6 महीने का बच्चा

Question: मेरी बेटी 5 मंथ की है तो उसका weight badhane के लिये क्या खिलाऊँ

2 Answers
सवाल
Answer: hello सिक्स मंथ होने के बाद बच्चे को मां के दूध या फार्मूला मिल्क के अलावा भी कुछ और खिलाने की जरूरत पड़ने लगती है ऐसे में आप बच्चे को शुरुआत में फलो की फ्यूरी जैसे एप्पल बनाना पपाया नाशपाती खुबानी की फ्यूरी बनाकर बच्चे को खिलाएं बच्चा जब इसे खाने लगे तो 1 हफ्ते के बाद आप बच्चे को सब्जियों की पूरी जैसे गाजर पालक बींस की फ्यूरी दें। सुबह फलों की फ्यूरी और शाम को वेजिटेबल फ्यूरी बच्चे को खिलाएं बच्चा जब इसे खाना सीख जाए तब आप उसे खिचड़ी दलिया खीर पतला हलवा मसला हुआ दाल चावल दाल रोटी दूध रोटी मसलकर ओटमील की खिचड़ी आदि चीजें बदल बदल कर बच्चे को खिलाएं इससे बच्चे को सभी प्रकार के टेस्ट के खाने की आदत होती है और बच्चा जल्दी सॉलिड डाइट लेना सीख जाते हैं इन सब चीजों की शुरुआत बच्चे को एक दो चम्मच खिलाकर करें जबरदस्ती बच्चे को ज्यादा ना खिलाए धीरे धीरे आप मात्रा को बढ़ाती जाए। दूध के बाद जब बच्चा कुछ और खाना शुरू करते हैं तो आसानी से डाइजेस्ट नहीं कर पाते। इसने आप थोड़ा थोड़ा करके मात्रा बढ़ा दी जाए
Answer: हेलो डियर अभी आपका बेबी सच पास मंथ का है बेबी के 6 मंथ कंपलीट होते तक मां का दूध ही बच्चे के लिए संपूर्ण आहार होता है 6 मंथ कंपलीट होने के बाद आप बेबी को थोड़ा थोड़ा करके ठोस आहार देना स्टार्ट कर सकती हैं .. इसलिए आपको अभी से टेंशन लेने की जरूरत नहीं है और आप बेबी को 6 महीने तक अच्छी तरह बेस्ट फीडिंग कराएं और दोनों टाइम अच्छी तरह मालिश करें . ओके
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरी बेटी 6 मंथ की है और वेट 6.5 है और ये कम है उसका वजन बदाने के लिये क्या खिलाऊँ जीस्सें उसका वजन बढ़ेगा प्लीज बताये .
उत्तर: हेलो सिक्स मंथ होने के बाद बच्चे को मां के दूध या फार्मूला मिल्क के अलावा भी कुछ और खिलाने की जरूरत पड़ने लगती है ऐसे में आप बच्चे को शुरुआत में फलो की फ्यूरी जैसे एप्पल बनाना पपाया नाशपाती खुबानी की फ्यूरी बनाकर बच्चे को खिलाएं बच्चा जब इसे खाने लगे तो 1 हफ्ते के बाद आप बच्चे को सब्जियों की पूरी जैसे गाजर पालक बींस की फ्यूरी दें। सुबह फलों की फ्यूरी और शाम को वेजिटेबल फ्यूरी बच्चे को खिलाएं बच्चा जब इसे खाना सीख जाए तब आप उसे खिचड़ी दलिया खीर पतला हलवा मसला हुआ दाल चावल दाल रोटी दूध रोटी मसलकर ओटमील की खिचड़ी आदि चीजें बदल बदल कर बच्चे को खिलाएं इससे बच्चे को सभी प्रकार के टेस्ट के खाने की आदत होती है और बच्चा जल्दी सॉलिड डाइट लेना सीख जाते हैं इन सब चीजों की शुरुआत बच्चे को एक दो चम्मच खिलाकर करें जबरदस्ती बच्चे को ज्यादा ना खिलाए धीरे धीरे आप मात्रा को बढ़ाती जाए। दूध के बाद जब बच्चा कुछ और खाना शुरू करते हैं तो आसानी से डाइजेस्ट नहीं कर पाते। इसने आप थोड़ा थोड़ा करके मात्रा बढ़ती जाए। आप बादाम और काजू को सुखा रोस्ट करके मिक्सी में पीस कर पाउडर बना ले। और बच्चे को जब भी खाना खिलाये उसमें एक चम्मच यह पाउडर जरूर डालें इससे बच्चे का वजन जल्दी बढ़ेगा।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेटी अभी 9 मंथ की है उसका वज़न 7 के.जी. है माई उसको क्या खिलाऊँ
उत्तर: आपका बच्चा 9 महीने का हो चुका है तो अब आप उसको कई प्रकार के आहार दे सकती हैं ऐसे बहुत से आहार जो आप पुरे घर के लिए बनाती हैं और जिसमे नमक और मसाला कम हो  बच्चों को रोटी या पराठा देते वक्त उसको छोटे-छोटे टुकड़ों में तोड़ दें, अच्छी तरह पका हुआ हो और नरम हो नौ महीने पुरे होने पे आप अपने बच्चे को non-vegetarian food भी दे सकते हैं जैसे की अंडा , chicken, और मछली ज्यादातर बच्चे दिन में 3 meal और एक बार थोड़ा स्नैक लेते हैं अपने बच्चे को चिकन या हैल्दी सब्जियों का सूप बनाकर de बच्चे को ऐसी सब्जियां खिलाएं जो आसानी से बच भी जाए और प्रोटीन बी भरपूर मिले,शकरकंद और उबली गाजर ऐसी ही सब्जियां . मलायम चावल ,सूजी हलवामूंग दाल की खिचड़ीरागी हलवा ,पांच दालों की खिचड़ी,दलीय,सब्जियों की खिचड़ी,सेवइयां,सूजी उपमा ,गाजर का हलवा,सब्जियों का puree सादी या मीठी दही बच्चे को सादी दही खिलाए,अगर वह नहीं खा रहा तो उसका टेस्ट चेंज करने के लिए मीठा मिला लें, याद रखें कि दही बच्चे को हमेशा सुबह के समय ही खिलाएं.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेटी 75 डेज की है उसका वेट बहुत कम है वेट badhane के लिये उपाय बँटायें
उत्तर: बिल्कुल भी चिंता नहीं कीजिए 2 महीने के बच्चे का वेट 4 किलो से 7 किलो के आसपास होना चाहिए अगर आपके बच्चे का वेट 4 किलो से भी कम है तो आप अपने दूध पिलाने की फ्रीक्वेंसी को थोड़ा सा बढ़ा सकते हैं आप उन्हें हर 2 घंटे में दूध पिलाई और अच्छे से डकार दिलाए उनके पेट में गैस नहीं जमेगी और उनके दूध पीने के लिए ज्यादा जगह भी बनेगी.. अगर उनकी susu और पार्टी करने की फ्रीक्वेंसी ठीक है तो आप एक बार डॉक्टर से सलाह भी ले सकती है आप अपना पौष्टिक दूध पिलाने के लिए कुछ घरेलू उपाय भी कर सक्ति जिससे आपका दूध पौष्टिक आएगा और ज्यादा मात्रा में आएगा.. बच्चे को जन्म के बाद माँ का दूध जरूर पिलाना चाहिए उसमें बच्चे के लिए रोगप्रतिरोधक छमता होती है, जो बच्चे के लिए जनम के बाद बेहद आवश्यक होती है। इसमें बहरपुर मात्रा में पोशक तत्व और विटामिन्स होते है जो बच्चे के शारीरिक और मानसिक विकास के लिए बहुत जरुरी होते हैं। इसमे सही मात्रा में फेट प्रोटीन और काबोहैड्रेट होते हैं जो बच्चे को आसानी से पचने में सहायक होते है। इसमे कैल्शियम और आयरन होते हैं जो बच्चे के विकास के लिए बेहद जरुरी तत्व है। मा के दूध से बच्चे का पाचन तंत्र का तंत्रिका तंत्र का और मानसिक विकास अच्छा होता है। माँ को अपने खाने में काळा अंगूर की किशमिश का सेवन करना चाहिए इससे आपका दूध आयेगा। माँ को ड्राई फ्रूट्स और दूध लेना चहिय।। पानी भरपूर पीजिए । माँ के दूध में ज्यादा हिस्सा पानी का होता है इसलिए तरल पदार्थ जूस इत्यादि लेते रहिय। आप खाने में दाल चावल रोटी सब्जी हरी पत्तेदार सब्जियां दूध अंडा मछली प्रोटीन युक्त आहार ले सकती हैं आप सही मात्रा में कार्बोहाइड्रेट और वसा भी लीजिए। आप फल फलों के रस ज्यादा मात्रा में लीजिए और तरल मात्रा लेते रहिए इससे आपको हाइड्रेशन रहेगी। और दूध अच्छा आयेगा।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेबी 5 मंथ 10 डेज की है उसका वेट 4 के.जी. है वेट बेधने के लिये क्या करें
उत्तर: आपकी बच्चे 1 महीने की है अतः आप उसे प्रतिदिन दो तीन बार मालिश अवश्य करें इससे बच्चे के शरीर में ब्लड सरकुलेशन अच्छे से होगा और वह एक्टिव रहेगा और उसे भूल भी अच्छे से लगेगी और बच्चे को हर डेढ़ से 2 घंटे में अपना दूध अवश्य पिलाएं और शुरू के 6 महीने तक बच्चे को सिर्फ अपना दूध पिलाएं स्तनपान कराएं क्योंकि मां के दूध में सभी प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं जिससे बच्चे को विभिन्न प्रकार की बीमारियां नहीं होती है . माँ का दूध बच्चे की भूख मिटाता है, उसके शरीर की पानी की आवश्यकता को पूरी करता है, हर प्रकार के बीमारी से बचाता है, और वो सारे पोषक तत्त्व प्रदान करता है जो बच्चे को कुपोषण से बचाने के लिए और अच्छे शारारिक विकास के लिए जरुरी है। माँ का दूध बच्चे के मस्तिष्क के सही विकास के लिए भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। बच्चे की साफ सफाई पर भी विशेष ध्यान दें उसे बहुत देर तक दिलाना रहने दे तुरंत उसके कपड़े चेंज करें बच्चे के कपड़ों को डिटेल में दूल्हे और उसे तेज धूप में सुखाएं बच्चे को प्रतिदिन स्नान कराएं इन सब चीजों को यदि आप फॉलो करेंगे तो आपका बच्चा स्वस्थ रहेगा
»सभी उत्तरों को पढ़ें