2 महीने का बच्चा

Question: मेरी बेटी को ग्रीन और चिपचिपी पॉटी हो raहi ह .क्या टेंशन की बात h

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो ब्रेस्ट में जो दूध भरा होता है उसमें दो तरह के दूध होते हैं ऊपर का दूध जिसमें पानी की मात्रा ज्यादा होती है और जिसे बच्चे की प्यास बुझती है उसे फोरमिल्क कहते है इस फॉर मिल्क के खत्म होने के बाद अंदर का दूध जो गाढा होता है जिसमें प्रोटीन विटामिन मिनरल्स होते हैं जो बच्चे के लिए खाने या आहार की जगह लेता है। और जिसको पीने से बच्चे की पेट भरती है। इस दूध को हिंड मिल्क कहते हैं। जब भी ब्रेस्ट में दूध भर आता है और जब बच्चे को दूध पिलाने लगते हैं तो ऊपर का दूध फोर मिल्क बच्चा पहले पीता है। फीड कराते समय मां अक्सर बच्चे को दोनों ब्रेस्ट के ऊपर ऊपर का दूध पिला देती हैं ताकि ब्रेस्ट से दूध का रिसाव ना हो। और यह पतला दूध बच्चा डाइजेस्ट नहीं कर पाता और उसके उसके पेट मे गैस बनता है और पॉटी में प्रॉब्लम आती है। बच्चा बार-बार पोटी करता है ग्रीन पॉटी, छिछडा पॉटी ,झाग वाली पाॅटी ,और बार बार पॉटी और डार्क येलो पोटी करता है। इस लिये एक ब्रेस्ट के दूध को पहले पिलायें और जब एक ब्रेस्ट का दूध पूरा खत्म हो जाय तो दूसरे का दूध पिलाये ।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: Mere beti ko green potty ho rahi kya kru ? Aur plti poty ho rahi hai
उत्तर: 6 महीने से छोटे बच्चे में अगर हरी पोटी हो तो घबराने की कोई बात नहीं है , छोटे बच्चों में होने वाली हरी पॉटी का सिर्फ एक ही कारण है वह है मां के दूध का शुरुआती हिस्सा पीना . मां के दूध के शुरुआती हिस्से में पानी की मात्रा ज्यादा रहती है जिससे बच्चों की प्यास बुझती है, पर कभी-कभी बच्चे सिर्फ शुरूआती हिस्सा पी लेते हैं जिसकी वजह से उनको न्यूट्रिशन कम मिलता है और पोटी का कलर हरा हो जाता है ,इसलिए आप कोशिश कीजिए कि बच्चे को एक साइड से अच्छी तरह से दूध पिलाएं ,अगर आपका बच्चा जल्दी दूध पीकर छोड़ देता है तो आप अपने दूध का शुरुआती हिस्सा निकाल सकते हैं ताकि बच्चे को बीच का दूध मिले जो कि बच्चे के लिए बहुत ही अच्छा है जिससे बच्चे का वजन बढ़ेगा और और पोटी का कलर मस्टर्ड येलो कलर का होगा
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Meri beti 3 mahine ki hi Duniya se baat ho rahi hai aur Patla potty kar rahi hai suggest me Kya Karoon
उत्तर: दस्त होने से बच्चा सुस्त और कमजोर हो जाता है ज्यादा दिनों तक दस्त होने से शरीर में पानी की कमी हो जाती है। दस्त होने पर बच्चे को दूध देना बंद ना करके भोजन में बदलाव कर दे जैसे पतली खिचड़ी दही मिलाकर दे। केला मैश करके दे। जायफल के पाउडर को गुनगुने पानी के साथ दो तीन बार बच्चे को दे। दो या तीन ग्राम बेल के गूदे को दिन तीन बार बच्चे को दे। चावल को उबालकर उसका पानी पिलाएं । इतना करने कर बाद भी फ़र्क ना दिखे तो डॉक्टर को दिखाएं ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: meri beti ki potty tight ho rahi hai .. kya kru?
उत्तर: hy agar aapke bache ko potty tight ho rha h to aap use khub sara pani pilaye .uske khane me fiber add kre.use green vegitable mung dal palak khichdi ye sb khilaye.khajur khilaye .papaya puree de.din me thoda thoda khilaye bich me pani pilaye.milk sake dhi chaas ye sb uske khane me add kre
»सभी उत्तरों को पढ़ें