25 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: मेरी डॉक्टर ने 5 मंथ मे लेवल 2 स्कैन नही बोला करने को तो आज मै दुसरे डॉक्टर के पास जाके आई थी तो उन्होने लिखा है ये टेस्ट तो अब हो सकता है क्या क्यूकि मेरा 24 वीक पुरा हो गया hai

0 Answers
सवाल
अभी तक इस सवाल का कोई जवाब नहीं है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: माम में आज डॉक्टर के पास गयी थी चेक अप के लिये डॉक्टर ने बोला है यूरिन में इन्फेक्शन है अब में किया करु
उत्तर: helllo शरीर में पानी की कमी होने से और पेशाब आने पर उसे रोकने से यूरिन इंफेक्शन होता है यूरिन इंफेक्शन होने से बचने के लिए सबसे पहला अच्छा इलाज ज्यादा से ज्यादा मात्रा में पानी पीना है आप यह सब भी कर सकती हैं एप्पल साइडर विनेगर को दो चम्मच एक गिलास पानी में डालें और एक चम्मच शहद डालकर घोल कर 2 बार दिन में पीये। खट्टे फल या साइट्रस फल जैसे आंवला नीबू संतरा और मौसमी खाएं या उनका रस पीये लस्सी और छाछ पीने से भी आराम मिलता है पाइनएप्पल का रस पीने से भी यूरिन इन्फेक्शन में फायदा होता है दो चम्मच बेकिंग सोडा एक ग्लास पानी में डालकर पिए इसे यूरिन इंफेक्शन से राहत मिलती है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मुझे डॉक्टर ने NT स्कैन करने को कहा है तो ये सोनोग्राफी ज़रूरी हे ???
उत्तर: पहला सोनोग्राफी बच्चे की हार्ट बीट और बच्चे की संख्या जानने के लिए 8 से 9 वीक में किया जता है ..फ़िर दूसरा स्कैन NT स्कैन होता है जो 11 से 14 वीक के andar किया जता है . जिसमें बच्चे के गर्दन के पीछे की स्किन के नीचे तरल की मात्रा नाक की हड्डी की मोटाई बच्चे की ग्रोथ . गर्भाशय ये सब चेक करने के लिए किया जाता है... फिर tesara स्कैन 18 से 21week में बच्चे के शारीरिक विकृति या anamoly स्कैन बच्चे के बॉडी पार्ट्स के विकास और विक्रिति और गर्भाशय मे कितना पानी है बच्चे का ग्रोथ यह सब चेक किया जाता है .. फ़िर chwtha स्कैन ग्रोथ स्कैन 28 से 32 वीक के बीच किया जाता है..यह स्कैन बच्चे का ग्रोथ जानने के लिए गर्भाशय का पानी ये सब चेक करने के लिए किया जाता है ..अगर जरुरत पड़ी तो अखिर में एक और स्कैन किया जा सकता है ... आप डॉक्टर से मिल लीजिए इससे वो आपको स्कैन लिखकर दे देंगे जो आपके वीक के हिसाब से ज़रूरी होगा ...आप परेशान ना हों ..और अपना ध्यान रखे..
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा एच.सी.जी. लेवल बहुत काम है डॉक्टर ने बोला है मिस्कारिय्ज हो सकता है लाइट ब्लीडिंग भि है
उत्तर: हेलो डियर प्रेगनेंसी के दौरान अगर आपकी बॉडी में hcg हारमोंस कम होते हैं तो उस समय मिसकैरेज होने का खतरा बढ़ जाता है ।अपकी प्रेग्नंसी के लिए अपकी बॉडी मे hcg हर्मोंंन का सही लैवल पर होना होना बहुत जरुरी है।इसीलिए pregnansi में आपको आपनी केयर सही रूप करनी चहिये।अगर प्रेग्नंसी के दौरान आपके hcg हारमोन कम होते है तो उस समय आपको शुरु के तीन महीनों में एचसीजी का इंजेक्शन लगातार दिया जाता है जिससे हार्मोंस का सही संतुलन बना रहें। प्रेग्नंसी मे ब्लूड टेस्ट से एचसीजी की मात्रा का पता लगाया जा सकता है। शुरु में इसकी संख्या 500 यूनिट तक होती है लेकिन बाद में 10 हजार और उससे भी ज्यादा तक हो जाती है। hcg का लैवल आपके इम्यून सिस्टम और आपके रहन-सहन पर भी डेपण्द करता है।एचसीजी के लैवल की जांच के लिए आप अपने डॉक्टर से consult करे और उनकी सलाह लीजिए । इस दौरान आप संतुलित और पौष्टिक भोजन किजिए। ज्यादा से ज्यादा मात्रा में पानी पीजिए और तरल पदार्थों का सेवन कीजिए और तनाव मुक्त रहिए ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें