4 साल का बच्चा

Question: मेरी बेटी को adenoids की प्रॉब्लम है कैसे ठीक होगा

1 Answers
सवाल
Answer: hello dear आपकी बेटी को अगर adenoids की प्रॉब्लम है तो इसे दूर करने के लिए आपने में घरेलू उपाय अपना सकती हैं आप अपने बेबी को लहसुन को पीस करके उसमें थोड़ा सा नींबू और शहद मिलाकर के दिन में दो से तीन बार खिलाएं इससे बेबी को adenoids की प्रॉब्लम में आराम मिलेगा। अगर आपका बेबी सलाद खाता है तो आप उसमें भी लेह्सुन मिला करके उसे खिला सकती हैं । आप अदरक के जूस में भी नींबू का जूस और हनी मिलाकर बेबी को खिला सकती है इससे भी बेबी को आराम मिलेगा। आप बेबी को दिन में दो से तीन बार भाप दीलाएं। इससे भी बेबी को आराम मिलेगा । अगर बेबी को ज्यादा प्रॉब्लम होती है तो आप अपने डॉक्टर से कंसल्ट किजिए और उनकी सलाह लीजिए ।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरी बेटी को कोल्ड हो रहा है कैसे ठीक होगा
उत्तर: हेलो डियर ,,,,,aapki baby 11th,month,ki hai..मौसम में परिवर्तन होने के कारण बेबी को बार-बार पर सर्दी ,खासी होना एक नार्मल सी बात है घरेलू उपाय kre... अजवाइन की पोटली बनाकर उसे बेबी के छाती ,पीट ,पैर और हाथ के तलवों को धीरे-धीरे मसाज कीजिए | अगर baby ka nose जाम है तोआप बेबी के नाक में नोजल ड्रॉप डाल सकते हैं नोजल ड्रॉपDr. द्वारा recommended Ho... लहसुन को गर्म सरसों तेल में डालकर गर्म कर ले ,इसी तेल से बेबी की हल्की हल्की मालिश कीजिए | अदरक का रस व तुलसी का रस मिलाकर बेबी को दें | तुलसी का पानी ,अदरक का पानी ,दिन में 2 बार 2 छोटी चम्मच बेबी को दे सकती हैं | मौसम के अनुसार बेबी को ढक कर या कपड़े पहना कर रखें सीधे पंखे के नीचे ना सुलाएं| सेंधा नमक को सरसों तेल में मिलाकर बेबी की मालिश कर सकते हैं | सरसों तेल या नारियल तेल में तुलसी की पत्तियों को पीसकर milyeऔर इस से बेबी की malis kre..| सोते समय बेबी का सर ऊंचा रखें इसे बेबी को सांस लेने में आसानी होगी | बेबी को भाप दिलाने के लिए कमरे या बाथरूम में गर्म पानी डालकर पूरे कमरे मे स्टीम भर ले और इसी कमरे में बेबी को 10 से 15 मिनट बैठाकर रखें बेबी के कफ एंड कोल्ड में राहत मिलेगी| बेबी को चिकन सूप या मिक्स वेजिटेबल सूप दें इसे बेबी की सर्दी में कमी होगी|
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेटी को ज़ुकाम हो गया है कैसे ठीक होगा कोई उपाय मेरी बेटी 1 महीने 7 दिन की है
उत्तर: Hello! आप कुछ घरेलू उपाय हैं जिन्हें अपना सकते हैं यह बहुत ही कारगर है और आपकी बच्ची को आराम मिल जाएगा। एक कप सरसो के तेल में अजवाइन और लहसुन की दस कलियां लेकर उसे पकाए, थोड़ा ठंडा होने पर उससे बच्चे की मालिश करे। सरसों के तेल, लहसुन और अजवाइन में कीटाणु-रोधक और विषाणु-रोधक गुण होते हैं। यह आपके बच्चे को काफी मात्रा में आराम प्रदान करने में सहायता करता है।  सहजन की कोमल हरी पत्तियों को तोड़ें। एक मोटी पेनी वाली कढ़ाई में १/२ कप नारियल तेल गर्म करें और उसमें मुट्ठीभर सहजन की पत्तियां डालें। पत्ते सूख जाने के बाद, आप कढ़ाई को आंच से हटा सकती हैं। सर्दी, खांसी और कफ जमा होने पर इस तेल को अपने बच्चे के बालों के तेल के रूप में प्रयोग करें।  बच्चे को मौसम के अनुसार कपड़े पहनाएं। उसे गर्म रखने के लिए एक के ऊपर एक कपड़े पहनाएं। बच्चों का शारीर बड़ों की तुलना में अपना तापमान नियंत्रित करने में सक्षम नहीं होता है। इसीलिए बच्चों को बड़ों की तुलना में एक लेयर एक्स्ट्रा कपडे पहनने की आवश्यकता होती है। 
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेटी की 27 दिन की है और मेरे कंधे में दर्द है कैसे ठीक होगा
उत्तर: हेलो बच्चे को लंबे समय तक गोदी लेने के कारण और दूध पिलाते समय गर्दन झुकाने के कारण कंधे में दर्द होने लगता है आप सरसों तेल से कंधे की मसाज करें और सोते समय कंफर्टेबल पोजीशन पर सोए सॉफ्ट तकिया लगाएं एक ही करवट ना सोए आप बेबी को थोड़े थोड़े देर अपने दोनों साइड सुनाएं इससे आप करवट बदल सकती हैं दूध पिलाते समय पीठ के पीछे तकिया लगा कर टीका कर बैठे .
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेटी को जुकाम हो गया है तीन दिन से जायदा हो गये कैसे ठीक होगा
उत्तर: २ से ३ लहसुन की काली को आधा चम्मच अजवाइन क साथ पीस कर उसकी पोटली बना दे. और उसको बच्चे के सोने की जगा के बाजु में रखे , ऐसे रखे की उसकी स्मेल उसे आये पर वो उसको डायरेक्ट टच न हो. आप उसके सोने की जगा क आजु बाजु २- ४ ड्रॉप्स नीलगिरि आयल बी लगा सकते हो. उसकी स्मेल से भी उसे रहत होगी. बच्चे को ज्यादा ब्रैस्ट फीडिंग करवाते रहे. एक बर्तन में 2 ग्लास जितना पानी ले| उसमें एक छोटा चम्मच अजवाइन थोड़ा हल्दी पाउडर एक छोटा टुकड़ा अदरक थोड़े तुलसी के पत्ते चुटकी भर मरी का पाउडर डालकर उसे अच्छी तरह से उबालें| उसे जान कर रख ले और दिन में दो से तीन बार एक छोटे चम्मच इतना बच्चे को दें| इससे बच्चे को सर्दी में काफी राहत मिलेगी|
»सभी उत्तरों को पढ़ें