3 महीने का बच्चा

Question: मेरी बेटी रेग्युलर पोट्टि नही करती कभी रोज कभी 3 डिन बैड कभी 4 डि बी हो जाते है उसको me घुट्टी देती हू . फिर भी नही रेगुलेटर नही करती मुझे क्या करना चाहिए . उसकी हेल्थ एच के लिए

1 Answers
सवाल
Answer: बच्चे को सिर्फ अपना दूध पिलाते रहिए आप छोटे बच्चे को घुट्टी बिल्कुल भी नहीं दीजिए। यह आपको डॉक्टर की सलाह से ही देना चाहिए ।छोटे बच्चों की पाचन क्षमता बहुत ही ज्यादा नाजुक होती है,इसलिए सिर्फ वह मां का दूध ही pacha सकते हैं। अगर बच्चे को पेट में गैस की समस्या है तो आप उनके पेट में घुमावदार मालिश कर सकते हैं हल्के हाथों से,जिससे बच्चे को पेट में गैस की समस्या कम होगी। आप बच्चे को हर बार सही पोजीशन में रखकर दूध पिलाई जिससे बच्चे गैस कम घटक पाएंगे और उन्हें डकार दिलवाते रहिए जिससे उनके पेट में गैस नहीं जमेगी। आप अपने बच्चे को साईकिल चलाने वाला एक्सरसाइज भी करा सकती हैं जिससे भी उनके पेट पेट में गैस पास करने में आराम मिलेगा । आप बच्चे को सिर्फ अपना ही दूध पिलाई है कोशिश कीजिए कि उन्हें घुट्टी की जरूरत ना पड़े।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरी बेटी 12 महीने की है उसको रोज रात में फ़िवर आ जाता है मेडिसन देती हूँ फिर भी थोड़ी देर के लिए फ़िवर चला जाता है फिर आ जाता है
उत्तर: हेलो डियर हो सकता है कि बच्चे के दांत निकल रहे हो अब से जब बच्चे के दांत निकलते हैं तो कभी कबार बुखार आता और जाता रहता है पर बहुत कड़ी नजर रखें यदि बार-बार ऐसा हो रहा है और 3 दिन के बाद भी ऐसा लगातार हो रहा है तो बिना इंतजार किए डॉक्टर से जरूर कंसल्ट करें और किसी के कहने पर यहां अपने आप से कोई भी दवा नहीं दे जब तक कि आपको डॉक्टर ना कहें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी 2 month की बेटी है उसको 3 दिन से पोटी नही हुई है और घुट्टी उसको सूट नही करती तो तो मुझे क्या करना chaiye
उत्तर: सबसे पहले तो आपका बच्चा भी बहुत छोटा है 6 महीने से पहले बच्चे को कोई भी चीज नहीं देनी चाहिए यहां तक कि पानी की एक बुंद भी नही घुटटी और gripe water डॉक्टरों द्वारा सलाह नहीं दी जाती है। ये पाचन तंत्र खराब करते हैं। कभी-कभी वे एलर्जी का कारण हो सकते हैं। उनमें बेकिंग सोडा भी होता है। बेकिंग सोडा को colic baby को नहीं दिया जाना चाहिए। कुछ बच्चे जो की कब्ज से ग्रस्त होते है उन्हें यह काम करने में तकलीफ होती है। उनमे या तो मल सूखा हो सकता है या रुक रुक कर आ सकता है या उनका मल कठोर हो सकता है। जिसको की आसानी से है निकाला जा सकता है। कभी कभी जब भी आप किसी अभिभावक को रोते हुए बच्चे के साथ देखे जिसे की बहुत ही असुविधा हो रही हो तो आप यह मान सकते हैं की बच्चे को कोलिक हुआ है। पर जबकि कोलिक एक आम अस्थायी दशा है , शिशुओ में गंभीर कब्ज की शिकातय एक गंभीर समस्या हो सकती है।मल निकालने में बहुत ताकत लगानी पड़ती है जिसमे की वे अपने पैर अपने पेट की तरफ ले आते हैं और यह काम करते वक्त उनका चेहरा लाल हो जाता है। नए पैदा हुए शिशुओ में कब्ज से निपटने के लिए यहाँ कुछ सुझाव दिए हैं :गर्म पानी के अंदर बच्चे के पेट की मालिश करने स या फिर तेल से पेट की हल्की मालीसे भी बच्चे की आंत उत्तेजित हो जाती है  और मल निकालने में आसानी हो जाती है जिसकी वजह से उसे कब्ज से राहत मिल जाती है। और अगर बच्चे को बोतल से दूध पिलाया जाए तो ऐसा हो सकता है की वह ब्रांड उसके पाचन तंत्र के लिए सही न हो तो इसलिए अलग अलग उद्योग के दूध पिलाए जा सकते हैं ताकि उसके लिए सबसे बेहतर दूध मिल सके।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेटी का वेट बहुत कम हैऔर बहुत दुबली भी हैउस का वेट 6kg है उसकी हेल्थ और वेट बढ़ाने के लिए क्या करना चाहिए
उत्तर: बच्चे को आप आलू से बनी चीजें खिला सकते हैं बॉयल्ड आलू भी खिला सकते हैं आलू वजन बढ़ाने के लिए उपयोगी होते हैं यह कार्बोहाइड्रेट ऊर्जा का अच्छा स्रोत है..शकरकंद फाइबर पोटेशियम विटामिन से भरपूर होते हैं इन्हें खाने से वजन भी बढ़ता है बच्चे को दूध में मिक्स करके दिया जा सकता है केला एनर्जी का बेहतरीन स्रोत है दूध में मैच करके इसे दें दाल में प्रोटीन होता है दाल का पानी बच्चों को अवश्य पिलाना चाहिए
»सभी उत्तरों को पढ़ें