी के उठने के बाद दूध जरूर पिलाये और साथ मे एक बिस्कुट भी dip करके खिला सकते है . और फिर रात मे सोने से पहले कुछ सॉलिड खिला दे ,और बेबी अगर देर रात तक सोता है तो उसे एक बार और दूध पिला सकते है . कुल मिला कर दिन भर मे बेबी को 6-7बार खाना khilana चाहिए ,इससे बेबी का शारीरिक और मानसिक विकास दोनों होता है .
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेटी 1 साल 8 महीने की है उसका वजन बहुत कम है कुछ खाती भी नही है क्या करु
उत्तर: आप परेशान ना हो , बच्चे इज उमर मे ऐसा करते है , आप कोशिश करते रहें बच्चे को खिलाने की , बच्चा खाने लगेगा .. खाना खिलाते समय बच्चे का आप धयान खाने से हटा दे , जब भि खाना खिलऐ बच्चे को एक जगह बिठा दे , बेबी के साथ कोई गेम खेले या कोई गाना गाये , बीच बीच मे बच्चे को खिलऐ , बच्चा पुरा नही खाता है तो फोर्स ना करे , कुछ देर बाद फिर खिलायें आप बच्चे के खाने में यह सब इंक्लूड करें बच्चे का वेट बढ़ेगा बच्चे के खाने में आलू ,banana इंक्लूड करें अगर बच्चे यह नहीं खाता है तब आप बच्चे के लिए उसकी पसंद के अनुसार कस्टर्ड बना सकते हैं जिसमें आप मलाई वाला दूध ले फुल फैट मिल्क ले साथ में उस में ड्राई फ्रूट्स डालें और कुछ फल फ्रूट जैसे कि केला ,एप्पल डालें और खिलाएं इससे बच्चे का वेट पड़ेगा अगर नॉन वेजिटेरियन है तब आप बच्चे के खाने में अंडा चिकन यह सब include कर सकते हैं यह सभी बच्चे के स्वास्थ्य के लिए अच्छा होगा आप बच्चे के खाने में दाल शामिल करें अगर बच्चा दाल नहीं खाता है तो आप दाल को आटे में मिक्स करके रोटी बना सकती हैं यह रोटी बच्चे ko khilaye अगर बच्चा दूध पीने से मना करता है तो आप आप कुछ दूध का पनीर बना सकते हैं उस पनीर के आप डिशेज बनाकर बच्चे को दे सकती हैं आप बच्चे के चावल दाल में थोड़ा घी डालें जिससे बच्चे का वजन बढ़ेगा बच्चों में सब्जियां खाने की भी आदत डालने, सब्जियों खाने से भी बच्चों का वजन बढ़ता है अगर बच्चे सब्जी नहीं खा रहे हैं तो आप सब्जियों का सूप भी बना सकते हैं
»सभी उत्तरों को पढ़ें