16 महीने का बच्चा

Question: मेरी बेटी 4 महन्त की है उसे सर्दी और खासी है और कफ़ जादा है तों इसपर इलाज बतय

1 Answers
सवाल
Answer: शिशु को सर्दी और जुकाम होने पे माँ पाने बच्चे को स्तनपान कराएं। दिन में जितनी बार स्तनपान करा सकती हैं,  अजवाइन के सूखे दाने को तवे पे भून लीजिये। अब एक सूती के रूमाल में इसे बांध के एक पोटली बना लीजिये। यह पोटली जब हल्का गरम रहे, उसी वक्त इससे शिशु की छाती, पीठ, पैर के तलुए, और हाटों की हटेलियोँ पे घिसिये। इससे शिशु को सर्दी और जुकाम में आराम पहुंचेगा लहसून के कुछ फाकों को सरसों के तेल में भून लीजिये। इस तेल को शिशु की गर्दन, छाती, पीठ और पैर के तलुओं पे लगाइये एक चम्मच सेंधा नमक में गरम सरसों का तेल मिलके इस मिश्रण से शिशु की छाती और पीठ पे मालिश करें मालिश वाले तेल में कुछ तुलसी के पत्तों को डाल सकती हैं। तुलसी वाला मालिश का तेल त्यार करने के लिया आप तीन चम्मच (3 spoon) नारियल का तेल ले लीजिये। नारियल के तेल को गरम कीजिये। अब इसमें तुलसी के पत्तों को कुचल कर (crush) तेल में मिलाइये। इस तरह से कुचलने से तुलसी के पत्तों का अर्क नारियल के तेल में मिल जायेगा। नारियल का तेल तुलसी के पत्तों के सरे उपयोगी गुणों को सोख लेगा
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरी बेटी 4 मंथ की है उसे सर्दी खासी hai
उत्तर: यदि बच्चे को खांसी aur sardi हो रही है तो आप बिल्कुल ना घबराए इसके बहुत सारे उपाय हैंl कभी-कभी छोटे बच्चे को वायरल इनफेक्शन होने की वजह से सर्दी खांसी हो जाती है| iske liye kuchh upay kar sakti hai ,जैसे अगर आप छोटे बच्चे को सरसों के तेल में लहसुन की कलियां तलकर इस हल्के गुनगुने तेल को पूरे शरीर पर मालिश करते हैं तो इसे बच्चे को बहुत ज्यादा राहत मिलती है| बच्चे के गले में बलगम जमने के वजह से उनको khasi ज्यादा आता है इसलिए आप उनको गर्म पानी से bhaap दीजिए ,10 मिनट bhaap देने के बाद बच्चे के गले में जमा हुआ बलगम पिघल जाता है lऔर बच्चे का गला साफ होने की वजह से खांसी रुक जाता है| अगर आप bhaap नहीं दे पाते हैं तो आप गर्म कपड़े की सहायता से गले की सिकाई कर सकते हैं| बच्चे को ठंडी हवा में बिल्कुल भी ना रखे कि ठंडी हवा में सांस लेने से बच्चे के गले में बलगम और jamne लगता है जिसे की खांसी और तेज हो जाती है इसलिए बच्चे को गर्म कमरे में रखे| और यदि खांसी बहुत ही ज्यादा आ रही हो तो आप तुरंत doctor को दिखाएं| iske साथ साथ आप बच्चे को सरसों के तेल में हल्दी को मिलाकर us past ko छाती,pair और माथे पर लगाएं हल्दी की गर्माहट की वजह से बच्चे की सर्दी खांसी और बलगम पिघलने लगता है जिसे क बच्चे को बहुत ज्यादा राहत मिलती है| अजवाइन की पोटली बनाकर aap बच्चे के नाक पर रख सकते हो jisse कि बच्चे का गला साफ होता है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेटी को सर्दी है उसे बहुत खासी आती है और गला मे कफ़ है उसे कोन से सीरप पिलाउ
उत्तर: डिअर बेबी की नाक बंद रहने का कारण ज़ुकाम, ओर सर्दी हो सकती है नाक बंद होने की वजह से ओर खासी की वजह से बेबी को सास लेने में भी प्रॉब्लम होती है देर आओ इसके लिए कुछ घरेलू उपाय कर सकती है 1 शिशु की नाक में दिन में कई बार नेसल ड्राप डालने से उसे बंद नाक की समस्या से आराम मिलता है। इसका इस्तेमाल आप तब तक करें जब तक की शिशु की बंद नाक की समस्या पूरी तरह से समाप्त न हो जाये। 2 आओ बच्चे की अजवाइन की पोटली बनाकर सिकाई कीजिये ,सती कपड़े में अजवाइन को ग्राम करके बाँध ले और बच्चे की सिलाई कीजिये 3 डिअर आप बेबी को गरम पानी का भाप देने का एक बहुत ही आसान तरीका है की बाथरूम में गरम पानी का टैप खोल दीजिये, कुछ देर में जब स्नानघर भाप से भर जाये तो अपने बेबी को गोदी में लेके 15 मिनट बाथरूम के गुजारें। इतना समय काफी हो 4 आप बेबी को एक चुटकी केसर को गुन्गुने पानी में दलके उसे बेबी के छाती और पीठ व् सर में लगाए इससे बेबी का बलगम रिलीफ होगा 5 कुछ दिनों के लिए जब तक की आप के बेबी की सर्दी खांसी और बंद नाक की समस्या पूरी तरह ठीक न हो जाये, बेबी के कमरे की खड़कियोँ और दरवाजों को बंद रखें। 6आप बेबी को एक चम्मच दूध में एक चुटकी हल्दी डेल फिर ठंडा होने पर बच्चे को पिलाये ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेटी वन मंथ की है उसे कफ़ और खासी है क्या मै उसे नेबुलिज़ेर दे सकती हु
उत्तर: हेलो आपकी बच्ची वन मंथ ओल्ड है हा आप बच्चे को नेबुलिसे कर सकती है इसमें दवाई की सही मात्रा चेस्ट में सीधे पहुँचती है और जल्दी असर करती है दवाइयों का सेवन से बच्चे की भूख कम हो जाती है और असर धीरे होता है ज़्यादा ऐन्टाइबाइआटीक्स के यूज़ से बच्चों का पाचन प्रभवित होता है आपका बेबी अभी बहुत छोटा है ऐसे में मेडिसिन आप बेबी को डॉक्टर की सलाह ले कर ही दे बच्चे को कफ है तो बेबी को nebulize मशीन से करवाये बच्चे को कफ से राहत मिलेगी बच्चों का इम्यून सिस्टम कमज़ोर होता है ऐसे में बच्चे को कपड़े ऐसे पहनाये कि गर्माहट बनी रहें कमरे को भी गरम रखने की कोशिश करे .आप उसे घी और कपूर का मिश्रण लगा सकते है। पहले घी ले और उसे हल्का गर्म करें, फिर उसमे कपूर के कुछ टुकड़े डाल दें और पिघलने दें। ठंडा हो जाने के बाद इसे आप उसकी छाती, पीठ और तलवे पर लगाएं। उसे आराम मिलेगा। आप उसे सरसों के तेल को गर्म कर उसमे अजवाइन और लहसुन डालें ,फिर जब वह ठंडा हो जाए तो उसे उसकी छाती और पीठ पर अच्छी तरह से लगाएं बच्चे को आराम करवाये बच्चे जितना आराम करेगा उतनी जल्दी रिकवर करेगा अगर आप ब्रेस्ट फीड माँ है तो खाने में सन्तुलित और हेल्थी चीज़ें खायें जिसके कारण बच्चे को न्यूट्रिशन मिल सकें और बच्चे को पानी की कमी ना हो lबच्चे को संक्रमण से बचाने के लिये अपना और बच्चे का हाथ साफ रखें बच्चे को फीड कराते समय पहले हैण्ड वाश करेl बच्चे को फीड कराते समय और सुलाते समय बच्चे का सर कुछ ऊपर रखें इसके लिए आप पतली तकिया का यूज़ कर सकती है ऐसे में बच्चे को साँस लेने में आसानी होगी आप अजवाइन भून ले उसे एक कपड़े में बाँध कर पोटली बना ले फिर उसे बच्चे के बच्चे के बैक चेस्ट तलवो पर सीकाई करे धयान रहें अजवाइन ज़्यादा गर्म नही होना चाहिए .बच्चे को कुछ देर सँवरे 8 से 10 बजे की धूप में ज़रूर ले जायें ताकि बच्चे को सूर्य के प्रकाश से विटामिन डी मिलें विटामिन डी बच्चे के सर्दी को कम करने और ग्रोथ में हेल्प फूल हैधुप दिखाने के लिए बच्चे को सीधे धुप में न रखेंlडायपर समय पर बदले प्रोबेल्म ज़्यादा हो तो डोक्टर से सलाह ले
»सभी उत्तरों को पढ़ें