Planning for pregnancy

Question: मेरी prioed दिसम्बर में 26 ko aaya tha और पूरे जनवरी नही आया और february me को आया मरे साथ ये पहले भी हुआ है और mene ट्रिटमेंट भी कारवाई थी तब तो ठीक हो गया था और फिर से ऐसा हुआ

1 Answers
सवाल
Answer: हैलो डियर- अगर आपका पीरियड रेगुलर नहीं आ रहा है और आप इस वजह से गर्भधारण नहीं कर पा रही है तो आप परेशान न हो डॉक्टर से अपने टेस्ट करायें , टेस्ट से आपको पता लग जाएगा की आपको पिरियड रेग्युलर और ठिक से क्यू नही हो रहा है , डॉक्टर आपके पिरियड रेग्युलर करने के लिय आपका इलाज करेंगी , . आजकल ये बहुत कॉमन हो गया है , पिरियड टाइम मे ना आना और उसकी वजह से कन्सिव करने मे प्रॉब्लम आना , पर ये कोई ऐसी बिमारी नही है जो ठीक ना हो पाये आप बस अपनी लाइफ स्टाइल बदले , रोज सुबह शाम वॉक और थोडा़ एक्सरसाइज करे , वज़न जयाद है तो कम करे. आप कन्सिव कर लेंगी .आप स्ट्रेस न लें।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मुजे जून मे महीना नही आया और मैंने प्रेगनेन्सी टेस्ट भी किया पर रिजल्ट नेगेटिव था फिर ये क्यों हुआ
उत्तर: महिलाओं में माहवारी रुकने या पीरियड से जुडी कठिनाइयाँ एक आम समस्या है | अधिकतर मामलो में माहवारी नहीं आने या माहवारी रुकने के कई कारण होते हैं, लेकिन महिलाओं को इस बात का डर बैठ जाता है कि कहीं फिर से गर्भावस्था तो नहीं हो गयी है | यह डर महिलाओं में तनाव को बढ़ाता है | इस प्रक्रिया में अच्छा व बुरा संकेत होना भी प्राकृतिक प्रक्रिया है | अचानक माहवारी रुकने होने पर महिलाओं को घबराने की जरूरत नहीं है. यह कई अन्य कारणों से भी हो सकता है तथा आप इसे अपने भोजन में मामूली बदलाव करके तथा कुछ घरेलू नुस्खो की सहायता से आसानी से पीरियड नियमित कर सकती है | **माहवारी रुकने के कारण** माहवारी रुकने का एक प्रमुख कारण शरीर में खून की कमी होती है। इसके अलावा शारीरिक श्रम कम करने, ज्यादा मानसिक तनाव, क्रोध-भावुकता से भी माहवारी रुक सकती है। ज्यादा ठंडी चीजें खाने और भोजन में अनियमितता से भी यह परेशानी आती है। माहवारी के समय अधिक ठंडी चीजे खाना, सर्दी लगना, ऋतु के समय खाने पीने में असावधानियाँ करना आदि कारणों से माहवारी रुक जाती है। या देर से आती है। इस दौरान आपका वजन तेजी से बढ़ा या घटा हो | मलेरिया, टाइफाईड , पीलिया हुआ हों, ऐसी बिमारियों की वजह से भी पीरियड्स बंद हो सकते हैं या देरी से हो सकते हैं | थाइराइड की समस्या बढ़ जाये या मोटापे जैसी समस्या होने पर भी महिलाओं में माहवारी रुकने की कठिनाई हो सकतीहै | गर्भ निरोधक गोलियों के लगातार सेवन से या एक साल से ज्यादा तक ये गोलियां लेने से दो तीन महीने तक पीरियड्स बंद या माहवारी रुकने की समस्या हो सकती हैं |
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मुझे आखरी पिरियड 24august को हुआ था तो अब कितना और mene 3october को टेस्ट किया तो ये कैसे pta चलेगा कि बेबी कितने दिन पहले आया
उत्तर: हेलो आपका लास्ट पिरियड डेट 24 august था और आमतौर पर हर लेडीज का पिरियड साइकल 28 डेज का होता है प्रेग्नेसी 9 मंथ 7डेज की होती है और एक मंथ में 4 वीक्स होते है .एक हेल्थी प्रेग्नेसी 40 वीक्स तक जा सकती है आपके लास्ट पिरियड के हिसाब से आप 11 वीक्स प्रेग्नेन्ट है और आपकी ड्यू डेट 31 may 2019 है l ये एक संभावित डिलिवरी डेट है डिलिवरी ड्यू डेट के 7 दिन पहले या 7 दिन बाद हो सकती है . आप अल्ट्रासाउन्ड करवा कर बेबी की ग्रोथ जान कर क्लियर कर सकती है कि बेबी कब आया है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेटा 3 साल का है ऑर ऊसे खसरा हुआ था बुखार भी आयें अब ठीक है पर चिड़चिड़ा हो गया है बोहोत ज़्यादा पहले ऐसा बिल्कुल भी नही था समझ नही आ रहा क्या करु
उत्तर: वीकनेस की वजह से बच्चे चिड़चिड़े हो जाते हैं अतः आप उसे पौष्टिक आहार दीजिए । ताजे फलों और सब्जियों का सेवन कराइए आप हरी पत्तेदार सब्जियों के सूप बनाकर भी बच्चे को दे सकती हैं। जैसे-जैसे बच्चे की कमजोरी खत्म होगी उसका चिड़चिड़ापन भी कम होगा आप बच्चे की पसंद का कुछ खाना बनाकर उसे दीजिए कुछ दिन उसकी विशेष केयर की आवश्यकता है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें