12 महीने का बच्चा

Question: मेरी बेटी साल की हे और वो बहुत कमज़ोर h

2 Answers
सवाल
Answer: Hello.. बच्चे को अगर आप मोटा करना चाहते हैं उसे तंदुरुस्त बनाना चाहते हैं तो आप उसके खाने में हरी पत्तेदार सब्जियों कुछ ज्यादा ही प्रयोग करें. इसमें प्रोटीन मिनरल्स होते हैं जो कि बच्चों के शरीर के विकास के लिए बहुत जरूरी होता है बच्चों को ऊर्जा मिलती है और उसके अलावा hari सब्जियों को खाने में dhyaan भी बढ़ता है. जिंक वाला आहार दें जिससे कि बच्चों को भूख ज्यादा लगेगी और शरीर की ग्रोथ अच्छी होगी .जो बच्चे देखने में कमजोर होते हैं उन्हें भूख भी कम लगती हैं. उन्हें आप zink वाला और देने से उनकी बुक खुल जाती है और वह अच्छी तरह खाना खाने लगते हैं. Zink वाले आहार के लिए तरबूज के बीज, मूंगफली ,बींस ,पालक ,मशरूम और dudh den. इन सब चीजों से बच्चों का वजन भी पढ़ने में मदद मिलती है. डेयरी उत्पाद में मछली का सेवन भी आप बच्चों को करा सकते हैं. बच्चों को भरपूर मात्रा में दूध दही पनीर इन सब का सेवन करना चाहिए. जिससे बच्चा अपनी ग्रोथ कर सकें .यदि आप नॉनवेज है तो आप अपने बच्चे को मछली और एक अंडा daily दे सकते हैं. बच्चों को ताजे फल भी दे उनसे उनका पेट भरेगा और पोषक तत्व मिलेंगे .उससे उन्हें energy मिलेगी. अंगूर, सेब, केला ,संतरा ,तरबूज, खिलाने से बच्चे तंदुरुस्त होते हैं. बच्चों को ड्राई फ्रूट्स भी हमें रोज देना चाहिए. पिस्ता ,मूंगफली ,काजू खाने से कोलेस्ट्रॉल और खूब सारी कैलोरी मिलती है .जिसको खाने से बच्चे बढ़ेंगे और मोटे भी होंगे .आपको इन्हें रोजाना की डाइट में शामिल करना चाहिए. bachho ke खाने में आप बहुत ज्यादा नमक या बहुत ज्यादा मीठा बिल्कुल भी ना दें .दोनों ही चीजें लिमिट में होनी चाहिए. मात्रा उनकी आप सही रखें. बच्चों को कोल्ड्रिंग fastfood ya बाहर का खाना. होटल का खाना .बहुत ज्यादा पसंद होता है. लेकिन आप कुछ ऐसा करें जिससे कि आप उन्हें इन सब से बचा सके. पानी पीना बहुत जरूरी होता है और यह सही मात्रा में पिया जाए बहुत जरूरी है आप बचपन से ही बच्चों में यह आदत डालें कि वह पानी अच्छी मात्रा में लें ताकि वही आदत पड़ी तक रहे. bachho me थोड़ी एक्सरसाइज करने की ya योगा करने की भी आप आदत डालें इन सभी का प्रभाव आप उनके अच्छे स्वास्थ्य में देखेंगे. take care.
