20 महीने का बच्चा

Question: मेरी बेटी रैट को सोती नही हि वो अची सरहद खा लटी हि फिर भि nhi soti

1 Answers
सवाल
Answer: हर बच्चों के सोने का अलग-अलग पैटर्न होता है अलग-अलग आदत होता है इसके लिए आप घबराइए नहीं जैसे-जैसे बच्चा बड़ा होगा उनकी आदत में भी बदलाव आते जाएगा कई बच्चों को दूध पीकर सोने की आदत होती है, कई बच्चे झूले पर ही सोते हैं, कई बच्चे टहल कर सोते हैं, इसलिए आप बिल्कुल भी घबरायेंगे नहीं धीरे-धीरे उनके आदतों में बदलाव करने की कोशिश कीजिए ।कभी आप उन्हें kandhe में थपकी देकर सुलाने की कोशिश कीजिए। कभी उनके साथ bagal में लेट कर सुनाने की कोशिश कीजिए अभी बच्चा weseबहुत ज्यादा छोटा है धीरे धीरे खुद-ब-खुद चेंज हो जाएगा।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरी बेटी सारी रैट नही सोती क्या kru
उत्तर: आपकी बेटी अगर सारी रात सोती नहीं है और सारी रात रोती रहती है तो दोनों चीजों में अंतर है बच्चे का रात भर ना सोना नॉर्मल होता है लेकिन बच्चे का रात भर रोना उसे कॉलिंग पेन कहा जाता है और ऐसे में बच्चे को गैस की प्रॉब्लम हो सकती है या पेट में मरोड़े या दर्द उठ सकते हैं और उसके लिए कौलिक ऐड करके ड्रॉप्स आती है वह तीन से चार बूंद बच्चे को देनी होती है पूरे दिन में करीब तीन से चार बार तीन चार बूंद दे सकते हैं जिससे बच्चे को पेट की गैस और दर्द में रिलीफ मिलता है लेकिन रो नहीं रही है और सारी रात जागती रहती है तो इसका कारण बच्चे के टाइम शेडूल सेट ना होने के कारण भी हो सकता है जो बच्चे रात में जन्मते हैं उनके साथ ही अक्सर देखा जाता है कि वह दिन में बहुत सोते हैं और रात में जगते हैं चिंता ना करें यह साइकल थोड़े टाइम में सेट हो जाएगा कोशिश करें कि दिन में जब आप बच्चे को सुनाएं तो दिन में सो जाते वक्त अंधेरा ना करें पर्दे ना लगाएं खिड़की खुली रखें रोशनी का जो भी सोर्स होता है स्त्रोत्र होता है उसे खुला रखें ताकि बच्चा धीरे-धीरे यह समझ पाए दिन और रात में अंतर कर पाए जितना जल्दी बच्चा यह सीखेगा उतना जल्दी उसको सोने में आसानी होगी
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेटी 7 मंथ की है पी.आर. ये बिल्कुल नही सोती सिर्फ़ रैट को सोती डिन मि नही सोती क्या करूँ
उत्तर: हेलो अगर आपके बच्चे को दिन में नींद नहीं आती तो आप यह देखिए कि आपका बेबी खुश रहता है। खेलता है। प्रॉपर ब्रेस्टफीडिंग करता है। उसके मोशन क्लियर है ज्यादा रोता नहीं और एज के हिसाब से उसका वेट भी सही है तोआपको इतना परेशान होने की जरूरत नहीं है। कुछ बच्चों की नींद छोटी होती है आप बच्चे की दिन में तीन या चार बार मसाज करें। गुनगुने पानी से बच्चे को रोज नहलाए। और पेट भरकर ब्रेस्टफीड कराएं।या खाना खिलाये बच्चे को नींद जरूर आएगी। जहां तक हो सके आप बच्चे को अपने साथ लेकर सुलाएं। कम रोशनी में शांत माहौल में बच्चे को सुलाएं। टीवी की आवाज से या बच्चे के पास मोबाइल लेकर बैठने से भी बच्चों के नींद पर असर पड़ता है। घर में पेट डॉग होने से उसके अचानक भौंकने से बच्चे सो नहीं पाते। अगर बार-बार बच्चों के नींद में डिस्टरबेंस होता है तो बच्चों का नींद धीरे धीरे उड़ने लगती है। सुलाते समय आप बच्चे के बालों पर हाथ फेरीये उसके कानों पर उंगलियां घुमाइए। धीरे-धीरे बच्चे को नींद आने लगेगी। फिर आप उसे बिस्तर पर सुला कर साइड में तकिए रख दे और उसे सीने तक चादर से ढके। साइड में तकिया रहने से बच्चे को अपने साथ किसी के होने का एहसास होता है और वह शांति से सोता है। आप ये सब करके जरूर देखें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेटी रैट को बार बार जागती एच फ़ुर दूध पीकर सोती है ...
उत्तर: 🙏 ज्यादातर छोटे बच्चों को यह परेशानी होती बहुत हल्की सी आहट जादा रोशनी से उठ जाते हैं तो आपको ध्यान रखना चाहिए कि पहले तो बच्चे का पेट सही तरह भरा हो और बच्चे को ऐसी जगह पर सुलायें जहां पर आहट ना हो हल्ला ना हो और ज्यादा तेज रोशनी ना हो बच्चे अक्सर शांति से ही सोना पसंद करते हैं उनके पूरे बॉडी पार्ट्स बहुत ही सेंसिटिव होते हैं इसलिए उन्हें हल्की सी हलकी आवाज भी सुनाई देती है और निंद टूट जाती है। कोशिश करें कि बच्चे के साथ आपकी भी सोने का टाइम हो आप अगर बच्चे के साथ सोएंगे तो बच्चा लगातार कई घंटों तक आपके साथ सोएगा वह अगर उठ भी जाएगा तो आपका साथ देखकर वह डरेगा नहीं घबराएगा नहीं और फिर से सो जायेगा। Take care💐
»सभी उत्तरों को पढ़ें
Healofy Proud Daughter