12 महीने का बच्चा

Question: मेरी बेटी एक साल की hone wali है par abhi bhi wo kuch nhi khati pura din bhukhi rehti h koshish to bhot krti hu khilane ki par ni khati wo kuch.. bhot preshan hu m kya kru

1 Answers
सवाल
Answer: hello dear बच्चे के हाथ में कुछ न कुछ खाने के लिए दें:- आपको उसके हाथ में कुछ न कुछ खाने के लिए देना चाहिए। जैसे किसी फ्रूट की स्लाइस, बिस्कुट, रोटी का टुकड़ा आदि। ऐसा करने से आपका बच्चा शुरू से ही खुद खाना सीखने लगता है। उसके बाद आप उसके थोड़ा बड़ा होने पर प्लेट में खाना खाना सीखाएं ऐसा करने से आपको शुरुआत से ही आसानी रहेगी। साथ ही ध्यान रखें की आप जो भी चीज बच्चे को खाने को दे जिसे बच्चा आसानी से खा लें, और यह भी ध्यान रखें की बच्चा धीरे धीरे खाये एक दम से सब कुछ मुँह में न लें। बच्चे के साथ बैठकर अपनी प्लेट में भी खाना लगाएं:- आप भी अपने बच्चे के साथ बैठकर खाना खाएं। और बच्चे को छोटी छोटी बाइट बनाकर दें और कहें की जैसे में खा रही हूँ वैसे खाओ। बच्चें देखकर बहुत जल्दी सीखते हैं। और देखिएगा ये ट्रिक आपके जरूर काम आएगी और धीरे धीरे आपके बच्चे खुद खाना खाने लग जाएंगे। ऐसा करने से आपको जरूर फायदा मिलेगा, और आपकी इस परेशानी का हल भी हो जाएगा। कार्टून वाले बर्तन लाएं:- आज कल मार्किट में बच्चों को खुश करने के लिए तरह तरह के खिलौनों के साथ तरह तरह के बर्तन भी आते हैं। जिन्हे देखकर बच्चे बहुत खुश होते है आप उनकी मदद से भी अपने बच्चों को खाना खाने की आदत सीखा सकती हैं। आप उन्ही में फ्रूट, खाना, पानी आदि दें फिर देखिये आपका बच्चा खुश भी हो जाएगा और खुद खाना खाना भी सीख जाएगा। दूसरे बच्चों के साथ खिलाएं:- यदि आपके घर में और बच्चे हैं तो आप सभी को इक्कठा बिठाकर खिलाएं। और सभी बच्चे अपने आप खाएंगे तो आपका बच्चा भी उन्हें देखकर खुद खाने की कोशिश करेगा। इससे आपके बच्चे को धीरे धीरे आदत हो जाएगी और वो खुद खाना शुरू कर देगा। साथ ही आप उन्हें अच्छे से खाना खाने का तरीके भी सीखाएं।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mam मेरी बेटी 16 mnth ki hai wo bathroom wali jgh pr kharish krti rehti hai kya kru
उत्तर: हेलो डियर अभी आपकी बेबी बहुत छोटी है इसलिए उसकी प्राइवेट पार्ट्स का ख्याल आपको ही रखना होगा आप बेबी कौ नहलाते समय नीम की पत्तियां पानी में अच्छी तरह उबाल लें और हल्का गुनगुना रहने पर रुई की सहायता से प्राइवेट पार्ट्स की अच्छी तरह सफाई करें ऐसा करने पर बेबी को इन्फेक्शन का खतरा कम रहता है छोटे बच्चे बार-बार सुसु करते हैं और उनकी सफाई बार-बार नहीं हो पाती है इसलिए अगर आपको लगे कि बेबी की पैंटी थोड़ी भी गीली है तो तुरंत चेंज कराएं और हो सके तो सूसू करने के बाद बेबी के प्राइवेट पार्ट्स को शुरू की सहायता से अच्छी तरह साफ करें और सूखा रखने की कोशिश करें ओके
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mera baby 12 mahine ka ab hone wala hai bt abi tak wo thik se diyt ni le rha ...mai bhot koshish krti hu ki wo kuch खायें . kya kru, pls dr .help me
उत्तर: हेलो बच्चे जब शुरुआत में दूध के बाद कुछ सॉलिड चीजें लेना शुरू करते हैं तो एकदम से उन्हें एक्सेप्ट नहीं कर पाते और खाना नहीं चाहते या तो उन्हें उनका स्वाद अच्छा नहीं लगता या उनकी थिकनेस के कारण वह नहीं खाना चाहते क्योंकि उन्हें खाना गटकने की आदत नहीं होती और बच्चे उसे ठीक से पचा नहीँ पाते। और उन्हें दस्त की प्रॉब्लम होती है इसलिए बच्चों को लिक्विड के बाद डायरेक्ट सॉलि़ड ना देकर सेमी सॉलि़ड फूड देना चाहिए। सेमी सॉलि़ड फूड में सेरेलक दाल और चावल की मिक्स पतली खिचड़ी दलिया की खिचड़ी या दलिया का खीर चावल का खीर फलों की स्मूदीज या फ्रूट शेक देना शुरू करें बच्चा जब यह सब चीजें खाने लगे तो एक या दो माह बाद उसे यही सब चीजें थोड़ा गाढ़ा करके दे। और साथ में दाल चावल मसलकर और दूध रोटी मसल का या दाल रोटी मसलकर खिलाएं और जब बच्चा ऐसे भी खाने लगे तो उसके 2 महीने बाद फिर नॉर्मल खाना बच्चे को खिलाना शुरू करें स्टेप बाई स्टेप बच्चों के आहार को गाढ़ा करने से बच्चे आसानी से डाइजेस्ट कर लेते हैं और खाना भी सीख जाते हैं। इससे बेबी का वजन जरूर बढेगा।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेटी एक साल ki he wo mitti bhot khati he me kya kro
उत्तर: हेलों आपकी बच्ची एक साल की है मिट्टी खाती है आप के बेबी को आयरन कैल्सीअम मल्टीविटामिन की कमी हो सकती है .उसे पेट में कीड़े हो सकते है सबसे पहले आप किसी डॉक्टर से सलाह ले कर बच्चे को पेट में कीड़े मारने वाली दवा ले सकती है बच्चे की पूरी जांच कराएं. हो सकता है कि बच्चे में कुछ पोषक तत्वों की कमी हो. कई बार पोषक तत्वों की कमी के चलते भी बच्चे मिट्टी खाने लगते हैं. बच्चे को संपूर्ण आहार दें ताकि उसके शरीर में किसी तत्व की कमी न होने पाए .बच्चे को हर रोज एक केला शहद के साथ मिलाकर खाने के लिए दें. कुछ दिनों में ही बच्चे में फर्क नजर आने लगेगा. रोज रात गुनगुने पानी के साथ बच्चे को एक चम्मच अजवायन का चूर्ण दें. इससे बच्चें की मिट्टी खाने की आदत छूट जाएगी.
»सभी उत्तरों को पढ़ें