Answer: धीरे धीरे उसे दूध के साथ साथ भूख के समय में उसे थोड़ा थोड़ा ठोस आहार देंआपका बच्चा अगर नही खा रहा है तो बारीक पीस कर दाल या दुध में मीलाकर चम्मच की सहायता से दें और अगर फिर भी न खाये तो आप उसे चपाती के जगह गेंहू का दलीया भी दे सकतीं हैं।अभी बच्चा बहुत छोटा है तो उसको हर चीज उसके टेस्ट को देखकर ही खिलायें दलीया को आप मीठा और नमकीन दोनोही बना सकते हैं।आप उसे घर पर बने सभी व्यंजन मैश करके दीजिये।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरी बेटी बहुत कमज़ोर हे और बह 16 महीने की हे
उत्तर: आप बच्चे के खाने मे ये सब शामिल करे , बच्चे का वज़न बढ़ेगा मलाई सहित दूध  बच्चे का वजन अगर कम है तो उसे मलाई वाला दूध पिलाना सही माना जाता है, अगर दूध पीने से बच्चा मना करें तो शेक, स्मूदी या चॉक्लेट पाउडर मिक्स कर देना चाहिए अंडे अंडे प्रोटीन से भरपूर होते हैं। पीली जर्दी को 8 वें महीने और पूरे अंडे एक वर्ष की उम्र से शुरू किया जा सकता है आलू  आलू वजन बढ़ाने के लिए उपयोगी होते हैं। नट्स  सभी प्रकार के ड्राई फ्रूट्स और विशेषकर नट्स विटामिन से भरपूर होते हैं,इनका पाउडर बनाकर बच्चों को दूध में मिलाकर पिलाया जा सकता है  केला दूध में मैश कर इसे देने से बच्चों के वजन में वृद्धि आती है.  दाल फुल क्रीम दही  दही के साथ कुछ फलों का मिश्रण बना कर अपने बच्चो को दीजिए चीज़ ,पनीर  घर का बना पनीर अथवा कोटेज चीज़ .   रागी  घी और गुड़ के साथ रागी का प्रयोग बच्चों का वजन बढ़ाने में मदद करता है   घी  हरी सब्जियां खिलाने की आदत डालें   जिंक से भरपूर भोजन बच्चों के विकास के लिए जिंक एक बेहद अहम पोषक तत्व होता है, जिंक की कमी के कारण बच्चों को भूख कम लगती है, कोशिश करें कि बच्चें को जिंक से भरपूर भोजन दें जैसे तरबूज के बीज, मूंगफली, बींस, पालक, मशरूम और दूध आदि प्रोटीन व कार्बोहाइड्रेट वजन बढ़ाने के लिए प्रोटीन का सेवन जरूरी है इसलिए अपने आहार में चिकन, मछली, अंडा, दूध, बादाम व मूंगफली आदि को शामिल करें। इसके अलावा कार्बोहाइड्रेट भी वजन बढ़ाने में मददगार होता है जैसे पास्ता, ब्राउन राइस, ओटमील आदि इन सबके साथ फलों व सब्जियों का सेवन भी जरूर करें।  दूध में शहद सोने से पहले या नाश्ते में दूध के शहद का सेवन आपका वजन बढ़ा सकता है जैतून का तेल जैतून का तेल में अच्छा वसा होता है। आप जैतून का तेल में बच्चे के भोजन को पका सकते है सूप, खीर और हलवा  सब्जियों का पतला सूप या टमाटर का सूप बच्चों के लिए बेहद फायदेमंद होता है,इसके साथ सूजी का हलवा भी बेहद पौष्टिक और वजन बढ़ाने में मददगार होता है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेटी 6 साल की है लेकिन वो बहुत कमज़ोर है और खाना भी बहुत कम खाती है, इसलिए बेटी के लिए कोई diet chart बताये
उत्तर: हेलो डियर बच्चा क्यों नहीं खाता है क्या बच्चा शुरुआत से ही ऐसा है? अपने बच्चे को हर चीज खाने की आदत डालें और बच्चे को खाने की खूबियां बताएं आपका बच्चा 8 साल का है बच्चा बहुत समझदार हो गया होगा अपने बच्चे को ना खाने से क्या-क्या होता है उसके बारे में बताएं खाना खाना कितना जरूरी है यह भी बताएं अगर वह खाना नहीं खाएगा तो स्ट्रांग कैसे बनेगा उसकी eyes कैसी अच्छी होंगी बॉडी कैसे स्ट्रांग बनेगी इस चीज के बारे में बच्चे को बताएं और अपने बच्चे को भरपूर खेलने का टाइम दे क्योंकि बच्चा जितना खेलता है उससे बच्चे को उतनी ही भूख लगती है पानी अच्छे से पिलाएं बाकी आप इस बात का ध्यान दें चाहे बच्चा कम खाए पर बहुत ही पौष्टिक आहार खाए बाहर का जंग फूड बिल्कुल बंद कर दें धीरे-धीरे बच्चे में सुधार होने लगेगा आप स्कूल के नाम से हेल्प ले सकते हैं उन्हें अपनी प्रॉब्लम बताएं वह बच्चे को समझाएं कि क्लास में जब डिस्कस करेंगे कि खाना खाना कितना जरूरी होता है उससे भी बच्चे पर असर पड़ेगा
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेटी के बाल बहुत रफ़ हे वो 4 साल की हे क्या करूँ
उत्तर: हेलो डियर बेबी के बाल अगर ऐसा है तो इसे सॉफ्ट और सिल्की बनाने के लिए आप बेबी के बालों की मसाज जैतून तेल या बादाम तेल से करें इससे बालों में नमी और चमक आने लगती है इसके अलावा आप बेबी के बालों को रेगुलर शैंपू से ना वॉश करें हफ्ते में केवल दो बार माइल्ड शैंपू से ही बेबी के बालों को वॉश करें इससे बालों में नमी बनी रहेगी और रूखापन धीरे-धीरे कम होने लगेगा
»सभी उत्तरों को पढ़ें